नकारात्मकता दूर करने के अलावा सेहत को भी सुधारता है शंख, जानें इसके फायदे 

आध्यात्म
Updated May 11, 2018 | 22:57 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल

शंख घर से नकारात्‍मकता दूर करता है और खुशहाली लाता है। बहुत से लोग हैं जिन्‍हें नहीं पता कि शंख बजाने से स्वास्थ्य लाभ भी होता है। यह घर से नकारात्‍मकता दूर करता है और खुशहाली लाता है। शंख बजाने से आपके शरीर के कई रोग दूर हो जाते हैं। 

shankh
shankh  |  तस्वीर साभार: BCCL

नई दिल्‍ली: पूजा-पाठ के समय शंक बजाना काफी शुभ माना जाता है। शंख एकमात्र ऐसी चीज है जो समुद्र मंथन से 14 रत्‍नों के बीच प्राप्‍त हुआ था। जिस घर में शंख ना हो वहां लक्ष्‍मी कभी वास नहीं करती। मां लक्ष्‍मी और विष्‍णु जी दोनों ही अपने हाथों में शंक लिये रहते हैं। यह घर से नकारात्‍मकता दूर करता है और खुशहाली लाता है। इसे आवाज जहां तक जाती है वहां तक वायु शुद्ध हो जाती है। 

शंख ती प्रकार के होते हैं, दक्षिणावर्ती, मध्यावर्ती और वामावर्ती। जिसमें से दक्षिणावर्ती शंख दाई ओर खुलता है,  मध्यावर्ती बीच से और वामावर्ती बाईं ओर से खुलता है। 

ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्‍हें नहीं पता कि शंख बजाने से स्वास्थ्य लाभ भी होता है। शंख बजाने से आपके शरीर के कई रोग दूर हो जाते हैं, आइये जानते हैं इसे बजाने के क्‍या फायदे होते हैं। 

Also read: अगर आपकी हथेली पर भी बनता है अर्ध चंद्रमा तो बहुत भाग्‍यशाली हैं आप 

यदि आप नियमित जोार से शंख बजाते हैं तो आपके फेफड़ों में मजबूती आती है। ऐसे लोग जिन्‍हें दमा हैं उन्‍हें शंख जरूर बजाना चाहिये। 


1. फेफड़ा बनता है मजबूत 
शंख बजाने से कई तरह के फेफड़ों के रोग दूर होते हैं जैसे दमा, कास प्लीहा यकृत और इन्फ्लून्जा आदि रोगों में शंख ध्वनि फायदा पहुंचाती है।

2. त्‍वचा के रोग होते हैं दूर 
शंख को बजाने से त्‍वचा से संबन्‍धित सारी समस्‍याएं दूर होती हैं। रात में शंख में पानी भरें और सुबह उठ कर इस पानी को अपने चेहरे पर लगाएं। इससे आपकी त्‍वचा संबंधी जो भी बीमारियां होंगी वो दूर हो जाएंगी। 

3. हड्डियां में मजबूती आती है 
शंख में रखे पानी को नियमित पीने से हड्डियां मजबूत होती है और दांत जल्‍दी खराब नहीं होते। 

Also read: कुंडली में होगा ये योग, तो बच्‍चा करेगा इस फील्‍ड में TOP

4. कब्‍ज दूर होता है 
जिन लोगों को कब्‍ज की शिकायत होती है वो अगर रात भर शंख में पानी भर कर रखें और सुबह उसी पानी का 3 दिनों तक नियमित सेवन करें तो उन्‍हें कब्‍ज से मुक्‍ती मिल सकती है। 

5. हकलाना बंद होता है 
वे लोग जो बात-बात पर हकलाने लगते हैं अगर शंख बजाएं तो उनकी स्‍पीच में सुधार आएगा और उनके वोकल कॉड्स का व्‍यायाम होगा। 

6. विष नहीं ठहरता 
यदि किसी को विषैला कीड़ा काट ले तो उसके काटे हुए स्‍थान पर गो मूत्र लगाएं। यह गो मूत्र शंख में भर कर रखा हुआ होना चाहिये। इससे जहर तुरंत ही उतर जाएगा। 

7. कभी हार्ट अटैक नहीं होगा 
जो लोग पूजा करते समय नियमित शंख बजाते हैं उन्‍हें कभी हार्ट आटैक नहीं आता। इससे नसों में हुआ ब्‍लॉकेज खुल जाता है। 

धर्म व अन्‍य विषयों की Hindi News के लिए आएं Times Now Hindi पर। हर अपडेट के लिए जुड़ें हमारे FACEBOOK पेज के साथ। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर