Janmashtami 2022 Date, Puja Timings: कब है जन्माष्टमी का पर्व? जानें पूजा का समय और शुभ मुहूर्त, श्रीकृष्ण को लगाएं इन चीजों का भोग

Krishna Janmashtami 2022 Date, Puja Timings: जन्माष्टमी का त्योहार इस साल 18 और 19 अगस्त दोनों ही दिन मनाई जाएगी। भगवान श्रीकृष्ण का आशीर्वाद पाने के लिए जन्माष्टमी का दिन बेहद खास होता है। जानते हैं जन्माष्टमी पूजा के शुभ मुहूर्त और भोग के बारे में।

Janmashtami 2022 date muhurat bhog
जन्माष्टमी 2022 
मुख्य बातें
  • 18 और 19 अगस्त दो दिन मनाई जाएगी जन्माष्टमी
  • जन्माष्टमी के दिन कृष्ण को चढ़ाएं उनके प्रिय भोग
  • जन्माष्टमी पर बनेगा ध्रुव और वृद्धि योग

Janmashtami 2022 Date Time and Bhog: जन्माष्टमी का पर्व हिंदू कैलेंडर के अनुसार कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को मनाया जाता है। पौराणिक मान्यता है कि इसी दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में अर्धरात्रि में हुआ था। इसलिए इस दिन भगवान श्री कृष्ण के बाल स्वरूप की पूजा अर्चना करने का विधान है। इस बार जन्माष्टमी पर ध्रुव और वृद्धि योग का भी संयोग भी बन रहा है। इस योग में पूजा करना फलदायी होगा। जानते हैं इस साल कब मनाई जाएगी जन्माष्टमी और पूजा के लिए क्या है शुभ मुहूर्त। साथ ही जानते हैं जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण को लगाए जाने वाले स्पेशल भोग के बारे में।

Krishna Janmashtami 2022 Date: कब है श्रीकृष्ण जन्माष्टमी? जानें तिथि, शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

कब है जन्माष्टमी: इस साल जन्माष्टमी की तिथि को लेकर लोगों के बीच मतभेद है। जन्माष्टमी की तिथि 18 अगस्त और 19 अगस्त दो दिन बताई जा रही है। कुछ ज्योतिष जानकारों के अनुसार 19 अगस्त को पूरे दिन अष्टमी तिथि रहेगी। उदयातिथि मान्य होने के कारण 19 अगस्त को जन्माष्टमी मनाई जाएगी। वहीं पंचांग के अनुसार 18 अगस्त रात्रि 09:21 से अष्टमी तिथि शुरू हो जाएगी। ध्रुव और वृद्धि योग भी इसी दिन बन रहा है। ऐसे में 18 अगस्त को जन्माष्टमी का व्रत रखना शुभ होगा। इन्हीं मतभेदों के कारण ही जन्माष्टमी 18 और 19 अगस्त दोनों ही दिन मनाई जाएगी। वैष्णव संप्रदाय और स्मार्त संप्रदाय के लोगों द्वारा जन्माष्टमी भी अलग-अलग दिन मनाई जाएगी।

Chanakya Niti: इन चार लोगों को कभी न लगाएं पैर, चढ़ेगा पाप और सुखी जीवन हो जाएगा बर्बाद

जन्माष्टमी शुभ मुहूर्त

जन्माष्टमी तिथि- 18 अगस्त और 19 अगस्त 2022
अष्टमी तिथि आरंभ- गुरुवार 18 अगस्त रात्रि  09: 21 से 
अष्टमी तिथि समाप्त- शुक्रवार 19 अगस्त रात्रि 10:59 तक
अभिजीत मुहूर्त- 12:05 -12:56 तक 
वृद्धि योग- बुधवार 17 अगस्त  दोपहर 08:56 – गुरुवार 18 अगस्त रात्रि 0841 तक

जन्माष्टमी स्पेशल भोग

जन्माष्टमी पर भगवान श्रीकृष्ण को स्पेशल भोग लगाए जाते हैं। मंदिरों में इस दिन भगवान श्रीकृष्ण के 56 व्यजंनों का भोग तैयार होता है। लेकिन कुछ ऐसी चीजें हैं जो भगवान श्रीकृष्ण को अतिप्रिय हैं और इन चीजों का भोग श्रीकृष्ण को लगाने से कान्हा प्रसन्न होते हैं। जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण को माखन-मिश्री, धनिया पंजीरी, मखाना पाग,खीरा, पंचामृत, लड्डू, पेड़े, खीर आदि चीजों का भोग जरूर लगाएं।

(डिस्क्लेमर : यह पाठ्य सामग्री आम धारणाओं और इंटरनेट पर मौजूद सामग्री के आधार पर लिखी गई है। टाइम्स नाउ नवभारत इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर