भारतीय मूल के समीर बनर्जी ने जीता विंबलडन में लड़कों का सिंगल्‍स खिताब

स्पोर्ट्स
भाषा
Updated Jul 11, 2021 | 20:45 IST

Samir Banerjee: अपना दूसरा जूनियर ग्रैंड स्लैम खेल रहे 17 साल के इस खिलाड़ी ने एक घंटे 22 मिनट तक चले फाइनल में 7-5, 6-3 से जीत हासिल की। बनर्जी के माता-पिता 1980 के दशक में अमेरिका में बस गये थे।

samir banerjee
समीर बनर्जी 
मुख्य बातें
  • समीर बनर्जी ने जीता विंबलडन में लड़कों का सिंगल्‍स खिताब
  • समीर बनर्जी ने फाइनल में विक्‍टर लिलोव को सीधे सेटों में मात दी
  • समीर बनर्जी जूनियर फ्रेंच ओपन में पहले ही दौर में बाहर हो गए थे

लंदन: भारतीय मूल के अमेरिकी टेनिस खिलाड़ी समीर बनर्जी ने रविवार को यहां हमवतन विक्टर लिलोव को सीधे सेटों में हराकर विंबलडन में लड़कों का सिंगल्‍स खिताब अपने नाम किया। अपना दूसरा जूनियर ग्रैंड स्लैम खेल रहे 17 साल के इस खिलाड़ी ने एक घंटे 22 मिनट तक चले फाइनल में 7-5, 6-3 से जीत हासिल की। बनर्जी के माता-पिता 1980 के दशक में अमेरिका में बस गये थे।

जूनियर फ्रेंच ओपन में बनर्जी पहले दौर में ही बाहर हो गये थे। युकी भांबरी जूनियर एकल खिताब जीतने वाले आखिरी भारतीय थे। उन्होंने 2009 में ऑस्ट्रेलियन ओपन में जीत हासिल की थी। सुमित नागल ने 2015 में वियतनाम के ली होआंग के साथ विंबलडन लड़कों का युगल खिताब जीता था।

रामनाथन कृष्णन 1954 जूनियर विंबलडन चैंपियनशिप जीत का जूनियर ग्रैंड स्लैम जीतने वाले पहले भारतीय थे। उनके बेटे रमेश कृष्णन ने 1970 जूनियर विंबलडन और जूनियर फ्रेंच ओपन खिताब जीता था।  लिएंडर पेस ने 1990 जूनियर विंबलडन और जूनियर यूएस ओपन जीता था। पेस जूनियर ऑस्ट्रेलियाई ओपन में भी उपविजेता रहे थे।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर