India vs Belgium: भारतीय हॉकी टीम ने कायम रखा 100 प्रतिशत जीत का रिकॉर्ड, विश्व चैंपियन बेल्जियम को रौंदा

स्पोर्ट्स
Updated Oct 03, 2019 | 20:13 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

IND vs BEL: भारत और बेल्जियम के बीच खेले गए पांचवें व अंतिम मैच में भी भारतीय हॉकी टीम ने बड़ी जीत दर्ज की और इसके साथ ही बेल्जियम दौरे पर अपना 100 प्रतिशत जीत का रिकॉर्ड कायम रखा।

India vs Belgium
India vs Belgium Hockey  |  तस्वीर साभार: IANS

मुख्य बातें

  • भारतीय हॉकी टीम ने बेल्जियम को अंतिम मैच में भी हराया
  • भारतीय हॉकी टीम ने बेल्जियम दौरे पर जारी रखा 100 प्रतिशत जीत का रिकॉर्ड
  • पांचवें व अंतिम मैच में भारत ने 5-1 से हासिल की जीत

India vs Belgium: एंटवर्प में भारतीय हॉकी टीम ने फिर कमाल का प्रदर्शन किया और बेल्जियम दौरे पर अपनी जीत का 100 प्रतिशत रिकॉर्ड कामय रखने में सफलता हासिल की। गुरुवार को दोनों देशों के बीच खेले पांचवें व अंतिम मुकाबले में भी भारतीय हॉकी टीम को ही जीत नसीब हुई। इस बार जीत एक बार फिर शानदार रही। भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने विश्व चैंपियन व दुनिया की नंबर.2 टीम बेल्जियम को इस अंतिम मुकाबले में 5-1 से करारी शिकस्त दी।

इस अंतिम मुकाबले में भारतीय पुरुष हॉकी टीम की तरफ से सिमरनजीत सिंह ने 7वें मिनट में, ललित कुमार उपाध्याय ने 35वें मिनट, विवेक सागर प्रसाद ने 36वें मिनट में, हरमनप्रीत सिंह ने 42वें मिनट में और रमनदीप सिंह ने 43वें मिनट में गोल किए। इस मैच से पहले भारतीय टीम मेजबान बेल्जियम को उसी के घर में चार मुकाबलों में पस्त कर चुकी थी और वो इसी बढ़े हुए मनोबल के साथ मैदान पर उतरी थी।

भारत की तरफ से पहला गोल सिमरनजीत सिंह ने सातवें मिनट में किया, कुछ ही मिनटों के बाद बेल्जियम ने पेनल्टी कॉर्नर पर वापसी की कोशिश जरूर की लेकिन वे इसमें सफल नहीं हो सके। यही नहीं, दुनिया की नंबर.2 हॉकी टीम बेल्जियम को 16वें मिनट में एक के बाद एक दो पेनल्टी कॉर्नर मिले लेकिन पाठक ने दोनों ही मौकों पर गोल नहीं खाया और भारत की बढ़त बरकरार रखी।

तीसरे क्वार्टर के अंत में बेल्जियम ने एक गोल जरूर किया लेकिन भारतीय हॉकी टीम उससे पहले ही बढ़त को 4-0 कर चुकी थी। स्कोर 4-1 हो गया लेकिन रमनदीप सिंह ने 43वें मिनट में गोल करके इस बढ़त को 5-1 कर दिया जो स्कोर अंत तक कायम रहा। भारतीय हॉकी टीम ने इसके साथ ही बेल्जियम दौरे पर अपने 100 प्रतिशत जीत रिकॉर्ड को बरकरार रखा और अगले साल होने वाले ओलंपिक खेलों के लिए उम्मीदें और बढ़ा दीं।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर