विंबलडन के बाद धूमिल हुईं इस ग्रैंड स्लैम के आयोजन की संभावनाएं, फेडरेशन ने लिया ये निर्णय

विंबलडन के रद्द होने के बाद लाल बजरी पर खेले जाने वाले फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट(French Open) के भी रद्द होने की संभावनाएं फेडरेशन के इस निर्णय के बाद प्रबल हो गई हैं।

French Open
French Open 

मुख्य बातें

  • साल के दूसरे ग्रैंड स्लैम फ्रेंच ओपन का आयोजन पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 24 मई से 7 जून के बीच होना था
  • कोरोना के कहर के कारण सितंबर तक के लिए कर दिया गया था स्थगित
  • अब फ्रेंच टेनिस फेडरेशन ने पूर्व में प्रशंसकों द्वारा बुक की गई टिकट को रद्द कर पैसे वापस करने का फैसला किया है

पेरिस: कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण द्वितीय विश्व युद्ध के बाद पहली बार विंबलडन को स्थगित करना पड़ा। ऐसे में अब फ्रांस की राजधानी पेरिस में आयोजित होने वाले फ्रेंच ओपन भी रद्द होने के कगार पर पहुंच गया है। फ्रेंच टेनिस फेडरेशन(एफएफटी) ने टूर्नामेंट की पूर्व निर्धारित तिथि के आयोजन के समय बुक की गई टिकटों के पैसे प्रशंसकों को वापस करने का फैसला किया है क्योंकि कोरोना वायरस के कारण अभी भी टूर्नामेंट के आयोजन पर अनिश्चित्ता के बादल अभी भी मंडरा रहे हैं। 

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार लाल बजरी पर खेले जाने वाले साल के दूसरे टेनिस ग्रैंड स्लैम का आयोजन 24 मई से 7 जून के बीच फ्रांस की राजधानी पेरिस में होना था लेकिन कोरोना के कहर को देखते हुए इसके निलंबित करने का फैसला किया गया। सितंबर में इसके आयोजन की योजनाओं पर फ्रेंच टेनिस फेडरेशन काम कर रहा है। 

प्रशंसकों की टिकटों को रद्द करने उनके पैसे वापस करने का निर्णय करने के बाद आयोजकों ने कहा कि ये फैसला कोरोना वायरस की वहज से टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर जारी अनिश्चित्ता की वजह से किया है। हालंकि इसके आयोजन की नई तारीख 20 सितंबर से 4 अक्टूबर तय की गई थी। 

एफटीटी ने यह भी कहा है कि वो करीब से लोगों के बेहतर स्वास्थ्य एवं सुरक्षा को लेकर काम कर रहा है। जिससे कि टूर्नामेंट के आयोजन के दौरान किसी भी खिलाड़ी, प्रशंसक या मेहमानों को कोरोना के संक्रमण से बचाया जा सके। लोगों को टिकट की बुकिंग राशि मई के आखिर तक वापस कर दी जाएगी। इसके बाद टिकट विंडो ओपन की जाएगी जब टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर स्थिति स्पष्ट होगी। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर