Kark Sankranti 2021 Rashifal : कर्क संक्रांति कब है? मेष से मीन तक- जानिए किस राशि पर पड़ेगा क्या प्रभाव

Kark Sankranti July 2021 Date: इस साल जुलाई 2021 में कर्क संक्रांति 16 जुलाई 2021 को होने जा रही है। जानिए क्या है ये ज्योतिषीय घटना और किस राशि पर पड़ेगा इसका क्या प्रभाव?

Kark Sankranti 2021 July in Hindi
कर्क संक्रांति 2021 जुलाई 

मुख्य बातें

  • इस साल 16 जुलाई 2021 को होने वाली है कर्क संक्रांति।
  • सभी 12 राशियों पर आएंगे अलग अलग प्रभाव।
  • यहां जानिए मेष-मीन राशि तक कर्क संक्रांति 2021 का राशिफल और इसका महत्व।

Kark Sankranti 2021 July in Hindi: सूर्य एक राशि में एक माह रहते हैं। 16 जुलाई 2021 दिन शुक्रवार को सूर्य मिथुन से कर्क राशि में प्रवेश कर 30 दिन इस राशि में रहेंगे। कर्क का स्वामीग्रह चन्द्रमा है। सूर्य आत्मा हैं। चन्द्रमा मन है। चन्द्रमा का अपना प्रकाश नहीं होता वरन यह सूर्य के प्रकाश से प्रकाशित होता है। चन्द्रमा धर्म व आध्यात्मिक विचारों का कारक ग्रह है। सूर्य का कर्क में होना बहुत ही शुभ है। कर्क का स्वामीग्रह चन्द्रमा आत्मबल, स्थिरता, रचनात्मकता व विकास का कारक ग्रह है।

आषाढ़ का पवित्र महीना है। 25 जुलाई को श्रावण माह लग जायेगा। पवित्र नदी में स्नान करें। रूद्राभिषेक करें। दान पुण्य करें। कुशोदक से रूद्राभिषेक स्वास्थ्य के लिये लाभदायक है व सूर्य के द्रव्यों गुड़ व मसूर का दान अनन्त गुणा फलदायी है। सूर्य का कर्क राशि में होना व्यवसाय जगत के लिए बेहतर समय रहेगा।

कुछ राज्यों में राजनीतिक उथल पुथल हो सकता है। कुछ हिट फिल्में आएंगी।फ़िल्म व अंतर्राष्ट्रीय व्यवसाय के लिए यह गोचर बहुत ही शुभ है। यह गोचर प्राकृतिक दुर्घटना व महामारी को विस्तार भी दे सकता है। चन्द्रमा की वस्तुएं दूध,चावल इत्यादि सबको दान करनी चाहिए।

कर्क संक्रांति 2021 का राशियों पर प्रभाव (Kark Sankranti 2021 Rashifal / Kark Sankranti ka Rashiyon par Prabhav)

1. मेष - सूर्य का चतुर्थ गोचर शुभ है।व्यवसाय में किसी नए  प्रोजेक्ट पर कार्य प्रारंभ करेंगे।  हेल्थ में सुधार आते रहेंगे। जाँब में प्रोमोशन का प्रस्ताव स्वीकार करना चाहिए। छात्रों को कॅरियर में सफलता मिलेगी।नारंगी व पीला रंग शुभ है।प्रत्येक सोमवार को चावल का दान करें।
2. वृष -  व्यवसाय में आपकी स्थिति अब बहुत ही बेहतर होगी। जाँब में आप अपने परफार्मेंस को और बेहतर करेंगे तथा कोई बड़ी सफलता मिलने की उम्मीद है। कोई बड़ा बिजनेस प्रस्ताव स्वीकार करेंगे। व्यवसायिक सोच को विस्तार मिलेगा। प्रत्येक रविवार को गुड़ का दान करें। लाल व नारंगी रंग शुभ है। 

3. मिथुन - कर्क में सूर्य का गोचर इस राशि से द्वितीयस्थ बहुत ही शुभ है लेकिन स्वास्थ्य के प्रति कोई भी लापरवाही मत करें। प्रतिदिन चावल का दान बहुत ही शुभ है। आसमानी व हरा रंग शुभ है। गाय को प्रत्येक मंगलवार को भोजन कराएं। यात्रा में सावधानी बरतें।

4. कर्क - सूर्य 16 जुलाई से एक माह तक इसी राशि में रहेंगे।व्यवसाय व जाँब से सम्बद्ध जातकों के लिए सफलता का समय है।जमीन क्रय कर सकते हैं।पॉलिटिक्स में मित्र आपकी मदद करेंगे। हरा व पीला रंग शुभ है। प्रतिदिन श्री रामचरितमानस का पाठ करें। उड़द का दान करते रहें। 

5. सिंह -  सूर्य का द्वादश गोचर जाँब में थोड़े तनाव व व्यवसाय में संघर्ष को निमंत्रण दे सकता है। राजनीतिज्ञ सफल रहेंगे। रुके धन की प्राप्ति हो सकती है।वाणी के प्रति सचेत रहें । पीला व  सफेद रंग शुभ है। गाय को भोजन देते रहें। भगवान शिव की उपासना करते रहें। 

6. कन्या - कर्क संक्रन्ति आपके लिए बहुत ही शुभ है। जाँब सम्बंधित कई महत्वपूर्ण व बड़े निर्णय इस समय लेंगे। नारंगी व हरा रंग शुभ है।  प्रतिदिन श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का पाठ करें। राजनीतिज्ञों के लिए बहुत ही श्रेयष्कर समय  है।भगवान शिव जी उपासना करते रहें।

7. तुला - सूर्य का दशम गोचर बहुत ही शुभ है।यह समय जाँब व कर्म स्थान के लिए बहुत ही शुभ है। यह परिवर्तन राजनीतिज्ञों के लिए सफलता की प्राप्ति का है। गृह निर्माण में आपकी रुकी योजनाओं शुरू होंगी। धार्मिक अनुष्ठान होंगे। सफेद व बैगनी रंग शुभ है।

8. वृश्चिक - नवम यानी भाग्य स्थान पर सूर्य का गोचर शुभ है।व्यवसाय सम्बन्धी कई रुके कार्य पूर्ण होंगे तथा रुके धन का आगमन होगा। पॉलिटिक्स में प्रगति के मार्ग बनेंगे। स्वास्थ्य सुख में भी सुधार है। पीला व नारंगी रंग शुभ है।

    

9. धनु - राजनीतिज्ञ सफल रहेंगे। सूर्य का अष्टम होना नेत्र रोग दे सकता है।छात्र प्रगति करेंगे। प्रतिदिन गुड़ का दान करते रहें।  बिजनेस में प्रगति को लेकर प्रसन्न रहेंगे। स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें।सूर्य उपासना करें।

10. मकर - सूर्य का सप्तम गोचर इस राशि के लिए जाँब में बहुत कार्य करेगा तथा जीवन साथी के नाम से कोई प्लाट या मकान भी खरीदवा सकता है। व्यवसाय में विशेष सफलता मिलेगी। संतान के विवाह सम्बन्धित किसी निर्णय को लेकर प्रसन्न रहेंगे।हरा व सफेद रंग शुभ है। रविवार को गेंहू का दान करते रहें।

11. कुम्भ - आर्थिक दृष्टि से आशातीत सफलता मिलेगी लेकिन चन्द्रमा का खष्ठम गोचर स्वास्थ्य के प्रति बहुत बेहतर नहीं है। रुकी योजनाएं प्रारम्भ होंगी।धन प्राप्ति  की बाधाएं दूर होंगी। नीला व सफेद रंग शुभ है। प्रत्येक रविवार को सूर्य के बीज मंत्र का जप करें व गेंहू का दान करें।

12. मीन - सूर्य का पंचम गोचर संतान के विवाह सम्बन्धित कोई बड़ा कार्य सम्पन्न कराएगा। जाँब में आपके लिए उपलब्धियों का समय है। सूर्य का यह गोचर शिक्षा में कोई बड़ा अवसर दे सकता है। प्रत्येक रविवार को श्री आदित्यहृदयस्तोत्र का 03 बार पाठ करें। लाल व नारंगी रंग शुभ है। प्रतिदिन अन्न दान करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर