शनिवार को भूलकर भी ना खरीदें ये 8 चीजें, पड़ेगी शन‍ि की कोप दृष्‍ट‍ि

आध्यात्म
Updated Nov 10, 2017 | 20:07 IST | Medha Chawla

शनिवार को सरसों का तेल और लोहे का सामान नहीं खरीदा जाता। ऐसा करना अशुभ माना गया है। जानें हफ्ते के किस दिन कौन-सा सामान नहीं लेना चाहिए...

शन‍ि देव  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्ली: शनिवार को कई काम करना अशुभ माना गया है। शास्त्रों में कहा गया है कि शनिवार को तेल बिल्कुल भी नहीं खरीदना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में भी इसके कुछ नियम बताए गए हैं। जानें किस दिन कौन सी चीज नहीं खरीदनी चाहिए... 

सरसों का तेल
सरसों का तेल शनिवार को खरीदना बेहद अशुभ माना जाता है। दरअसल ऐसी मान्यता है कि इस दिन तेल खरीदने से घर में नकारात्मक प्रभाव उत्पन्न होता है जिससे अशुभ घटनाओं का जन्म होता है। साथ ही अगर कोई मांगता है तो इस दिन तेल किसी को देना भी नहीं चाहिए। काले कुत्तों को सरसों के तेल से बना हलुआ खिलाने से शनि की दशा टलती है। ज्योतिष के अनुसार, शनिवार को सरसों या किसी भी पदार्थ का तेल खरीदने से वह रोगकारी होता है।

Read: श‍िव जी को मिला था ये श्राप, इसलिए पूजा में नहीं चढ़ाई जाती तुलसी

how to please Shani Dev

लोहे का सामान
शनिवार को लोहे का बना सामान नहीं खरीदना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि शनिवार को लोहे का सामान क्रय करने से शनि देव कुपित होते हैं। इस दिन लोहे से बनी चीजों के दान का विशेष महत्व है। लोहे का सामान दान करने से शनि देव की कोप दृष्टि निर्मल होती है । इसके अतिरिक्त शनि देव यंत्रों से होने वाली दुर्घटना से भी बचाते हैं।

नमक
नमक हमारे भोजन का सबसे अहम हिस्सा है। अगर नमक खरीदना है तो बेहतर होगा शनिवार के बजाय किसी और दिन ही खरीदें। शनिवार को नमक खरीदने से यह उस घर पर कर्ज लाता है। साथ ही रोग के भी जन्म होने का कारण बन सकता है।

Read: शुभ कार्यों में जरूर रखे जाते हैं आम के पत्‍ते, जानें कैसे दिलाते हैं हनुमान की कृपा

कैंची खरीदने के नुकसान
कैंची कपड़े, कागज आदि काटने में सबसे ज्यादा इस्तेमाल की जाती है।  कपड़े के कारोबारी, टेलर आदि शनिवार को नई कैंची नहीं खरीदते। इसके पीछे यह मान्यता है कि इस दिन खरीदी गई कैंची रिश्तों में तनाव लाती है। इसलिए अगर आपको कैंची खरीदनी है तो किसी दूसरे दिन खरीदें।
 

how to please Shani Dev
 
काले तिल हैं बाधा
सर्दियों में काले तिल शरीर को पुष्ट करते हैं। ये ठंड से मुकाबला करने के साथ शरीर की गर्मी को बरकरार रखते हैं। पूजा में भी इनका उपयोग किया जाता है। शनि देव की दशा टालने के लिए काले तिल का दान और पीपल के वृक्ष पर भी काले तिल चढ़ाने का नियम है, लेकिन शनिवार को काले तिल कभी न खरीदें। ऐसी मान्यता है कि इस दिन काले तिल खरीदने से कार्यों में बाधा आती है।

Read: इस स्थान पर श्रीराम ने बिताये थे 11 साल, आज भी है मां सीता के पैरों के निशान

काले जूतों से असफलता
शरीर के लिए जितने जरूरी वस्त्र हैं, उतने ही जूते भी। काले रंग के जूते पसंद करने वालों की तादाद आज भी काफी है। अगर आपको काले रंग के जूते खरीदने हैं तो शनिवार को न खरीदें। कहा जाता है कि शनिवार को खरीदे गए काले जूते पहनने वाले को कार्य में असफलता दिलाते हैं।

Read: मां लक्ष्‍मी का ऐसे 5 घरों में कभी नहीं होता वास, भूल कर भी ना करें ये काम
 
झाड़ू लाती है दरिद्रता
झाड़ू से घर साफ होता है और निर्मल बनता है। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का आगमन होता है। झाड़ू खरीदने के लिए शनिवार को उपयुक्त नहीं माना जाता। ऐसी मान्यता है कि शनिवार को झाड़ू घर लाने से दरिद्रता का आगमन होता है।

अनाज पीसने की चक्की
साथ ही अनाज पीसने के लिए चक्की भी शनिवार को नहीं खरीदनी चाहिए। ऐसी मान्यता है कि यह परिवार में तनाव लाती है और इसके आटे से बना भोजन रोगकारी होता है।

धर्म और आस्‍था से जुड़े लेख पढ़ने के लिए देखें Spritual सेक्‍शन... 

 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर