Panchang 22 May: ऐसा होगा आज जन्मे बच्चों का व्यवहार, जानें आज का शुभ मुहूर्त

आज का पंचांग: पंचांग से शुभ अशुभ समय का ज्ञान होता है। प्रतिदिन प्रातःकाल पंचांग पढ़ना चाहिए। यह सूर्य तथा चंद्रमा की गति की बताता है। जानें आज किस समय बन रहा है शुभ मुहूर्त एवं राहुकाल।

Today Panchang 22 May 2020
Today Panchang 22 May 2020 

Today Panchang 22 May 2020: आज 22 मई है। हिंदी तिथि से ज्येष्ठ माह कृष्ण पक्ष की अमावस्या है। आज वट सावित्री व्रत भी है। आज सुहागिनी महिलाएं पति की दीर्घ आयु के लिए वट वृक्ष की पूजा करती हैं। आज कृतिका नक्षत्र है। आज चन्द्रमा शुक्र प्रधान वृष राशि में है। पंचांग को पूरा पढ़कर उसका लाभ उठाएं। प्रतिदिन प्रातः काल पंचांग पढ़ना शुभ माना गया है। सूर्य व चन्द्रमा जिस राशि में स्थित हो उस राशि के स्वामी ग्रह के बीज मंत्र का जप उस दिन अवश्य करना चाहिए। अभी सूर्य वृष में हैं। मुहूर्त के निश्चित नियम व महत्व हैं। शुभ कार्य में ही शुभ कार्य करें।राहुकाल में शुभ कार्य वर्जित है। स्थान के अनुसार राहुकाल बदल जाता है। सूर्य व चन्द्रमा की स्थिति बहुत ही महत्वपूर्ण है। नक्षत्र ज्ञान अत्यंत आवश्यक है।आइये आज के पंचांग का शुभ दर्शन करें व लाभ उठाएं। आपका दिन शुभ व मंगलमय हो।

आज जन्म लेने वाले बच्चों का भविष्य
 
आज सूर्य व चन्द्रमा दोनों वृष में हैं। आज जन्म लेने वाले बच्चे धार्मिक होंगे। वे बहुत पैतृक सम्पत्ति के स्वामी होंगे। वे उच्च संस्कारों से भरे होंगे। शनि उनको कुशल आर्किटेक्ट बना सकता है। शुक्र फ़िल्म गुरु व चन्द्रमा मैनेजमेंट की उच्च शिक्षा भी दिला सकते हैं। ऐसे बालक बहुत सफल फ़िल्म प्रोड्यूसर भी बन सकते हैं। कुम्भ का मंगल व वृष का चन्द्र उनको सफल बिज़नेसमैन भी बना सकता हैं। ऐसे जातक समाज सेवक होंगे। उनका स्वास्थ्य अच्छा होगा। ऐसे बच्चों से अन्न का दान करवाते रहना चाहिए।

आज क्या करें व क्या न करें-

आज भगवान शिव व माता काली जी की पूजा करें। दुर्गासप्तशती का पाठ करें। अन्न दान करें। बिना विचार किए किसी को धन उधार मत दें।
            
यहां पढ़ें 22 मई का पंचांग

  • दिनांक-22 मई 2020
  • दिन- शुक्रवार
  • माह-ज्येष्ठ
  • तिथि- अमावस्या 11:10 pm तक फिर प्रतिपदा  
  • पक्ष-कृष्ण पक्ष
  • नक्षत्र-कृतिका
  • करण-चतुष्पद
  • सूर्य राशि-वृष
  • चन्द्र राशि- मेष 07 बजकर 38 मिनट प्रातः तक फिर वृष
  • शुभ मुहूर्त- अभिजीत-11बजकर 52 मिनट दिन से 12 बजकर 46 मिनट तक। अभिजीत का समय बहुत ही शुभ होता है। इस समय कोई भी कार्य आरम्भ कर सकते हैं। इस समय किसी विशेष मन्त्रों की सिद्धि भी की जाती है। इस समय दान व पुण्य फलदायी है।
  • मुहूर्त-02:36pm से 03:28 pm
  • 3-गोधूलि मुहूर्त- 06:45 pm से 07:09 pm
  • अशुभ मुहूर्त- राहुकाल- प्रातःकाल10:30 बजे से 12 बजे तक।
Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर