Mantras for pregnant ladies : गर्भवती मह‍िलाएं रोज करें बाल श‍िव मंत्र का जाप, माना जाता है गर्भ रक्षा महामंत्र

Bal Shiva Mantra hindi lyrics (गर्भ रक्षा महामंत्र) : Garbh Protection Mantra, Garbh Sanskar in Hindi : प्रेगनेंसी के दौरान बाल श‍िव मंत्र का जाप गर्भ में पल रहे शिशु की रक्षा करने वाला माना जाता है। देखें इस गर्भ रक्षा महामंत्र के ह‍िंदी ल‍िर‍िक्‍स।

Garbh Protection Mantra, Garbh Protection Mantra in hindi, Bal Shiva Mantra for pregnancy, garbha raksha mantra for pregnancy in hindi, Garbha raksha mantra for pregnancy, Garbh Raksha mantra for pregnant women,Bal Shiva Mantra, Bal Shiva Mantra in hindi,
Bal Shiva Mantra in hindi  
मुख्य बातें
  • बाल श‍िव मंत्र भगवान भोलेनाथ को समर्पित है
  • मान्‍यता है क‍ि गर्भावस्था में इस मंत्र को पढ़ने से भोलेनाथ का आशीर्वाद सदैव गर्भ में पल रहे शिशु पर बना रहता है
  • यह मंत्र गर्भ में पल रहे शिशु के साथ-साथ माता की भी रक्षा करने वाला माना जाता है

Garbh Protection Mantra for pregnant ladies: शादी के बाद हर व्यक्ति को संतान प्राप्ति की चाह होती है। हर माता-पिता चाहते हैं, कि उनका जन्म लेने वाला संतान बेहद सुंदर, संस्कारी, बुद्धिमान और दीर्घायु हो। लेकिन आज के परिवेश में स्वस्थ संतान को जन्म देना काफी मुश्किल हो गया है। बहुत सारे बच्चे, तो गर्भ में ही मर जाते हैं। कुछ तो गर्भ में ही खतरनाक बीमारियों का शिकार बन जाते हैं। यदि आप अपने गर्भ में पल रहे शिशु को हेल्थी देखना चाहती है, तो आपको रोजाना ये मंत्र जरूर पढ़ना चाहिए। इस मंत्र की सबसे बड़ी खासियत यह है, कि इसे पढ़ने से बच्चा स्वस्थ तो होता ही है, बल्कि भोलेनाथ का आशीर्वाद सदा उसके सिर पर बना रहता है।

Bal Shiva Mantra in Hindi, गर्भ रक्षा महामंत्र 

ॐ बालशिवाय विद्महे काली पुत्राय धीमहि तन्नो बटुक प्रचोदयात् ...

बाल श‍िव मंत्र जाप के लाभ 

यदि प्रेगनेंसी के दौरान किसी महिला का बार-बार गर्भपात हो जाता हो, तो यह मंत्र उनकी उस पीड़ा को बहुत जल्द दूर कर सकता है। वेद-पुराणों में इस मंत्र का विशेष महत्व है। पंडितों के अनुसार यह मंत्र गर्भ में पल रहे शिशु के साथ साथ जन्म देने वाली माता का भी सदैव रक्षा करता हैं।  गर्भावस्था में इस मंत्र को पढ़ने से जच्चे और बच्चे के आसपास भी बुरी साया नहीं भटकता हैं। धर्म के अनुसार  प्रेगनेंसी के समय यदि माता रोजाना इस मंत्र  को पढ़े या सुनें, तो उनके गर्भ में पल रहे बच्चे में संस्कार आने के साथ-साथ उनकी दीर्घायु हो सकती हैं। 

डिस्क्लेमर : यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्‍स नाउ नवभारत इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है। 


 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर