Shukra Rashi Parivartan May 2021: शुक्र की स्थिति में हुआ परिवर्तन, मेष से मीन तक-हर राशि के जातक पर प्रभाव

Shukra Grah Parivartan Rashifal: शुक्र ग्रह अपनी राशि को परिवर्तित करने जा रहा है और इस ज्योतिषीय घटना का सभी राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ने जा रहा है।

Venus zodiac change effects in Hindi
शुक्र ग्रह राशि परिवर्तन के प्रभाव 

मुख्य बातें

  • हर 23 दिन में शुक्र की राशि में होता है महत्वपूर्ण परिवर्तन।
  • 28 मई 2021 को शुक्र वृष से बुध प्रधान राशि मिथुन में कर रहा प्रवेश।
  • किस राशि के जातकों पर होगा क्या प्रभाव? किन क्षेत्रों में होगा सकारात्मक असर।

Shukra Rashi Parivartan Prabhav in Hindi: शुक्र एक राशि में लगभग 23 दिन रहते हैं। 28 मई 2021 को शुक्र अपनी राशि वृष से बुध प्रधान राशि मिथुन में प्रवेश कर 23 दिन इस राशि में रहेंगे। मिथुन का स्वामीग्रह बुध है। बुध वाणी व मैनेजमेंट स्किल का कारक ग्रह है। बुद्धि का कारक ग्रह है। शुक्र फ़िल्म,टीवी जर्नलिज़्म, मीडिया,फाइनेन्स व पॉलिटिक्स का कारक ग्रह है। शुक्र का मिथुन में होना बहुत ही शुभ है।

बुध व शुक्र आत्मबल व समृद्धि का कारक बनेंगे। ज्येष्ठ का पवित्र महीना है। जल में गंगा जल व तिल डालकर स्नान करें। दान पुण्य करें। दही का सेवन स्वास्थ्य के लिये लाभदायक है व बुध के द्रव्यों उड़द व हरे वस्त्र का दान अनन्त गुणा फलदायी है। यह परिवर्तन व्यवसाय जगत के लिए संघर्ष का समय रहेगा।

कुछ राज्यों में राजनीतिक उथल पुथल हो सकता है। कुछ हिट फिल्में आएंगी। फ़िल्म व अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय के लिए यह गोचर बहुत शुभ है। यह गोचर प्राकृतिक आपदा दे सकती है लेकिन महामारी के विस्तार को शुक्र काफी हद तक कम कर सकता है। शुक्र व बुध की वस्तुएं सबको दान करनी चाहिए।

1. मेष- जॉब में किसी नए  प्रोजेक्ट पर कार्य प्रारंभ करेंगे।  हेल्थ में सुधार आते रहेंगे। जॉब में सकारात्मक परिवर्तन या पद परिवर्तन का प्रस्ताव स्वीकार करना चाहिए। राजनीति में सफलता मिलेगी। नारंगी व सफेद रंग शुभ है। प्रत्येक बुधवार को उड़द का दान करें।

2. वृष -  व्यवसाय में आपकी स्थिति अब बहुत ही बेहतर होगी। आप व्यवसाय को और बेहतर करेंगे तथा कोई बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद है। परिवर्तन की योजना को स्वीकार करेंगे। धार्मिक सोच को विस्तार मिलेगा। प्रत्येक शुक्रवार को चावल का दान करें। लाल व पीला रंग शुभ है।

3. मिथुन- शुक्र इसी राशि मे प्रवेश किये हैं। सब बेहतर होगा। जॉब में प्रोग्रेस है। यात्रा के प्रति कोई भी लापरवाही मत करें। प्रतिदिन अन्न का दान बहुत ही शुभ है। आसमानी व हरा रंग शुभ है। गाय को प्रत्येक शुक्रवार को भोजन कराएं। 

4. कर्क- व्यवसाय से सम्बद्ध जातकों के लिए सफलता का समय है। वाहन क्रय कर सकते हैं। पॉलिटिक्स में मित्र आपकी मदद करेंगे। सफेद व लाल रंग शुभ है। प्रतिदिन श्री सूक्त का पाठ करें। उड़द व मूंग की दाल का दान करते रहें। 

5. सिंह - व्यवसाय में थोड़े तनाव व जॉब में सफलता का समय है। छात्र सफल रहेंगे। रुके धन की प्राप्ति हो सकती है। वाणी के प्रति सचेत रहें। पीला व सफेद रंग शुभ है। गाय को भोजन देते रहें। भगवान विष्णु की उपासना करते रहें।

6. कन्या- शुक्र का दशम गोचर आपके लिए बहुत ही शुभ है। जॉब सम्बंधित कई महत्वपूर्ण व बड़े निर्णय इस समय लेंगे। नारंगी व सफेद  रंग शुभ है। प्रतिदिन श्री सूक्त का पाठ करें। छात्रों के लिए बहुत ही श्रेयष्कर समय है। विष्णु जी की उपासना करते रहें।

7. तुला- यह समय व्यवसाय के लिए बहुत ही शुभ है। यह गोचर छात्रों के लिए सफलता की प्राप्ति का है। शुक्र व्यवसाय में आपकी रुकी योजनाओं को शुरू करेंगे। धार्मिक अनुष्ठान होंगे। सफेद व नीला रंग शुभ है।

8. वृश्चिक- जॉब सम्बन्धी कई रुके कार्य पूर्ण होंगे। व्यवसाय में रुके धन का आगमन होगा। जॉब में प्रगति के मार्ग बनेंगे। स्वास्थ्य सुख में भी सुधार है। पीला व लाल रंग शुभ है।

9. धनु- पॉलिटिशियन सफल रहेंगे। छात्र प्रगति करेंगे। प्रतिदिन चावल का दान करते रहें।  छात्र अपने कॅरियर में प्रगति को लेकर प्रसन्न रहेंगे। स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें। श्री विष्णुसहस्रनाम का पाठ करें।

10. मकर- शुक्र का खष्ठम गोचर इस राशि के लिए जॉब में बहुत कार्य करेगा। व्यवसाय में विशेष सफलता मिलेगी। संतान के विवाह सम्बन्धित किसी निर्णय को लेकर प्रसन्न रहेंगे। आसमानी व नीला रंग शुभ है। शुक्रवार को चावल व चीनी का दान करते रहें।

11. कुम्भ- जॉब में आशातीत सफलता मिलेगी ।व्यवसाय में रुकी योजनाएं प्रारम्भ होंगी। स्वास्थ्य सुख की बाधाएं दूर होंगी। नीला व हरा रंग शुभ है। प्रत्येक बुधवार को बुध के बीज मंत्र का जप करें व उड़द का दान करें।

12. मीन- गृह निर्माण सम्बन्धित कोई बड़ा कार्य सम्पन्न होगा। जॉब व व्यवसाय में आपके लिए उपलब्धियों का समय है। शुक्र का यह परिवर्तन जॉब में प्रोमोशन का कोई बड़ा अवसर दे सकता है। प्रत्येक शुक्रवार को श्री कनकधारास्तोत्र का  पाठ करें। लाल व पीला रंग शुभ है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर