Haridwar kumbh2021:कोरोना संकट के बीच 'हरिद्धार महाकुंभ' मेले का हुआ शुभारंभ, ध्यान दें इन अहम बातों पर

आज से हरिद्वार महाकुंभ 2021 (Haridwar Maha Kumbh) की औपचारिक शुरुआत हो गई है और सुबह से ही हर की पौड़ी पर श्रद्धालु गंगा स्नान कर रहे हैं।

Haridwar kumbh 2021 Kumbh Mela begins today entry ban without corona test
एंट्री के पहले अब हर श्रद्धालुओं को पहले से ही रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी होगा 

मुख्य बातें

  • एंट्री के पहले अब हर श्रद्धालुओं को पहले से ही रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी होगा
  • श्रद्धालुओं को सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस का पालन करना होगा
  • लोगों को मेला क्षेत्र में मास्क लगाकर रखना होगा साथ ही, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा

हरिद्वार में आज से महाकुंभ-2021 का शुभारंभ हो गया है 30 अप्रैल तक चलने वाले महाकुंभ में गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं को कोविड-19 की 72 घंटे पहले तक की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट (RTPCR Negative Report) लानी होगी। बिना कोविड निगेटिव रिपोर्ट के श्रद्धालु गंगा स्नान नहीं कर पाएंगे, गौर हो कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कुंभ मेले का आयोजन हो रहा है और कोरोना महामारी के चलते अब शासन-प्रशासन सख्त हैं सरकार ने श्रद्धालुओं से कोविड-19 के नियमों का पालन करने की अपील की है।

देश और विदेश से भारी तादात में स्नान करने के लिए श्रद्धालु यहां पर आते हैं पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं जगह-जगह पुलिस जवानों को तैनात किया गया है। 

हरिद्वार महाकुंभ में आने के लिए श्रद्धालुओं को www.haridwarkumbhmela2021.com और www.haridwarkumbhpolice2021.com पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा, पंजीकरण कराने के बाद हरिद्वार आने वाले श्रद्धालुओं को सीधे प्रवेश दिया जा रहा है।

मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप होना भी जरूरी किया गया है, गौर हो कि उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को कोविड -19 के मद्देनजर कुंभ उत्सव क्षेत्र में रोजाना 50,000 कोविड -19 परीक्षण करने का आदेश दिया है।

वहीं इससे पहले हरिद्वार में कुंभ मेला परियोजना क्षेत्र में भूमिगत केबल परियोजना का उद्घाटन किया गया। इस परियोजना से क्षेत्र के उपभोक्ताओं को निर्बाध रूप से बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित की जा सकेगी और हवा चलने तथा बारिश के कारण बिजली की आपूर्ति में होने वाली बाधा खत्म हो जाएगी।

मेले में प्रवेश के लिए श्रद्धालुओं को सरकार द्वारा जारी की गई गाइडलाइंस का पालन करना होगा, लोगों को मेला क्षेत्र में मास्क लगाकर रखना होगा, साथ ही, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सैनिटाइजेशन समेत अन्य कोविड प्रोटोकॉल्स का भी ख्याल रखना होगा

एंट्री के पहले अब हर श्रद्धालुओं को पहले से ही रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी होगा,गाइडलाइंस के अनुसार, कुंभ में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को प्रवेश नहीं मिलेगा, राज्य के सभी बॉर्डर पर रैंडम चेकिंग होगी  वहीं रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और बॉर्डर चेक पोस्ट पर भी चेकिंग हो रही है।

गौर करें ये है सब है बेहद जरूरी- 

72 घंटे के अंदर की कोरोना रिपोर्ट लाना जरूरी 
पहले से कराए गए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का SMS दिखाना जरूरी
हेल्थ टेस्ट रिपोर्ट साथ होनी चाहिए
कुंभ में आने वाले श्रद्धालु एक्टिव कंटेन्मेंट जोन से न आते हों

हरिद्वार कुंभ मेला के दौरान अप्रैल के महीने में तीन शाही स्नान-

पहला शाही स्नान 12 अप्रैल (सोमवती अमावस्या)
दूसरा शाही स्नान 14 अप्रैल (बैसाखी) 
तीसरा शाही स्नान 27 अप्रैल (पूर्णिमा के दिन) 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर