Astro tips for marriage: विवाह में इन कारणों से आती है अड़चन, जानें किस विधि से करें कष्ट दूर

उपाय-टोटके
Updated Dec 23, 2019 | 09:54 IST | Ritu

कई बार लड़के या लड़की की शादी (marriage) में बेवजह की दिक्कत (Problem) आती है। सब कुछ बेहतर होते हुए भी विवाह में अड़चने बनी रहती हैं। इन सब के पीछे कुछ कारण होते हैं जिन्हें आसानी से दूर किया जा सकता है।

Remedies for delay or late marriage In Kundali
marriage  |  तस्वीर साभार: Thinkstock

मुख्य बातें

  • मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करें
  • गुरुवार के दिन लड़कियां व्रत करें और पूजा करें
  • लड़के शुक्र को मजबूत बनाने का प्रयास करना चाहिए

ये बात सच है कि जोड़ियां ऊपर से बन कर आती हैं और जब जिसका विवाह होना होता है, तभी होता है। बावजूद इसके कई बार कुछ लड़के या लड़कियों की शादियां बार-बार टूटती रहती हैं या विवाह में देरी आती है। विवाह में देरी के पीछे ज्योतिष में तीन मुख्य कारण माने गए हैं और यदि इनका सही तरीके उपचार किया जाए तो समस्याएं खत्म हो सकती हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि विवाह तो किसी तरह से हो जाता हैं लेकिन वर-वधू के जीवन में वैवाहिक सुख नहीं होता। विवाह में कुंडली मिलान के बाद भी यदि विवाह टूट रहा हो अथवा वैवाहिक जीवन में तालमेल की कमी हो तो लड़के और लड़की को कुछ न कुछ उपाय जरूर करने चाहिए।

 

 guruvar ke achuk upay

 


विवाह में आने वाली अड़चन का जाने मुख्य कारण
हाथ में विवाह रेखा हाथ में बुध पर्वत के पास और मस्तिष्क रेखा के ऊपर संतान और विवाह की रेखा होती है। यहां वैसे तो एक से अधिक रेखाएं होती हैं लेकिन यदि रेखा छोटी और हल्की हो तो विवाह में अड़चन और वैवाहिक सुख में कमी रहती है। विवाह रेखा स्पष्ट और गहरी होनी चाहिए तभी विवाह सफल होता है।

मंगल दोष- जो भी जातक मंगल ग्रह से प्रभावित होते हैं उनके विवाह में पेरशानी और देरी होना तय है। ऐसे में जो भी मांगलिक लोग होते हैं उन्हें अपने मंगल दोष को उपाय जरूर करना चाहिए। कुंडली के प्रथम, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम अथवा द्वादश भाव में मंगल होना मंगलिक दोष बनता है। ऐसा माना जाता है कि यदि मांगलिक दोष हो तो लड़का या लड़की का विवाह मांगलिक से ही करना चाहिए लेकिन कई बार मंगल और शनि के मिलान से भी विवाह किया जा सकता है। कई बार ज्यादा गुण मिलने से भी यह दोष दूर हो जाता है।

 कुंडली में विवाह के योग की स्थिति- लड़के की कुंडली में विवाह के लिए शुक्र ग्रह और लड़की की कुंडली में गुरु जिम्मेदार माना जाता है। ऐसे में यदि शुक्र या गुरु कमजोर हो तो विवाह में देरी होना या अड़चना आना तय है। सप्तम भाव एवं सप्तमेश, पंचम भाव में पंचमेश बिगड़ा हो तो भी अड़चन आएगी।

ऐसे करें विवाह में आने वाली अड़चन को दूर :

  • हनुमान चालीसा का पाठ जरूर करें।
  • भाई से हमेशा अपना संबंध सुधार कर रखें।
  • मांस-मदिरा खाना बंद कर दें।
  • घर के दक्षिणी भाग में नीम का पेड़ लगाएं औंर रोज जल दें।
  • घर से बाहर जब भी निकलें गुड़ खांए और गुड़ का दान करें।

Budh Ke Lalkitab Upay

लड़कियां विवाह के लिए करें ये उपाय

  • खरगोश की सेवा करें और उसके खाना खिलाएं।
  • गुरुवार के दिन केले के पेड़ में जल दें और पूजा करें।
  • गुरुवार का व्रत करें और पीली चीजों का दान करें।
  • माथे पर रोज केसर या चंदन का तिलक लगाएं।

लड़के विवाह के लिए करें ये उपाय

  • शुक्र को मजबूत बनाने का उपाय करें।
  • मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर जाएं और वहीं बैठ कर उनकी पूजा करें।
  • हनुमान जी के माथे से थोड़ा सिंदूर लेकर उसे राम और सीता के मंदिर में राम और सीता के चरणों में चढ़ा दें। इससे विवाह शीघ्र होगा।
  • लाल गाय को रोटी में गुड़ लपेटकर खिलाएं।
  • किसी भी गाय को गुरुवार को आटे के दो पेड़े पर थोड़ी हल्दी लगाकर खिलाएं।
  • गुरुवार को नहाने वाले पानी में एक चुटकी हल्दी डालकर स्नान करना चाहिए।

ये उपाय ऐसे हैं जिससे विवाह में आने वाली अड़चडने दूर हो जाएंगी और वैवाहिक जीवन सुखमय बना रहेगा।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर