Karwa Chauth 2021 Aarti and Mantra: करवा चौथ पर इस आरती और मंत्र से करें मां करवा की पूजा, मिलेगा सुखी जीवन

Karwa Chauth 2021 Aarti and Mantra: करवा चौथ हर साल कार्तिक मास की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। इस दिन करवा माता की पूजा करने से पति की दीर्घायु होती है।

Karwa Chauth 2021 Mantra and Aarti
करवा चौथ 2021 के मंत्र और आरती 
मुख्य बातें
  • 24 अक्टूबर दिन रविवार को मनाया जा रहा करवा चौथ।
  • करवा चौथ के दिन महिलाएं सोलह श्रृंगार करके निर्जला रहकर करती हैं करवा माता की उपासना।
  • चंद्र दर्शन करने के बाद ही सुहागिन महिलाएं खोलती हैं अपना व्रत।

Karwa Chauth 2021 Aarti and Mantra: करवा चौथ सुहागिन महिलाओं के लिए बेहद खास पर्व है। इस बार यह पर्व 24 अक्टूबर दिन रविवार को मनाया जाएगा। इस दिन सभी सुहागिन महिलाएं सोलह श्रृंगार करके मां करवा की पूजा आराधना निर्जला रहकर करती हैं। मान्यता है कि इस व्रत को श्रद्धा-पूर्वक करने से करवा माता प्रसन्न होकर पति की दीर्घायु कर देती है। ऐसे तो यह पर्व भारत के कई हिस्सों में मनाई जाती है, लेकिन यूपी, बिहार दिल्ली, हरियाणा और पंजाब जैसे जगह पर यह बेहद खास तरीके से मनाई जाती हैं। 

शास्त्र के अनुसार यह व्रत करने से घर में सुख-समृद्धि आती हैं। धर्म के अनुसार यह प्रेम और त्याग का पर्व माना जाता हैं। इस दिन सुहागिन महिलाएं चंद्रमा को देखन के बाद ही पति के हाथों जल पीकर अपना निर्जला व्रत खोलती हैं।

यदि आप पहली बार करवा माता की पूजा करने वाली हैं या पहले से करती हैं, तो उनकी पूजा-अर्चना में इस मंत्र और आरती को जरूर पढ़ें। इससे करवा माता जल्द प्रसन्न होकर आपके पति की दीर्घायु कर देंगी। यहां आप करवा चौथ की आरती और मंत्र शुद्ध-शुद्ध देखकर पढ़ सकते हैं।

करवा माता का मंत्र (Karwa Chauth Mantra 2021)

ऊँ चतुर्थी देव्यै नम: 
ऊँ गौर्ये नम: 
ऊँ शिवायै नम:

ऊँ नम: शिवायै शर्वाण्यै सौभाग्यं संतति शुभाम्।
प्रयच्छ भक्तियुक्तानां नारीणां हरवल्लभे।।

नमो देव्यै महादेव्यै शिवायै सततं नम:
नम: प्रकृत्यै भद्रायै नियता: प्रणता: स्मृताम्॥

करवा माता की आरती (Karwa Chauth Aarti 2021)

ऊँ जय करवा मइया, माता जय करवा मइया।
जो व्रत करे तुम्हारा, पार करो नइया,
ऊँ जय करवा मइया।।

सब जग की हो माता, तुम हो रुद्राणी।
यश तुम्हारा गावत, जग के सब प्राणी,
ऊँ जय करवा मइया।।

कार्तिक कृष्ण चतुर्थी, जो नारी व्रत करती।
दीर्घायु पति होवे , दुख सारे हरती,
ऊँ जय करवा मइया।।

होए सुहागिन नारी, सुख सम्पत्ति पावे।
गणपति जी बड़े दयालु, विघ्न सभी नाशे,
ऊँ जय करवा मइया।।

करवा मइया की आरती, व्रत कर जो गावे।
व्रत हो जाता पूरन, सब विधि सुख पावे,
ऊँ जय करवा मइया।।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर