Guru Purnima 2021 date: कब है जुलाई 2021 में गुरु पूर्णिमा, बन रहा है सर्वार्थ सिद्धि योग, जानें महत्‍व

Guru Purnima 2021: हिंदू धर्म शास्त्रों में गुरु पूर्णिमा तिथि का विशेष महत्व बताया गया है। आषाढ़ मास की पूर्णिमा तिथि को गुरु पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है। इस दिन वेद व्यास जी का जन्मोत्सव मनाया जाता है।

Guru purnima, guru purnima 2021, guru purnima 2021 date
Guru Purnima 2021 (Pic: Istock) 

मुख्य बातें

  • आषाढ़ मास की पूर्णिमा तिथि बेहद अनुकूल है, इस दिन गुरुओं की विशेष पूजा और अर्चना से जातकों को शुभ फल की प्राप्ति होती है।
  • हिंदू धर्मावलंबी के साथ यह तिथि बौध और जैन धर्म में विश्वास रखने वाले लोगों के लिए भी महत्वपूर्ण मानी जाती है।
  • इस वर्ष यह तिथि 24 जुलाई के दिन पड़ रही है, इस बार गुरु पूर्णिमा पर सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है।

Guru Purnima 2021 date: गुरुजनों को समर्पित गुरु पूर्णिमा सनातन धर्म में बहुत विशेष मानी गई है। इस वर्ष यह तिथि 24 जुलाई के दिन पड़ रही है। मान्यताओं के अनुसार, यह तिथि गुरुओं को समर्पित है। इस दिन गुरुओं की विशेष पूजा से जीवन में सुख, समृद्धि बनी रहती है। इसके साथ, यह जीवन में शांति  लेकर आता है। गुरुओं की पूजा से ज्ञान में वृद्धि होती है तथा हर काम नें सफलता मिलती है। यह कहा गया है कि गुरुओं का मुकाम देवों से भी ऊंचा है। इसीलिए इस दिन गुरुओं की पूजा से देवी-देवता भी प्रसन्न होते हैं। ज्योतिष यह बता रहे हैं कि इस वर्ष गुरु पूर्णिमा तिथि पर सर्वार्थ योग बन रहा है। 

यहां जानिए, गुरु पूर्णिमा 2021 की तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व। 

Guru purnima 2021 date in hindi गुरु पूर्णिमा तिथि: - 24 जुलाई 2021, शनिवार 

गुरु पूर्णिमा तिथि प्रारंभ: - 23 जुलाई 2021, शुक्रवार सूबह (10:44) 

गुरु पूर्णिमा तिथि समापन: - 24 जुलाई 2021, शनिवार सुबह (08:07) 

सर्वार्थ सिद्धि योग प्रारंभ: - 24 जुलाई 2021, दोपहर (12:40)

सर्वार्थ सिद्धि योग समापन: - 25 जुलाई 2021, सुबह (05:39) 


Guru purnima significance गुरु पूर्णिमा का महत्व 

महाभारत और 18 पुराणों के रचयिता गुरु वेद व्यास जी का जन्म आषाढ़ मास की पूर्णिमा तिथि पर हुआ था। इस दिन वेद व्यास जी की विशेष रूप से पूजा की जाती है। गुरुओं को समर्पित यह तिथि बहुत अनुकूल मानी जाती है। गुरुओं की पूजा से ज्ञान की प्राप्ति होती है और शुभ फल मिलता है। बौध धर्म में विश्वास रखने वाले लोग यह मानते हैं कि इस दिन गौतम बुध ने अपना पहला उपदेश दिया था। इस दिन गौतम बुध की भी विशेष पूजा की जाती है। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर