Lunar Eclipse 2022: चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियों को रखना होगा खास ध्यान, इन कामों से करें तौबा

Lunar Eclipse 2022 Pregnancy Precautions:चंद्र ग्रहण को लेकर कई तरह की मान्यताएं हैं, जिसके अनुसार सभी व्यक्तियों को ग्रहण के दौरान कई तरह के कार्यों को करने पर मनाही होती है। लेकिन गर्भवती स्त्रियों को इस दौरान खास सावधानी बरतने की जरूरत होती है।

Eclipse Pregnancy Precautions
चंद्र ग्रहण 
मुख्य बातें
  • ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियों को नहीं करने चाहिए कई काम
  • गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता है ग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव
  • भारत में दिखाई नहीं देगा साल का पहला चंद्र ग्रहण

Lunar Eclipse 2022 Precautions for Pregnant Women: साल का पहला चंद्र ग्रहण वैशाख पूर्णिमा के दिन सोवार,16 मई को लग रहा है। चंद्र ग्रहण को लेकर कई तरह की धार्मिक मान्यताएं हैं। जिसके अनुसार ग्रहण को शुभ नहीं माना जाता है। कहा जाता है कि ग्रहण के दौरान कई तरह की नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है, जिसका दुष्प्रभाव व्यक्ति पर पड़ता है। लेकिन ग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव गर्भ में पल रहे बच्चे पर पड़ता है। इसलिए ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियों को विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है, जिससे की अजन्मे शिशु पर इसका असर ना पड़े। 

चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्री द्वारा किए गए कार्यों का असर गर्भ में पल रहे शिशु पर पड़ता है। इससे जन्म के बाद बच्चे में शारीरिक विकृतियां आ सकती है। इसलिए प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए यह जानना बेहद जरूरी है कि चंद्र ग्रहण के दौरान किन कामों को करने से बचना चाहिए, जिससे कि गर्भ में पल रहे शिशु पर इसका दुष्प्रभाव ना पड़े।

Also Read: Lunar Eclipse 2022: चंद्र ग्रहण के दौरान करें ये खास उपाय, बुरे प्रभाव होंगे दूर

चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियां ना करें ये काम

  • ग्रहण के दौरान भोजन करने की मनाही होती है। लेकिन गर्भवती महिला के ज्यादा देर भूखे रहने का असर शिशु के स्वास्थ्य पर पड़ेगा। यदि ग्रहण की अवधि लंबी हो तो आप भूखे ना रहे जूस या पानी वगैरह पीते रहें। लेकिन बहुत ज्यादा या भारी भोजन ग्रहण के दौरान करने से बचें।
  • चंद्र ग्रहण के दौरान किसी भी तेज धार वाली वस्तु जैसे कैंची, पिन ,सुई, चाकू या छुरी का इस्तेमाल ना करें। ऐसा करने के जन्म के बाद बच्चे के शरीर में जन्मचिह्न आ सकते हैं।
  • ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्री को बाहर नहीं निकलना चाहिए। क्योंकि ग्रहण की छाया के प्रभाव से गर्भ में पल रहे बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है।
  • गर्भवती स्त्रियों को ग्रहण के दौरान यात्रा करने से भी बचना चाहिए। इस समय यात्रा करना शुभ नहीं माना जात है।

भारत में नहीं दिखाई देगा साल का पहला चंद्र ग्रहण

वैसे तो साल का पहला चंद्र ग्रहण भारत में नहीं देखा जा सकेगा। इसलिए यहां इसका सूतक काल भी मान्य नहीं होगा। लेकिन धार्मिक आस्था के अनुसार आप ग्रहण के दुष्प्रभाव से बचने और गर्भ में पल रहे बच्चे की सुरक्षा के लिए कुछ सावधानियां बरत सकते हैं।   

(डिस्क्लेमर: यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्‍स नाउ नवभारत इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर