Ank Jyotish 2020 prediction Moolank 3: मूलांक 3 वाले लोगों की आर्थिक स्थिती रहेगी शानदार, साल 2020 होगा अच्छा

अंक शास्‍त्र
Updated Dec 30, 2019 | 13:47 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

अंक ज्योतिष वार्षिक भविष्यवाणी 2020 मूलांक 3, 2020 annual prediction for Moolank 3: मूलांक 3 वाले लोगों की लव लाइफ साल 2020 में थोड़ी दिक्कत बनी रहेगी। आर्थिक दृष्टि से यह साल बहुत बेहतर रहेगा।

2020 अंक ज्योतिष मूलांक 3 वार्षिक भविष्यवाणी
2020 अंक ज्योतिष मूलांक 3 वार्षिक भविष्यवाणी 
अंक का स्वामी गुरु होता है। जिस भी जातक का जन्म किसी भी माह की किसी भी दिनांक में 03,12,21 तथा 30 को हुआ है वो इस जन्मांक के प्रभाव में आएंगे। गुरु विद्या तथा आत्मबल प्रदान करता है। अंक 02,01 तथा 09 इसके मित्र  अंक हैं। इस जन्मांक  के लोग सेना तथा पुलिस की उच्च सेवा में होते हैं। इस जन्मांक के लोग शिक्षा में बहुत बड़े पदों को सुशोभित करते हैं। पॉलिटिक्स और प्रशासन की ऊंचाइयों को प्राप्त करते हैं। बहुत अच्छे डाक्टर तथा वकील होते हैं। अंक 03 का शुभ रत्न है पुखराज।
इस जन्मांक का वार्षिक अंकफल निम्नवत है।
 
अंक ज्योतिष वार्षिक भविष्यवाणी 2020 मूलांक 3
  1. स्वास्थ्य- इस वर्ष आपकी हेल्थ विगत वर्षों की तुलना में बेहतर रहेगी। उदर ,बीपी तथा श्वांस संबंधी रोगों सहित हृदय के रोगी सावधानी बरतें। फरवरी से मई तक का समय बहुत बेहतर नहीं है ।
  2. शिक्षा तथा जाँब - राजनीति और प्रशासन से सम्बद्ध लोगों के लिए यह वर्ष अत्यंत श्रेयष्कर होगा। जाँब में उन्नति होगी। मार्च के बाद का समय बहुत बेहतर है। अगस्त से दिसम्बर तक जाँब चेंज या प्रोन्नति के अवसर प्राप्त होंगे। निष्कर्षतः यह वर्ष आपके जाँब के लिए बहुत ही अच्छा रहेगा।
  3. लव लाइफ तथा दाम्पत्य जीवन -जनवरी तथा जून माह में लव लाइफ में थोड़ी दिक्कत रहेगी। मई के बाद यही प्रेम प्रसंग विवाह में बदल सकता है। दाम्पत्य जीवन में फरवरी तक थोड़ा तनाव रहेगा फिर सब ठीक हो जाएगा।
  4. आर्थिक स्थिति - आर्थिक दृष्टि से यह वर्ष बहुत बेहतर रहेगा। यह वर्ष बहुत धन देगा। पूरे वर्ष आपकी आर्थिक स्थिति बहुत ही शानदार रहेगी। जमीन, मकान या वाहन खरीदने के संयोग बनेंगे। जनवरी से  अप्रैल तक थोड़ा धन का व्यय हो सकता है।
  5. शुभ समय - अप्रैल  से जून  तथा फिर नवम्बर और दिसम्बर का समय अच्छा रहेगा।
  6. उपाय - श्री विष्णु जी की उपासना करें। प्रत्येक गुरुवार को सृई विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ करें।प्रतिदिन श्री रामचरितमानस  का पाठ करें। प्रत्येक गुरुवार को चने की दाल का दान करें तथा गाय को केला खिलाएं। गुरु,सूर्य तथा मंगल के बीज मंत्र का जप करें। भगवान कृष्ण की उपासना करें। ॐ नमो भगवते वासुदेवाय महामंत्र का जप प्रतिदिन प्रतिपल मानसिक तौर पर करते रहें
Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर