Hartalika Teej Ke Upay : हरतालिका तीज पर करें ये खास उपाय, विवाह से जुड़ी हर समस्या हो जाएगी खत्म

Hartalika Teej Upay Totke in hindi : हरतालिका तीज का व्रत सुहाग के लिए रखा जाता है। इसलिए इस दिन उन लोगों को खास कर कुछ उपाय जरूर करने चाहिए, जिनके जीवन में विवाह से जुड़ी समस्याएं चल रही हों।

Hartalika Teej Upay, हरतालिका तीज
Hartalika Teej Upay, हरतालिका तीज 

मुख्य बातें

  • हरतालिका तीज के दिन पति-पत्नी साथ में करें पूजा
  • पति के हाथ से इस दिन सुहाग की चीजें पहनें
  • खीर का प्रसाद चढ़ाकर अगले दिन दंपति साथ में खाएं

हरतालिका तीज 21 अगस्त को है और इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु और रक्षा के लिए निर्जला व्रत करती हैं। विवाह से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या यदि किसी के जीवन में हो तो उसे इस दिन व्रत जरूर करना चाहिए और कुछ खास उपाय यदि इस दिन कर लिए जाएं तो वैवाहिक जीवन की हर समस्या समाप्त हो सकती है। जिन लोगों की कुंडली में विवाह सुख नहीं है, उन्हें गौरी-शंकर की पूजा जरूर करनी चाहिए। साथ ही जिनके विवाह में बाधाएं आ रहीं या विवाह तय होकर टूट जा रहा हो, उन्हें तीज का व्रत करने के साथ कुछ खास उपाय जरूर कर लेने चाहिए। इस दिन किए गए उपाय जरूर फलीभूत होते हैं।

इस दिन व्रत विशेषकर सुहागिनेंं रखती हैं, लेकिन पति-पत्नी में प्रेम न हो अथवा विवाद रहता हो तो दोनों को ये व्रत करना चाहिए। पुरुष भी यह व्रत कर अपने वैवाहिक जीवन को सुखमय बना सकते हैं। यदि पति-पत्नी साथ में हरतालिका तीज का व्रत रखते हैं तो इसका पुण्यलाभ दोगुने से भी ज्यादा प्राप्त होता है। इस दिन पति-पत्नी को साथ में मिलकर मिट्टी या बालू से भगवान शिव और देवी पार्वती की मूर्ति बनाकर पूजा करनी चाहिए। ऐसा करने से जीवन की समस्याए भी दूर होती हैं और दोनों में प्रेम भी बढ़ता है।

विवाह से जुड़ी हर समस्या का हल इन उपायों से मिलेगा

  1. यदि विवाह नही हो पा रहा तो तीज के दिन पार्थिव शिवलिंग बनाकर 21 बेल पत्र उन्हें चढ़ाएं और कम से कम 11 या 21 बार उनकी परिक्रमा करें। पूजा के बाद शिवलिंग को बेल के पेड़ के नीचे ही रख दें। इसके बाद देवी कात्यायिनी के विवाह मंत्र का जाप करें - कात्यायिनी महामाये महायोगिनीधीश्वरी नन्द-गोपसुतं देवि पतिं में कुरु ते नम: 

  2. यदि पति-पत्नी के बीच प्रेम न हो तो दोनों को हरितालिका तीज की शाम को शिव-पार्वती के मंदिर में एक साथ मिलकर शुद्ध घी के 11 दीया जलाना चाहिए। साथ ही प्रार्थना करनी चाहिए कि उनके जीवन में प्रेम का वास करें। कुंवारी कन्याएं भी यह काम कर सकती हैं।

  3. यदि विवाह में बाधांए आ रही हों तो कुंवारी ब्राह्मण कन्या को वस्त्र और मिष्ठान भेंट करें। ऐसा करने से विवाह पर आया संकट दूर होगा।

  4. यदि विवाह योग कुंडली में न बन रहा तो इस दिन कन्याओं को देवी पा‌र्वती को हल्दी की 11 गांठ चढ़ा कर उनके समक्ष अपने कष्ट निवारण की प्रार्थना करनी चाहिए।

  5. यदि पति-पत्नी के बीच कोई तीसरा आ रहा हो अथवा प्रेम का अभाव हो तो इस दिन दंपति को साथ में भगवान शिव-पार्वती का अभिषेक दूध में हल्दी या केसर डालकर करना चाहिए।

  6. हरितालिका तीज के दिन खीर बना कर उसे भगवान को भोग लगाएं। अगले दिन पति-पत्नी इस प्रसाद को एक कटोरी मे साथ में खाएं। वैवाहिक सुख बढ़ेगा।

  7. यदि आपका सुहाग आपसे रुठा रहता हो तो इस दिन सुहागिनों को माता पार्वती को चुनरी, नथ और बिछिया और पायल अपने हाथों से पहनााना चाहिए।

  8. तीज के दिन अपने पति से मांग में सिंदूर डलवाएं। साथ ही सुहाग की चीजें पति के हाथों से पहनें। इससे दोनों के बीच प्रगाढ़ संबंध विकसित होगा।

  9. हरतालिका तीज पर गणेश मंदिर में सूखे मालपुए अर्पित करने से भी दांपत्य जीवन में कभी प्यार की कमी नहीं होगी।

  10. इस दिन पत्नी अपने हाथों से पान का बीड़ा लगाकर शिव जी को चढ़ाएं और फिर पति को दें। वैवाहिक जीवन में प्रेम बढ़ेगा।

भगवान शिव और देवी पार्वती के पूरे परिवार की पूजा करने से घर-परिवार में हमेशा सुख,शांति और प्रेम का वास बना रहता है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर