CWG 2022: लॉन बॉल्स और टेबल टेनिस में स्वर्णिम सफलता, बैडमिंटन में मिला रजत, पांचवें दिन ऐसा रहा भारत का प्रदर्शन

Commonwealth Games 2022 Day Five India's Performence: भारतीय दल ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के पांचवें दिन भी मेडल जीते। भारत के पदकों की संख्या दोहरे अंक में पहुंच गई है।

Commonwealth Games 2022 Day five
@Media_SAI  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स 2022
  • पदक तालिका में छठे स्थान पर भारत
  • मंगलवार को गेम्स का पांचवां दिन था

भारत के लिए कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 का पांचवां दिन अच्छा रहा। भारत ने मंगलवार को अपने खाते में 4 और मेडन जोड़ लिए। भारत ने दोहरी स्वर्णिम संफलता हासिल करने के अलावा दो रजत पदक जीते। बता दें कि भारत के मेडल की संख्या बढ़कर अब 13 पर पहुंच गई है, जिसमें पांच गोल्ड, पांच सिल्वर और तीन ब्रॉन्ज शामिल हैं। भारत पदक तालिका में फिलहाल छठे स्थान पर है। आइए जानते हैं कि भारतीय दल ने पांचवें दिन कैसा प्रदर्शन किया।

लॉन बॉल्स

भारतीय महिला लॉन बॉल्स टीम ने स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया और पूरे देश को इस गुमनाम से खेल को देखने के लिये प्रेरित भी किया। भारत की लवली चौबे (लीड), पिंकी (सेकंड), नयनमोनी सैकिया (थर्ड) और रूपा रानी टिर्की (स्लिप) की चौकड़ी ने दक्षिण अफ्रीका को फाइनल में 17-10 से हराया। प्रतियोगिता की महिला फोर स्पर्धा में भारत पहली बार उतरा था। एक समय भारतीय टीम 8-2 से आगे थी लेकिन थाबेलो मुहांगो (लीड), ब्रिगेट कालित्ज (सेकंड), एस्मी क्रगर (थर्ड) और जोहाना स्नीमैन (स्किप) ने 8. 8 से बराबरी कर ली। भारतीय खिलाड़ियों ने संयम बरकरार रखते हुए आखिरी तीन दौर जीते।

टेबल टेनिस

हरमीत देसाई ने निर्णायक एकल मुकाबले में अपनी लय कायम रखते हुए जीत दर्ज की और भारतीय पुरूष टेबल टेनिस टीम ने मंगलवार को करीबी मुकाबले में सिंगापुर को हराकर राष्ट्रमंडल खेलों में अपना स्वर्ण बरकरार रखा। दुनिया के 121वें नंबर के खिलाड़ी हरमीत ने तीसरे एकल में 133वीं रैंकिंग वाले झे यू क्लारेंस चीयू को 11- 8, 11-5, 11-6 से हराकर भारत की जीत सुनिश्चित की। राष्ट्रमंडल खेलों के इतिहास में पुरूषों की टीम स्पर्धा में भारत का यह तीसरा स्वर्ण पदक है। 

वेटलिफ्टिंग

विकास ठाकुर ने मंगलवार को कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स 2022 में वेटलिफ्टिंग स्‍पर्धा में 96 किग्रा वर्ग में सिल्‍वर मेडल जीता। विकास ठाकुर ने स्‍नैच में 155 किग्रा जबकि क्‍लीन एंड जर्क में 199 किग्रा वजन उठाया। इस तरह उन्‍होंने कुल 346 किग्रा का भार उठाया और वो दूसरे स्‍थान पर रहे। यह विकास ठाकुर का कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में तीसरा पदक है। इससे पहले 2014 ग्‍लास्‍गो कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में उन्‍होंने सिल्‍वर जबकि 2018 गोल्‍ड कोस्‍ट में ब्रॉन्‍ज मेडल जीता था। 

वहीं, भारोत्तोलक ऊषा बानुर महिला 87 किग्रा स्पर्धा में निराशाजनक प्रदर्शन करते हुए छठे स्थान पर रहीं। ऊषा ने स्नैच में काफी कम वजन उठाया जबकि क्लीन एवं जर्क में उनका एक ही प्रयास वैध रहा जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा। ऊषा कुल 205 किग्रा (95 किग्रा और 110 किग्रा) वजन ही उठा पाईं। पदक की प्रबल दावेदार पूनम यादव क्लीन एवं जर्क में तीनों प्रयास में नाकाम रहने के कारण राष्ट्रमंडल खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में महिलाओं के 76 किग्रा भार वर्ग में मंगलवार को यहां आखिरी स्थान पर रही। पूनम ने स्नैच में 98 किग्रा भार उठाकर दूसरा स्थान हासिल किया था लेकिन क्लीन एवं जर्क में वह अपने तीनों प्रयास में 116 किग्रा भार नहीं उठा पाई। पूनम 69 किग्रा में राष्ट्रमंडल खेलों की मौजूदा चैंपियन है।

बैडमिंटन 

भारत की बैडमिंटन टीम का मिक्स्ड इवेंट में गोल्ड जीतने का सपना टूट गया। भारतको मलेशिया के खिलाफ सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। सेमीफाइनल में सिंगापुर को हराने वाली भारतीय टीम ने फाइनल में अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। इस मुकाबले में भारत के एकल खिलाड़ियों और मलेशिया की युगल जोड़ियों पर नजरें थी। भारत के एकल खिलाड़ी हालांकि अपने से कम रैंकिंग वाले प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाए। भारत चार में से सिर्फ एक मैच जीत पाया। यह मैच स्टार खिलाड़ी पीवी सिंधु ने जीता। उन्होंने गोह जिन वेई को 22-20, 21-16 से हराया। 

एथलेटिक्स

भारत के राष्ट्रीय रिकार्डधारक मुरली श्रीशंकर ने एथलेटिक्स प्रतियोगिता की पुरुषों की लंबी कूद स्पर्धा के क्वालीफाइंग दौर में शीर्ष पर रहकर जबकि मोहम्मद अनीस याहिया ने आठवां स्थान हासिल करके फाइनल में जगह बनाई। गोला फेंक में मनप्रीत कौर ने भी फाइनल में प्रवेश किया। वह उन नौ खिलाड़ियों में शामिल थीं जो 18 मीटर के स्वत: क्वालीफाइंग स्तर को हासिल करने में नाकाम रहीं। मनप्रीत ने हालांकि 12 सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक के रूप में फाइनल में प्रवेश किया। भारत की शीर्ष धाविका दुती चंद हालांकि 100 मीटर में शुरुआती हीट रेस में कुल 27वें स्थान पर रहते हुए स्पर्धा से बाहर हो गईं। राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक (11.17 सेकेंड) दुती हीट नंबर पांच में 11.55 सेकेंड के निराशाजनक प्रदर्शन से चौथे स्थान पर रहीं।

डिसकस थ्रो

स्टार खिलाड़ी सीमा पूनिया और नवजीत कौर ढिल्लों को महिला चक्का फेंका स्पर्धा के फाइनल में क्रमश: पांचवें और आठवें स्थान पर रहते हुए पदक जीतने में नाकाम रहीं। पांचवीं बार राष्ट्रमंडल खेलों में हिस्सा ले रही चार बार की पदक विजेता सीमा ने अपने दूसरे प्रयास में चक्के को 55.92 मीटर की दूरी तक फेंका जो उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा। गोल्ड कोस्ट 2018 खेलों की कांस्य पदक विजेता नवजीत बिलकुल भी लय में नहीं दिखी। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 53.51 मीटर रहा जो उन्होंने अपने छठे और अंतिम प्रयास में हासिल किया।

स्क्वाश

शीर्ष स्क्वाश खिलाड़ी सौरव घोषाल को पुरुष एकल स्पर्धा के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के पॉल कोल के खिलाफ एकतरफा मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा। दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी पॉल कोल ने दुनिया के 15वें नंबर के खिलाड़ी घोषाल को सीधे गेम में 3-0 (11 - 9, 11 - 4, 11 - 1) से हराया। फाइनल में पॉल कोल की भिड़ंत बुधवार को इंग्लैंड के जेम्स विल्सट्रोप और वेल्स के जोएल मेकिन के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल के विजेता से होगी। घोषाल बुधवार की कांस्य पदक के मुकाबले में दूसरे सेमीफाइनल में हारने वाले खिलाड़ी से भिड़ेंगे। पैंतीस साल के घोषाल मिश्रित युगल में दीपिका पल्लीकल के साथ जोड़ी बनाएंगे। इन दोनों ने गोल्ड कोस्ट 2018 खेलों में रजत पदक जीता था। इस बीच सुनयना सना कुरुविला ने महिला एकल प्लेट सेमीफाइनल में पाकिस्तान की फेजा जफर को हराया। भारत की 23 साल की खिलाड़ी ने एकतरफा मुकाबले में 11-2 11-4 11-5 से जीत दर्ज की।

हॉकी 

भारतीय महिला हॉकी टीम के जीत के सिलसिले को तोड़ते हुए इंग्लैंड ने राष्ट्रमंडल खेलों के पूल ए के लीग मैच में मंगलवार को उसे 3-1 से हरा दिया। पहले मैच में घाना को 5 . 0 और दूसरे में वेल्स को 3 . 1 से हराने वाले वाली भारतीय टीम उस लय को कायम नहीं रख सकी। विश्व रैंकिंग में पांचवें स्थान पर काबिज इंग्लैंड टीम नौवीं रैंकिंग वाली भारतीय टीम पर भारी पड़ी। इससे  इंग्लैंड ने पहले , तीसरे और चौथे क्वार्टर में एक एक गोल किया जबकि भारतीय टीम एकमात्र गोल आखिरी क्वार्टर में कर सकी। इंग्लैंड के लिये हन्ना मार्टिन, टेस हॉवर्ड और जिसेले एंसले ने गोल किये जबकि भारत के लिये इकलौता गोल वंदना कटारिया ने दागा। भारत को पूल ए के आखिरी लीग मैच में कल कनाडा से खेलना है।

तैराकी

भारतीय तैराक अद्वैत पागे और कुशाग्र रावत ने मंगलवार को राष्ट्रमंडल खेलों में अपनी अपनी हीट में चौथे स्थान पर रहकर पुरूषों की 1500 मीटर फ्रीस्टाइल स्पर्धा के फाइनल में प्रवेश कर लिया। पागे ने पहली हीट में 15 : 39 . 25 सेकंड का समय निकाला जबकि रावत ने दूसरी हीट में 15 : 47 . 77 सेकंड का समय निकाला। दोनों हीट से शीर्ष आठ तैराक फाइनल में पहुंचे। इससे पहले श्रीहरि नटराज ने 200 मीटर बैकस्ट्रोक में ‘सर्वश्रेष्ठ भारतीय समय’ निकाला लेकिन वह हीट दो में तीसरे स्थान पर रहते हुए फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में नाकाम रहे। नटराज ने दो मिनट 00:84 सेकंड का समय लिया और वह इस स्पर्धा के फाइनल में पहले रिजर्व खिलाड़ी होंगे।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर