Disha Shool: गलत दिशा में यात्रा करने से बढ़ सकती है मुश्किलें, जाने दिशाशूल के बारे में

Astrology Tips For Disha Shool: यात्रा के लिए घर से निकलने से पहले दिशाशूल के बारे में जानना जरूरी होत है। अगर आप गलत दिन या गलत दिशा में यात्रा करते हैं तो इससे दुर्घटना की संभावना बढ़ जाती है।

Disha shool
दिशाशूल 
मुख्य बातें
  • सप्ताह के अलग दिनों में अलग दिशाओं में लगता है दिशाशूल
  • दिशाशूल में यात्रा करने से कई बाधाएं होती है उत्पन्न
  • कुछ उपायों को करने के बाद आप दिशाशूल में कर सकते हैं यात्रा

Disha Shool Journey Tips According To Astrology: व्यक्ति अपने जीवन में प्रतिदिन छोटी या लंबी यात्रा के लिए घर से बाहर जरूर निकलता है। सभी यात्राओं का हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसका परिणाम शुभ या अशुभ दोनों हो सकते हैं। इसलिए घर से निकलने से पहले या किसी यात्रा के पहले दिशाशूल के बारे में जानना जरूरी है। अगर आप गलत समय और गलत दिशा में यात्रा करते हैं तो इससे आपको कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है और ऐसी यात्राओं में दुर्घटना की संभावना भी बढ़ जाती है। इसलिए किसी भी यात्रा से पहले चाहे वह छोटी हो या लंबी दिशाशूल को ध्यान में जरूर रखें और दिशाशूल लगने पर यात्रा न करें और यात्रा करना जरूरी हो तो लेख में बताए गए उपायों के साथ ही बाहर निकलें।

क्या है दिशा शूल

सबसे पहले जानते हैं कि आखिर दिशाशूल क्या होती है। दरअसल यह एक ऐसा योग होता है जो किसी दिशा में यात्रा करने से संबंधित होता है। ऐसी यात्रा से आमतौर पर दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है या फिर आप जिस काम के लिए घर से निकलते हैं उस काम में बाधाएं उत्पन्न होती है और वह बनते-बनते बिगड़ जाता है।

सप्ताह के इन दिनों में लगता है दिशा शूल

सप्ताह के अलग-अलग दिनों में अलग दिशाओं में दिशाशूल लगता है। जैसे सोमवार और शनिवार को पूर्व दिशा में दिशाशूल होता है। मंगलवार और बुधवार को उत्तर दिशा में दिशाशूल होता है। बुधवार और शनिवार को उत्तर पूर्व कोण में, गुरुवार को दक्षिण दिशा में तो, वहीं शुक्रवार और रविवार को पश्चिम दिशा और दक्षिण दिशा कोण में दिशाशूल होता है।

क्या करें अगर दिशाशूल में यात्रा करना हो जरूरी

अगर दिशाशूल के दौरान कोई यात्रा करना या घर से किसी काम के लिए निकलना जरूरी हो तो ऐसे में क्या करना चाहिए। यह सवाल सभी के मन में रहता है। चिंता न करें ज्योतिष में कुछ ऐसे उपायों के बारे में बताया गया है, जिसे करने के बाद अगर आप दिशाशूल में भी घर से बाहर निकलते हैं तो इससे दिशाशूल का नकारात्मक प्रभाव कम हो जाता है। जानते हैं सप्ताह के अनुसार इन उपायों के बारे में।

  • सोमवार के दिन अगर आप दिशाशूल के समय घर से निकलते हैं तो आपको दर्पण देखकर घर से निकलना चाहिए और यात्रा करनी चाहिए।
  • अगर आप शनिवार को दिशाशूल के दौरान यात्रा करते हैं तो अदरक या उड़द की दाल खाकर घर से निकलें।
  • मंगलवार के दिन दिशाशूल के दौरान यात्रा करने पर आपको थोड़ा सा गुड़ खाकर निकलना चाहिए। वहीं बुधवार को तिल या धनिया खाकर निकलें।
  • गुरुवार के दिन दिशाशूल के दौरान घर से निकलने से पहले थोड़ा सा दही खाकर निकले।
  • शुक्रवार को दिशाशूल के उपाय के लिए आप जौ खाकर यात्रा करें। वही रविवार को दलिया खाकर दिशाशूल में भी यात्रा के लिए निकल सकते हैं।

इन महाउपायों को करने के बाद आप यदि दिशाशूल में भी घर से किसी काम या यात्रा के लिए निकलते हैं तो आपकी यात्रा और कार्य दोनों सफल होगी और दिशाशूल का कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ेगा।

(डिस्क्लेमर: यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्‍स नाउ नवभारत इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर