क्या अगले साल भी नहीं हो पाएगा टोक्यो ओलंपिक? जानिए क्या है आयोजकों का कहना

Tokyo Olympics 2020: जापान न्यूज नेटवर्क के एक ताजा सर्वे में कुछ चौंकाने वाले नतीजे व लोगों के विचार सामने आए। इसको देखते हुए अब ओलंपिक खेलों के आयोजकों को सामने आकर अपना बयान देना पड़ा है।

Japanese people on Tokyo Olympics 2020
सर्वे में टोक्यो ओलंपिक 2020 को लेकर जापानी लोगों के विचार सामने आए  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • क्या अगले साल हो पाएंगे टोक्यो ओलंपिक खेल?
  • कोरोना महामारी के चलते एक साल के लिए स्थगित किया गया है टोक्यो ओलंपिक
  • एक सर्वे में हुए चौंकाने वाले खुलासे, अब आयोजकों ने जताई आयोजन की उम्मीद

कोरोना महामारी की वजह से तकरीबन चार महीनों तक खेल गतिविधियां ठप्प रहीं। इस दौरान कई खेलों के महत्वपूर्ण टूर्नामेंट रद्द व स्थगित किए। जिस एक आयोजन को लेकर सबसे बड़ी खबर आई, वो हैं ओलंपिक। खेल जगत के इस सबसे बड़े आयोजन को तमाम कयासों व चर्चाओं  के बाद एक साल के लिए स्थगित करने का फैसला किया गया। हालांकि इसके बाद अगले साल भी ओलंपिक के ना होने को लेकर आशंकाएं जताई जाने लगीं। अब टोक्यो ओलंपिक के आयोजकों ने खुद आगे आकर उम्मीद जताई है कि अगले साल इस महाआयोजन को अंजाम जरूर दिया जाएगा।

टोक्यो ओलंपिक के आयोजकों को पूरी उम्मीद है कि स्थगित किये गये ओलंपिक खेल 2020 का अगले साल आयोजन होगा। आयोजकों की तरफ से यह बयान इसलिए आया है क्योंकि हाल में जापान में कराये गये एक सर्वे के अनुसार 77 प्रतिशत लोगों का मानना है कि उन्हें नहीं लगता कि अगले साल इन खेलों का आयोजन हो पाएगा।

सर्वे के चौंकाने वाले नतीजे

जापान न्यूज नेटवर्क द्वारा करवाये गये इस सर्वे में चौंकाने वाले खुलासे हुए। इसके अनुसार केवल 17 प्रतिशत प्रतिभागियों को लगता है कि कोरोना वायरस महामारी के बावजूद अगले साल तोक्यो ओलंपिक खेलों को कराया जा सकता है। टेक्यो ओलंपिक के प्रवक्ता मासा ताकाया ने गुरूवार को तोक्यो ओलंपिक के बारे में यह बात कही।
तोक्यो शहर की सरकार ने गुरूवार को कोरोना वायरस के एक दिन में रिकार्ड 224 संक्रमित मामले दर्ज किये जिससे अप्रैल में 204 मामलों का रिकार्ड टूट गया। हालांकि यह कई मानकों के हिसाब से काफी कम हैं लेकिन जापान की राजधानी में पिछले हफ्ते से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ रही है।

जापान में कोविड-19 से अब तक 1000 लोगों की जान जा चुकी है। ताकाया ने कहा कि जिस तरह से सर्वे कराये जाते हैं, उससे बहुत अलग तरह के संदेश मिल सकते हैं। उन्होंने कहा कि तोक्यो की एकमात्र योजना खेलों को 23 जुलाई 2021 में शुरू करने की है।

पिछले महीने भी हुआ था सर्वे

पिछले महीने जापानी न्यूज एजेंसी क्योदो और एक टीवी चैनल के सर्वे में पाया गया कि 51.7 प्रतिशत प्रतिभागियों को नहीं लगता कि अगले साल खेलों का आयोजन होना चाहिए। लेकिन 46 प्रतिशत ओलंपिक को समयानुसार होते हुए देखना चाहते हैं। अब जब जापान न्यूज नेटवर्क के सर्वे में आयोजन के नकारात्मक पक्षों को सामने रखने वाले विचारों का खुलासा हुआ है तो अब आयोजकों को हर हाल में सुनिश्चित करना होगा और माहौल बनाना होगा ताकि स्थानीय लोगों के विचार बदल सकें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर