हरियाणा करेगा साल 2021 में 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स' की मेजबानी

स्पोर्ट्स
भाषा
Updated Jul 26, 2020 | 01:00 IST

Khelo India youth games 2021: केंद्रीय खेल मंत्रालय ने साल 2021 में आयोजित होने वाले खेलो इंडिया यूथ गेम्स की मेजबानी हरियाणा के हाथों में सौंपी है। पंचकुला में इन खेलों का आयोजन किया जाएगा।

Khelo India Youth Games
खेलो इंडिया यूथ गेम्स  

मुख्य बातें

  • खेलो इंडिया यूथ गेम्स के चौथे संस्करण की हरियाणा करेगा मेजबानी
  • इस बारे में केंद्रीय खेल मंत्री और हरियाणा के मुख्यमंत्री के बीच हुई बैठक में हुआ फैसला
  • टोक्यो ओलंपिक के बाद पंचकुला में होगा खेलों का आयोजन

नई दिल्ली: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और केन्द्रीय खेल मंत्री किरेन रिजीजू ने शनिवार को घोषणा की कि 2021 में आयोजित होने वाले 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स' के चौथे सत्र की मेजबानी हरियाणा करेगा। इन खेलों का आयोजन अगले साल होने वाले तोक्यो ओलंपिक के बाद पंचकुला में होगा।

वीडियो कांफ्रेंस के जरिये हुई इस घोषणा में रिजीजू ने कहा, 'आमतौर पर 'खेलो इंडिया यूथ गेम्स' हर साल जनवरी में होते हैं। हालांकि, इस बार महामारी के कारण, हमने इसे स्थगित किया है।' उन्होंने कहा, 'मुझे हालांकि यकीन है कि जब तक हम खेलों की मेजबानी करेंगे तब तक महामारी समाप्त हो जाएगी। हम सभी राज्यों की भागीदारी और 10,000 से अधिक प्रतिभागियों के साथ उसी पैमाने पर खेलों की मेजबानी कर पाएंगे।'

हरियाणा ने इन खेलों के पिछले तीनों सत्र में अच्छा प्रदर्शन किया है। राज्य 2019 और 2020 में पदक तालिका में दूसरे स्थान पर रहा था। खट्टर ने कहा, 'एक राज्य के रूप में हरियाणा ने हमेशा खेलों को बड़े पैमाने पर बढ़ावा दिया हैं और अपने एथलीटों का समर्थन किया हैं। हरियाणा को खेलो इंडिया यूथ गेम्स की मेजबानी खेलों के प्रति हमारी प्रतिबद्धता को दिखाती हैं।'

उन्होंने कहा, 'पंचकुला में खेलो इंडिया यूथ गेम्स जैसे बहु-खेल कार्यक्रम की मेजबानी करने के लिए सबसे अच्छा खेल आधारभूत संरचना है। यहां बड़ी संख्या में प्रतिभागियों के लिए आवास की सुविधा हैं।'

हरियाणा ने देश को कई शानदार एथलीट दिये है जिनमें पहलवान योगेश्वर दत्त, बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, और विनेश फोगट के आलवा पैरा-एथलीट दीपा मलिक, भालाफेंक खिलाड़ी नीरज चोपड़ा, मुक्केबाज अमित पंघाल और निशानेबाज संजीव राजपूत, मनु भाकर, अनीश भानवाला जैसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वाले खिलाड़ी शामिल हैं।

रिजीजू ने कहा, 'हरियाणा में पहले से ही बहुत मजबूत खेल संस्कृति है और इसने देश को कुछ सर्वश्रेष्ठ एथलीट दिये हैं। मुझे यकीन है कि राज्य में खेलों की मेजबानी अधिक एथलीटों को प्रतिस्पर्धी खेल अपनाने के लिए प्रेरित करेगा।'

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर