रोनाल्डो सिंह ने रचा इतिहास, एशियाई चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय साइकिलिस्ट बने

स्पोर्ट्स
भाषा
Updated Jun 22, 2022 | 21:44 IST

Asian Track Championship: एशियन ट्रैक चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर भारतीय साइकिलिस्ट रोनाल्डो सिंह ने नया इतिहास रच दिया है।

Ronaldo Singh
रोनाल्डो सिंह  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • रोनाल्डो सिंह ने रचा नया इतिहास
  • भारतीय साइकिलिस्ट रोनाल्डो ने जीता रजत पदक
  • एशियाई ट्रैक चैंपियनशिप में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय बने

रोनाल्डो सिंह ने बुधवार को यहां एशियाई ट्रैक चैम्पियनशिप के अंतिम दिन सीनियर वर्ग की स्प्रिंट स्पर्धा में दूसरे स्थान पर रहकर इतिहास रच दिया, वह महाद्वीपीय टूर्नामेंट में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय साइकिलिस्ट बन गये। रोनाल्डो की उपलब्धि महाद्वीपीय चैम्पियनशिप में किसी भारतीय साइकिलिस्ट का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। बुधवार को उन्होंने जापान के अनुभवी राइडर केंटो यामासाकी को कड़ी चुनौती दी लेकिन दूसरा स्थान ही हासिल कर सके।

यामासाकी ने लगातार रेस में रोनाल्डो को पछाड़ कर पोडियम में शीर्ष स्थान हासिल किया। कजाखस्तान के आंद्रे चुगे ने स्पर्धा का कांस्य पदक जीता।
भारतीय साइकिलिंग महासंघ के चेयरमैन ओंकार सिंह ने पीटीआई से कहा, ‘‘यह (रोनाल्डो का रजत) एशियाई चैम्पियनशिप में किसी भारतीय का पहला रजत पदक था। किसी भारतीय ने हमारे इतिहस में स्वर्ण पदक नहीं जीता है इसलिये उनका रजत पदक जीतना किसी भारतीय का महाद्वीपीय चैम्पियनशिप में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।’’

सिंह एशियाई साइकिलिंग परिसंघ के महासचिव भी हैं। रोनाल्डो का यह चैम्पियनशिप में तीसरा पदक था। उन्होंने इससे पहले 1 किमी टाइम ट्रायल और टीम स्प्रिंट स्पर्धा में कांस्य पदक जीते थे। सुबह रोनाल्डो ने सेमीफाइनल में कजाखस्तान के आंद्रे चुगे को पछाड़ा था। यह भारतीय पहली रेस में हार गया था लेकिन वापसी करते हुए अगली दो रेस जीतकर फाइनल में प्रवेश किया।

रोनाल्डो ने कहा, ‘‘मेरे दिमाग में स्वर्ण पदक था, लेकिन फिर भी मैं खुश हूं क्योंकि यह मेरा पहला रजत पदक है। यह मेरे करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। प्रत्येक टूर्नामेंट में मेरी तकनीक में सुधार हुआ है, यह सबसे अहम है।’’ मंगलवार को विश्व जूनियर चैम्पियन और एशियाई रिकॉर्डधारी रोनाल्डो ने 200 मीटर फ्लाइंग टाइम ट्रायल में राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया था और पुरूष एलीट स्प्रिंट रेस स्पर्धा के सेमीफाइनल में जगह बनायी थी। घरेलू टीम ने अंतिम दिन एक रजत और दो कांस्य पदक जीते।

भारतीय जूनियर साइकिलिस्ट बिरजीत युमनाम ने 15 किमी प्वाइंट रेस में 23 अंक से कांस्य पदक जीता। कोरिया के सुंगयिओन ली ने 24 अंक से रजत और उज्बेकिस्तान के फारूख बोबोशेरोव ने स्वर्ण पदक हासिल किया। छायानिका गोगोई दिन में हैरान करने वाली साइकिलिस्ट रहीं। इस 19 वर्षीय साइकिलिस्ट ने 10 किमी महिला स्क्रैच रेस फाइनल में कजाखस्तान की पदक की दावेदार रिनाटा सुल्तानोवा को पछाड़कर कांस्य पदक से भारत का खाता खोला। योयूरी किम ने स्वर्ण और जापान की किये फुरूयामा ने रजत पदक प्राप्त किया।

इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम के वेलोड्रोम में एशियाई जूनियर और पैरा चैम्पियनशिप भी इसके साथ ही आयोजित की गयी थी। अंतिम दिन 10 फाइनल में कुछ साइकिल भी टकरायी। जापान 18 स्वर्ण, सात रजत और दो कांस्य से संयुक्त पदक तालिका में शीर्ष पर रहा। वर्ल्ड क्लास फील्ड में भारतीय साइकिलिंग टीम 23 पदक (दो स्वर्ण, छह रजत और 15 कांस्य) से पांचवें स्थान पर रही। कोरिया 12 स्वर्ण, 14 रजत और तीन कांस्य पदक जीतकर दूसरे स्थान पर रहा जबकि कजाखस्तान ने चार स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य से तीसरा स्थान हासिल किया।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर