रवि दहिया के लिए इनाम का ऐलान, हरियाणा सरकार देगी सरकारी नौकरी और 4 करोड़ रुपए, पीएम ने दी बधाई

टोक्यो ओलंपिक भारतीय पहलवान रवि कुमार दहिया ने सिल्वर पदक जीता। कुश्ती में पुरुषों के 57 किग्रा भार वर्ग के फाइनल में रूसी जावुर युवुगेव से हारे गए।

Reward for Ravi Dahiya, Haryana govt will give government job and Rs 4 crore
रवि दहिया को इनाम 

मुख्य बातें

  • रवि दहिया गोल्ड मेडल से चूक गए।
  • फाइनल में रूस के पहलवान से हार का सामना करना पड़ा।
  • टोक्यो ओलंपिक में भारत ने अपना दूसरा सिल्वर मेडल जीता।

टोक्यो ओलंपिक में रवि दहिया ने सिल्वर मेडल जीता। उसके बाद उनके गृह प्रदेश हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बधाई दी और सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया। साथ में इनाम के तौर पर 4 करोड़ रुपए देने की भी घोषणा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रजत पदक जीतने के लिए रवि कुमार दहिया को बधाई। भारत को उनकी उपलब्धियों पर बहुत गर्व है।

भारतीय पहलवान रवि दहिया गुरुवार को यहां ऐतिहासिक गोल्ड मेडल से चूक गए और उन्हें टोक्यो ओलंपिक की कुश्ती प्रतियोगिता के पुरुषों के 57 किग्रा भार वर्ग में रूसी ओलंपिक समिति के जावुर युवुगेव से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा। युवुगेव ने अपने बेहतरीन रक्षण का नजारा पेश किया और अंकों के आधार पर यह मुकाबला 7-4 से जीता। युवुगेव ने शुरुआती अंक बनाया लेकिन रवि ने जल्द ही स्कोर 2-2 कर दिया। रूसी खिलाड़ी ने फिर से बढ़त हासिल कर दी। रवि पहले राउंड के बाद 2-4 से पीछे थे। दूसरे राउंड में भी युवुगेव ने एक अंक बनाकर अपनी बढ़त मजबूत की। रवि दूसरे राउंड में भी दो अंक ही जुटा सके।

रवि दहिया की जीत पर उनके पिता ने क्या कहा...नीचे देखें वीडियो.. 

रवि दहिया की जीत पर उनकी मां ने क्या कहा...नीचे देखें वीडियो.. 

निशानेबाज अभिनव बिंद्रा भारत की तरफ से ओलंपिक में व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी थी। उन्होंने बीजिंग ओलंपिक 2008 में पुरुषों की 10 मीटर एयर राइफल में सोने का तमगा हासिल किया था। कुश्ती में भारत का यह दूसरा रजत पदक है। इससे पहले सुशील कुमार लंदन ओलंपिक 2012 के फाइनल में पहुंचे थे लेकिन उन्हें रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा था।

टोक्यो खेलों में भारत ने अपना दूसरा रजत पदक हासिल किया। इससे पहले भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने महिलाओं के 49 किग्रा भार वर्ग में दूसरा स्थान हासिल किया था। भारत को कुश्ती में पदक दिलाने वाले पहले पहलवान खशाबा जाधव थे। उन्होंने हेलसिंकी ओलंपिक 1952 में कांस्य पदक जीता था। उसके बाद सुशील ने बीजिंग में कांस्य और लंदन में रजत पदक हासिल किया।

सुशील ओलंपिक में दो व्यक्तिगत स्पर्धा के पदक जीतने वाले अकेले भारतीय थे और अब बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधू ने यहां कांस्य जीतकर इसकी बराबरी की। लंदन ओलंपिक में योगेश्वर दत्त ने भी कांस्य पदक जीता था। वहीं साक्षी मलिक ने रियो ओलंपिक 2016 में कांसे का तमगा हासिल किया था।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर