Shardiya Navratri Date 2020: कब से शुरू होगी शरद नवरात्रि, जानिए तिथि और शुभ मुहूर्त

Shardiya Navratri kab hai: इस बार शरद ऋतु की नवरात्रि 17 अक्टूबर को शुरू हो रही है। यहां जानिए साल 2020 की नवरात्रि की जुड़ी महत्वपूर्ण तिथियां और मुहूर्त।

Sharad navratri 2020 date
शरद नवरात्रि 2020 

मुख्य बातें

  • अक्टूबर में मनाया जाएगा नवरात्रि का पावन पर्व
  • महा-नवरात्रि के तौर पर जानी जाती है शरद नवरात्रि
  • दशहरा पर्व के साथ होगा पर्व का समापन

नई दिल्ली: नवरात्रि एक महत्वपूर्ण हिंदू त्योहार है जो देवी दुर्गा (नवदुर्गा) की पूजा के लिए समर्पित है। सभी नवरात्रियों में; शारदीय नवरात्रि सबसे लोकप्रिय और महत्वपूर्ण है। नौ दिनों तक चलने वाला यह त्योहार आश्विन माह के पहले दिन (प्रतिपदा) से शुरू होता है। 2020 में, शारदीय नवरात्रि शनिवार, 17 अक्टूबर से शुरू होती है और दशहरा - सोमवार, 26 अक्टूबर को समाप्त होती है। इसे महा नवरात्रि के नाम से भी जाना जाता है।

एक वर्ष में पड़ने वाले सभी पांच नवरात्रों (चैत्र, आषाढ़, आश्विन, पौष और माघ) में शरद नवरात्रि सबसे महत्वपूर्ण नवरात्रि में से एक मानी जाती है। इसके अलावा, माघ, आषाढ़ और पौष को गुप्त नवरात्रि के रूप में जाना जाता है।

शरद नवरात्रि तिथि (Shardiya Navratri 2020 Date):

आइए जानते हैं नवरात्रि के 9 दिन के दिनांक और किस दिन किस देवी की पूजा होती है।

1. पहला दिन- 17 अक्टूबर - मां शैलपुत्री
2. दूसरा दिन - 18 अक्टूबर - मां ब्रह्मचारिणी
3. तीसरा दिन - 19 अक्टूबर - मां चंद्रघंटा
4. चौथा दिन - 20 अक्टूबर - मां कुष्मांडा
5. पांचवां दिन - 21 अक्टूबर - मां स्कंद माता
6. छठा दिन -   22 अक्टूबर -   मां कात्यायनी (यमुना छठ)
7. सातवां दिन - 22 अक्टूबर - मां कालरात्रि (महा सप्तमी)
8. मां महागौरी - 23 अक्टूबर - महागौरी (दुर्गा अष्टमी)
9. मां सिद्धिदात्री - 24 अक्टूबर - सिद्धिदात्रि

शरद नवरात्रि (Shardiya Navratri 2020 Significance):

सांस्कृतिक परंपराएं और महत्व:
नवरात्रि के बाद दसवें दिन को 'विजयादशमी' या 'दशहरा' के रूप में जाना जाता है। शरद नवरात्रि आश्विन माह या शरद माह में मनाई जाती है जो सर्दियां शुरू होने का संकेत देती है। इस नौ दिवसीय त्यौहार के दौरान नवरात्रि पूजा अनुष्ठानों के साथ लगातार नौ दिनों तक मंत्रों, भजन या पवित्र गीतों की स्तुति की जाती है।

पौराणिक महत्व:
लिपिबद्ध विवरण के अनुसार, दानव राज रावण को हराने और उसे मारने के लिए भगवान राम ने दैवीय शक्ति की पूजा की और इस तरह रामायण से भी नवरात्रि का महत्व जुड़ा हुआ है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर