CWG 2022: राष्ट्रमंडल खेलों के दसवें दिन भारत ने जीते 5 गोल्ड सहित 15 पदक, जानिए किन खिलाड़ियों ने मचाया धमाल

भारतीय खिलाड़ियों ने शनिवार को बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों के दसवें दिन धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए 5 गोल्ड सहित कुल 15 पदक अपने नाम कर लिए। जानिए कैसा रहा भारतीय दल का सभी खेलों में दसवें दिन प्रदर्शन?

Indian-Medal-Winners-Day-Ten-CWG
22वें राष्ट्रमंडल खेलों के दसवें दिन भारत के पदक विजेता खिलाड़ी ( साभार AP/ANI) 
मुख्य बातें
  • दसवें दिन भारत ने बॉक्सिंग में जीते सबसे ज्यादा 3 गोल्ड सहित कुल चार पदक
  • एथलेटिक्स में भी भारत ने 1 गोल्ड, 1 सिल्वर और 2 ब्रॉन्ज सहित जीते 4 पदक, एडोल्स पॉल ने ट्रिपल जंप में रचा इतिहास
  • भारत ने दसवें दिन बैडमिंटन और टेबल टेनिस में किए कई पदक पक्के, क्रिकेट में गोल्ड से चूके

बर्मिंघम: भारत के लिए बर्मिंघम में आयोजित 22वें राष्ट्रमंडल खेलों का दसवां दिन बेहद शानदार रहा। भारतीय खिलाड़ियों ने विभिन्न स्पर्धाओं में रविवार को पांच स्वर्ण पदक सहित कुल 15 पदक अपने नाम किए और भारत के पदकों की संख्या को 18 गोल्ड मेडल के साथ 55 तक पहुंचा दिया। भारतीय मुक्केबाजों ने जहां तीन गोल्ड और एक रजत पदक जीतकर धमाल मचाया। वहीं महिला हॉकी टीम 16 साल बाद राष्ट्रमंडल खेलों में कांसा जीतने में सफल हुई। वहीं हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम टी20 का स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रचने से महज 9 रन के अंतर से चूक गई। ऐसे में आईए जानते हैं कौन से खिलाड़ियों ने दसवें दिन भारत के लिए पदक जीतकर मचाया धमाल। 

बॉक्सिंग: 4 पदक (3 स्वर्ण एक रजत)
निकहत जरीन(48-50 किग्रा), अमित पंघाल() और नीतू गंघास() ने रविवार को राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक अपने नाम किये। वहीं सागर अहलावत (92+ किलो सुपर हैवीवेट वर्ग) को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत ने 22वें राष्ट्रमंडल खेलों में बॉक्सिंग में अपने अभियान का अंत 7 मेडल के साथ किया जिसमें 3 स्वर्ण, 1 रजत और 3 कांस्य पदक शामिल हैं। 

क्रिकेट(महिला टी20)-एक रजत
भारतीय महिला क्रिकेट टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ स्वर्ण पदक के मुकाबले में 9 रन के अंतर से हार का सामना करना पड़ा था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 8 विकेट पर 161 रन का स्कोर खड़ा किया था। ऐसे में जीत के लिए 162 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम 19.3 ओवर में 152 रन बनाकर ढेर हो गई। हरमनप्रीत कौर की 65 रन की कप्तानी पारी पर पानी फिर गया। ऐसे में भारत को रजत पदक से संतोष करना पड़ा।

हॉकी:(महिला)-1 कांस्य 
भारत की महिला हॉकी टीम ने न्यूजीलैंड को पेनल्टी शूटआउट में 2-1 के अंतर से मात देकर कांस्य पदक जीता। मैच में समय समाप्त होने तक दोनों टीमें 1-1 की बराबरी पर थीं। लेकिन पेनल्टी शूट आउट में भारतीय गोलकीपर और कप्तान सविता पूनिया ने चार में से तीन पेनल्टी शूट-आउट में गोल नहीं होने दिया और भारत को 16 साल बाद राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक दिला दिया।

बैडमिंटन: दो कांस्य
पुरुष एकल: भारत के स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत ने पुरुषों की एकल स्पर्धा का कांस्य पदक जीता। वहीं महिला युगल में गायत्री गोपीचंद और त्रिशा जॉली ने कांस्य पदक अपने नाम किया। वहीं दूसरी तरफ पीवी सिंधू ने महिला एकल, लक्ष्य सेन ने पुरुष एकल और चिराग शेट्टी और सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी की जोड़ी ने पुरुष एकल के फाइनल में प्रवेश किया। जो सोमवार को गोल्ड मेडल के लिए लड़ते नजर आएंगे। 

एथलेटिक्स: 4 पदक( 1 गोल्ड, 1 रजत और 2 कांस्य)
ट्रिपल जंप: एल्डोस पॉल ने ट्रिपल जंप में गोल्ड जीतकर इतिहास रच दिया। वह कॉमनवेल्थ गेम्स की पुरुषों की ट्रिपल जंप स्पर्धा में भारत को गोल्ड दिलाने वाले पहले खिलाड़ी बन गए। पॉल के अलावा इसी स्पर्धा का रजत पदक अब्दुल्ला अबूबाकर ने अपने नाम किया। पॉल ने जहां 17.03 मीटर की छलांग लगाई। वहीं अबूबाकर 17.02 मीटर की छलांग के साथ दूसरे पायदान पर रहे। 

भाला फेंक(महिला): 
महिलाओं की भालाफेंक स्पर्धा में अनुरानी ने 60 मीटर की दूरी तय की और कांस्य पदक जीतने में सफल रहीं। 

10 किमी पैदल चाल:
संदीप कुमार ने पुरुषों की 10,000 मीटर पैदल चाल स्पर्धा में 38:49.21 मिनट का समय निकाला और कांस्य पदक अपने नाम किया। स्पर्धा में एक अन्य भारतीय अमित खत्री 43:04.97 मिनट में दूरी तय करके नौवें स्थान पर रहे।

टेबल टेनिस: 2 पदक( एक गोल्ड-एक सिल्वर)
पुरुष युगल: पुरुष युगल स्पर्धा के फाइनल में शरद कमल और जी साथियान की जोड़ी ने रजत पदक जीता। शरद कमल और साथियान को इंग्लैंड के पॉल ड्रिंकहाल और लियाम पिचफोर्ड की जोड़ी ने बेहद रोमांचक मुकाबले में 3-2 (8 -11, 11-8, 11-3, 7-11, 11-4) से पराजित किया। ऐसे में इस जोड़ी के हाथ रजत पदक लगा। 

मिक्सड डबल्स: शरद कमल ने श्रीजा अकुला के साथ मिलकर टेबल टेनिस की मिश्रित युगल स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीत लिया। अचंता और श्रीजा की जोड़ी ने मलेशिया के जावेन चुंग और कारेन लाइने की जोड़ी को 3-1(11-4, 9-11, 11-5, 11-6) से हराकर गोल्ड मेडल जीता।

श्रीजा अकुला महिला एकल स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल करने से चूक गईं। उन्हें कांस्य पदक के लिए हुए मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया की यांग्जी लियू से 3-4 से हार का सामना करना पड़ा। श्रीजा को डेढ़ घंटे से ज्यादा चले मुकाबले में वापसी करने के बावजूद 11-3, 6-11, 2-11, 11-7, 13-15, 11-9, 7 -11 से हार झेलनी पड़ी।

पुरुष एकल सेमीफाइनल में शरत कमल ने मेजबान देश के पॉल ड्रिंकहाल को 4-2 से (11-8, 11-8, 8-11, 11-7, 9-11, 11-8) से हराकर फाइनल में प्रवेश किया। वहीं अन्य सेमीफाइनल में जी साथियान को इंग्लैंड के लियाम पिचफोर्ड के खिलाफ 4-1 से (5-11, 11- 4, 8-11, 9-11, 9-11) से हार का सामना करना पड़ा। अब वह कांस्य पदक के लिये पॉल ड्रिंकहाल से सोमवार को भिड़ंगे। 

स्क्वाश: मिक्स्ड डबल्स: एक पदक(कांस्य)
दीपिका पल्लिकल और सौरव घोषाल की जोड़ी ने मिश्रित युगल स्पर्धा में कांस्य पदक के लिए हुए मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के लोबन डोना और कैमरून पिले की जोड़ी को सीधे गेमों में 11-8, 11-4 से शिकस्त दी। चार साल पहले 2018 गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में फाइनल इन्हीं दो जोड़ियों के बीच खेला गया था और तब भारतीय जोड़ी इनसे पार नहीं पा सकी थी और उसे रजत पदक से संतोष करना पड़ा था। 
 

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर