Navratri 2020 Betel Leaf Use: नवरात्रि में पान के पत्ते के ये 10 उपाय, कई समस्याओं को जड़ से कर देंगे खत्म

Navratri trick : नवरात्रि में मां दुर्गा की पूजा में पान के पत्ते का बहुत महत्व होता है। पान के पत्ते से जुड़े कुछ उपाय आपके जीवन में लंबे समय से चली रही समस्याओं को खत्म करने का दम होता है।

do these remedies for betel leaves on Navratri, नवरात्रि पर करें पान के पत्तों के ये अचूक उपाय
do these remedies for betel leaves on Navratri, नवरात्रि पर करें पान के पत्तों के ये अचूक उपाय 

मुख्य बातें

  • आर्थिक समस्या को दूर करने के लिए करें पान के पत्ते का प्रयोग
  • तरक्की चाहिए तो पान पर लगाएं सरसों का तेल
  • पान के पत्ते के उपाय शाम के समय करें

नवरात्रि के नौ दिन में किसी भी दिन आप पान के पत्ते के उपाय कर न केवल अपनी मनोकामनाओं को पूरा कर सकते हैं, बल्कि आप कई समस्याओं से मुक्ति भी पा सकते हैं। बस इतना याद रखना होगा कि पान के पत्ते के जो भी उपाय किए जाएं वह एक दिन में एक बार ही करें। यानी नवरात्रि में अलग-अलग दिन अलग-अलग उपाय करें। धन संकट हो या वैवाहिक जीवन की समस्याएं हो अथवा दुश्मनों का प्रभाव, आपका महत्व कम होना या मान सम्मान में कमी आदि से जुड़ी कैसे भी समस्या हो, दूर की जा सकती है। एक बात यहां ध्यान देने की और वो यह की सामान्य रूप आप नवरात्रि की जा पूजा करते हैं वह करें। पान के पत्ते के उपाय अलग समय में करें। इसके लिए शाम का समय आप चुन सकते हैं। ये उपाय आप रामनवमी के दिन भी कर सकते हैं। 

जानें, पान केक पत्ते के 10 सटीक और सरल और उपाय

  • 1. देवी मां की पूजा सुबह विधिवत करें और शाम को दीप जलान के बाद पान के पत्ते का उपाय करें। देवी मां को पान के पत्ते पर गुलाब की 11 पंखुड़ियां रख कर उनके चरणों के अर्पित करें। पान के पत्ते को पहले देवी मां के चरणों पर रखें और एक-एक कर गुलाब की पंखुड़ियां रखते जाएं और अपनी समस्या या मनोकामना देवी मां को कहते जाएं। ये उपाय आर्थिक संकट से बचाने में बहुत कारगर है।
  • 2. नवरात्रि में पड़ने वाले मंगलवार के दिन पान का पत्ता लें और उसमें 11 लौंग और 11 इलायची रखकर उसका बीड़ा बना लें। अब इसे शाम के समय हनुमान मंदिर में बजरंगबली के हाथ में चढ़ा दें। ये काम आपके धन से जुड़े हर संकट को दूर कर देगा।
  • 3.यदि आपकी कोई ऐसी इच्छा है जो पूरी नहीं हो पा तो आप एक पान का पत्ता लें और उस पर दो लौंग रखें और अपने दोनों हाथों से बहते जल में प्रवाहित कर दें।
  • 4. नवरात्रि में मंगलवार या शनिवार में से किस एक दिन आप अपने घर के क्लेश या वैवाहिक जीवन के कष्ट दूर करने के लिए पान के पत्ते की चिकनी तरफ सिंदूर से जय श्रीराम लिखें और इसे हनुमान जी के मंदिर में ले जा कर बजरंगबली के हाथ में रख दें। ये पान के पत्ते हनुमान जी के चरण में भूल कर भी मत रखिएगा।
  • 5. जीवन में तरक्की चाहिए या काम में बरकत के लिए आप एक पान का पत्ता लें और उसके दोनों तरफ सरसों का तेल लगा दें। अब इसे नवरात्रि में किसी भी दिन शाम को देवी मां की पूजा में अर्पित करें और जब सोने जाएं तो इस पान के पत्ते को अपने पास रखें। सुबह उठकर इस पान को आप देवी मां के मंदिर के पीछे रख दें।
  • 6. यदि आपके व्यापार में घाटा हो रहा हो या नौकरी पर संकट हो तो आप नवरात्रि में जितने दिन संभव हो एक पान का बीड़ा मां दुर्गा के मंदिर में चढ़ा दें। कोशिश करें शाम के समय ही ऐसा करें।
  • 7. यदि आपके दुश्मन बढ़ रहे हो या आपका मान-सम्मान कम हो रहा हो अथवा आपका महत्व कोई नहीं देता तो आप नवरात्रि में सुबह 4 से 6 के बीच मां भुवनेश्वरी और सौभाग्यसुंदरी का ध्यान कर पान के पत्ते की जड़ को घिसकर उसका तिलक अपने माथे पर लगा लिया करें।
  • 8. यदि आपके ऊपर कर्ज बढ़ता जा रहा हो तो आप नवरात्रि में जितने दिन हो सके 1 पान के पत्ते पर “ह्रीं” लिखकर मां दुर्गा को अर्पित कर दें। साथ ही नवमी के दिन आप उन पान के पत्तों को अपने पैसे वाली जगह पर रख दें।
  • 9. यदि आपको ऐसा लगता है कि आपके घर में नकारात्मकता का असर बढ़ता जा रहा है तो आप पान के पत्ते पर केसर या हल्दी रखकर दुर्गा स्तोत्र और दुर्गा जी की नामावली का पाठ करें।
  • 10. जिन दंपति को संतान नहीं हो रही वह नवरात्रि में स्कंदमाता को 9 पान के पत्ते अर्पित करें और 9 सुहगिनों को जिनकी संतान भी हो उन्हें सुहाग की सामग्री भेंट करें।
  • इन दस उपायों को आप एक दिन में एक बार ही करें। अलग-अलग उपाय के लिए अलग-अलग दिन का चयन करें।
Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर