ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच से पहले कप्तान रानी ने भारतीय हॉकी टीम से बस इतना कहा था..

स्पोर्ट्स
भाषा
Updated Aug 02, 2021 | 18:22 IST

Rani Rampal on India vs Australia Women's Hockey QF victory in Tokyo Olympics: भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल ने टीम से भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच से पहले क्या कहा था।

Indian women hockey team celebrating win against Australia
जश्न में भावुक हुई भारतीय महिला हॉकी टीम  |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, महिला हॉकी क्वार्टर फाइनल, टोक्यो ओलंपिक
  • भारतीय महिला हॉकी टीम की कप्तान ने मैच से पहले टीम को कहे थे मनोबल बढ़ाने वाले कुछ शब्द
  • भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर पहली बार ओलंपिक महिला हॉकी सेमीफाइनल में जगह बनाई

भारतीय महिला हॉकी टीम ने आत्मविश्वास के दम पर तोक्यो ओलंपिक के क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया की मजबूत टीम को हराकर पहली बार इन खेलों के सेमीफाइनल में जगह पक्की की। भारतीय पुरुष टीम के ओलंपिक सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद सोमवार को महिला टीम ने ऑस्ट्रेलिया की विश्व में नंबर दो टीम को 1-0 से हराकर अंतिम चार में जगह बनायी।

भारतीय महिला टीम की कप्तान रानी रामपाल ने इस शानदार जीत के बाद कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि क्या कहूं, क्योंकि इस समय जज्बात पर काबू रखना मुश्किल हैं।  हम सभी बहुत खुश हैं क्योंकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जीतना आसान नहीं था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे हालांकि अपनी टीम पर बहुत गर्व है। हर खिलाड़ी ने वास्तव में पूरे मैच में काफी मेहनत की है।  हमने एक-दूसरे से बस एक ही बात कही थी, ‘बस खुद पर विश्वास करो, हम इसे (ऑस्ट्रेलिया पर जीत दर्ज) यह कर सकते हैं।’’

भारत बुधवार को अपने पहले ओलंपिक सेमीफाइनल में अर्जेंटीना के खिलाफ खेलेगा। कप्तान ने कहा कि आत्मविश्वास और सफलता के प्रति दृढ़ संकल्प ने उन्हें ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल करने में मदद की। रानी ने कहा, ‘‘मुझे विश्वास था कि हम पूरे मैच के दौरान वास्तव में कड़ी मेहनत कर सकते हैं। यह सिर्फ 60 मिनट तक पूरी एकाग्रता के साथ खेलने के बारे में था। हम आगे क्या होगा इसके बारे सोचने की जगह मैच के 60 मिनट पर ध्यान देने के साथ अपना सब कुछ झोकने को तैयार थे।  मुझे लगता है कि सभी ने ऐसा ही किया, हाँ, मुझे बहुत गर्व है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह भारत में बहुत बड़ी बात होगी। आप जानते हैं, हमारी टीम का एक आदर्श वाक्य है जिसका अर्थ है कि हम भारत में लड़कियों को प्रेरित करना चाहते हैं।’’ भारतीय कप्तान ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया पर जीत अब अतीत की बात है और उनका ध्यान प्रतियोगिता में बचे हुए दो मैचों पर है।

रानी ने कहा, ‘‘हमने सेमीफाइनल में पहुंचकर इतिहास रच दिया था और अब हम सेमीफाइनल खेलने का इंतजार कर रहे है, क्योंकि हम अपने अभियान को हम यहीं खत्म नहीं करना चाहते हैं। इस टूर्नामेंट में हमें पदक जीतने के लिए दो और मैच खेलना बाकी हैं।’’

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर