टोक्यो ओलंपिक: आयोजन समिति के मुखिया ने खारिज किया खर्च बढ़ने का दावा

टोक्यो ओलंपिक की आयोजन समिति ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की उस रिपोर्ट को सिरे से खारिज कर दिया है जिसमें टोक्यो ओलंपिक को इतिहास का सबसे महंगा खेल आयोजन बताया गया है।

Tokyo
टोक्यो ओलंपिक 

टोक्यो: तोक्यो ओलंपिक के सीईओ तोशिरो मुतो और जापान खेलों के अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति (आईओसी) के सदस्य प्रभारी जॉन कोएट्स ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के उस नए अध्ययन को खारिज कर दिया है जिसमें यह कहा गया कि टोक्यो ओलंपिक 1960 के बाद सबसे अधिक खर्चीले ग्रीष्मकालीन खेल होंगे।

कोरोना वायरस महामारी के कारण तोक्यो ओलंपिक को 2021 तक स्थगित किया गया है। इसका आयोजन अगस्त सितंबर 2020 में होना था लेकिन कोरोना वायरस के दुनियाभर में प्रकोप को देखते हुए इसे एक साल के लिए टालकर 2021 में आयोजन सुनिश्चित हुआ। 

टोक्यो ओलंपिक के आयोजन की लागत के बारे में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्री बेंट फ्लिवबर्ग के अध्ययन का एक छोटा हिस्सा मंगलवार को ‘रिग्रेशन टू द टेल: वाय द ओलंपिक्स ब्लो अप’ शीर्षक के साथ प्रकाशित हुआ था। फ्लिवबर्ग ने कहा है कि ओलंपिक का खर्चा बजट से औसतन 170 प्रतिशत अधिक जाता है लेकिन तोक्यो के मामले में यह आंकड़ा 200 प्रतिशत है।
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर