सावधान रहें! WhatsApp के जरिए भी हो रहा है फ्रॉड, जानिए कैसे

Scam on WhatsApp : व्हाट्सएप के जरिए भी फ्रॉड हो रहा है। यूजर्स से छह अंकों के वेरिफिकेशन कोड मांग कर उसके साथ धोखा किया जा रहा है।

Be careful! Fraud is also being done through WhatsApp, sought verification code
WhatsApp के जरिए भी हो रहा है फ्रॉड 

मुख्य बातें

  • सोशल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप के जरिए नया स्कैम सामने आया है
  • मैसेज के जरिये यूजर्स को अपना वेरिफिकेशन कोड शेयर करने के लिए कहता है
  • अकाउंट अपनी डिसप्ले तस्वीर के रूप में व्हाट्सएप लोगो का उपयोग करता 

एक नया स्कैम जो लोकप्रिय सोशल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप से सामने आया है। यूजर्स को छह अंकों के वेरिफिकेशन कोड मांग कर धोखा दिया जा सकता है। घोटाला एक ऐसा खाता है जो ऑफिशियल कम्युनिकेशन सोर्स के रूप में दिखावा करता है जो यूजर्स को अपना वेरिफिकेशन कोड शेयर करने के लिए कहता है। स्कैमर अकाउंट पर अपनी डिसप्ले तस्वीर के रूप में व्हाट्सएप लोगो का उपयोग करता है जो यूजर्स को कंविंस करने के लिए है। हालांकि, व्हाट्सएप बहुत ही कम या कभी भी आप से कम्युनिकेट करने के लिए मैसेज नहीं भेजता है। इसके बदले वह सोशल मीडिया चैनलों पर अपडेट करता है जिसमें ट्विटर या व्हाट्सएप का आधिकारिक ब्लॉग शामिल है जिसका उपयोग सार्वजनिक घोषणाओं को लोगों तक पहुंचाने के लिए किया जाता है।

यह पहली बार WABetaInfo द्वारा पाया गया था और उन्होंने एक ट्वीट पोस्ट किया था जिसमें हाल ही में हुए स्कैम को दिखाया गया है जिसमें डारियो नवारो नाम के एक ट्विटर यूजर ने एक फिशी मैसेज के बारे में बात की थी जो यूजर्स को मिला है। नवारो द्वारा शेयर किए गए स्क्रीनशॉट के अनुसार, स्कैमर स्पैनिश में एक मैसेज भेजता है जो बदले में यूजर्स को एक छह-अंकों का वेरिफिकेशन कोड देकर अपनी पहचान सत्यापित करने के लिए कहता है जो एक एसएमएस मैसेज के माध्यम से आता है।

व्हाट्सएप चैट के जरिए कभी भी कोई जानकारी नहीं मांगता

चूंकि स्कैमर व्हाट्सएप लोगो का उपयोग कर रहा है, इसलिए यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि सोशल मैसेजिंग प्लेटफॉर्म कभी भी मैसेज नहीं भेजता है। यदि वे कभी करते हैं, तो आपको एक हरे रंग का वेरिफाइड इंडिकेटर दिखाई देगा जो लोगो के साथ-साथ अकाउंट के नाम के साथ भी दिखाई देगा। फेसबुक के स्वामित्व वाली यह कंपनी डेटा के लिए नहीं पूछती है, छह अंकों के वेरिफकेशन कोड के लिए तो ना के बराबर।

व्हाट्सएप ने स्पष्ट समझाया क्या करें, क्या ना करें

कंपनी ने अपने FAQs सेक्शन में कहा कि व्हाट्सएप ने स्पष्ट रूप से समझाया है कि यूजर्स को अपनी वेबसाइट पर दूसरों के साथ एसएमएस वेरफिकेशन कोड शेयर नहीं करना चाहिए। यदि कोई आपके अकाउंट को अपने कब्जे में लेने की कोशिश कर रहा है, तो उन्हें ऐसा करने के लिए आपके फोन नंबर पर भेजे गए एसएमएस वेरिफिकेशन कोड की आवश्यकता होगी। इस कोड के बिना, कोई भी यूजर्स जो आपके नंबर को वेरिफाइड करने का प्रयास कर रहा है, वह वेरिफिकेशन प्रक्रिया को पूरा नहीं कर सकता है और ना ही व्हाट्सएप पर आपके फोन नंबर का उपयोग कर सकता है।

अगली खबर