Good Friday Significance: आखिर क्यों मनाया जाता है गुड फ्राइडे और क्या है इसका इतिहास

ईसाई धर्म में आस्था रखने वाले लोगों के लिए गुड फ्राइडे एक अहम तिथि है। बाइबल के अनुसार इस दिन ईसा मसीह को सूली पर लटकाया गया था।

Good Friday
Good Friday  

मुख्य बातें

  • गुड फ्राइडे के दिन ईसाई धर्म के प्रभु ईसा मसीह को सूली पर लटकाया गया था।
  • जब ईसा मसीह यरूशलम आए थे तब उनका स्वागत खजूर की डालियों को बिछाकर किया गया था।
  • यीशु के खिलाफ षड्यंत्र रच कर जिस जगह उन्हें सूली पर लटकाया गया था उसे गोलगोथा कहा जाता है।

Good Friday Significance : अप्रैल का महीना शुरु हो गया है, इस महीने के शुरू होते ही कई पर्व और त्योहार मनाए जाएंगे जो सनातन धर्म के साथ ईसाई धर्म के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण माने जाते हैं। आपने गुड फ्राइडे का नाम तो सुना ही होगा और इस दिन अपने घरों में छुट्टी का लुफ्त भी उठाया होगा। लेकिन शायद ही आप इस दिन से जुड़े इतिहास के बारे में जानते होंगे।

ना ही सिर्फ विश्व इतिहास के लिए बल्कि ईसाई धर्म में आस्था रखने वालों के लिए भी गुड फ्राइडे का दिन बहुत अहम है। बाइबल के अनुसार, इसी दिन ईसाई धर्म के प्रभु ईसा मसीह के खिलाफ षड्यंत्र रच कर उन्हें सूली पर लटकाया गया था। इस वर्ष गुड फ्राईडे 2 अप्रैल को मनाया जाएगा। दरअसल, गुड फ्राइडे के साथ ईसाई धर्म के लोगों के लिए पाम संडे और ईस्टर डे भी महत्वपूर्ण माना जाता है।

क्यों मनाया जाता है पाम संडे, गुड फ्राइडे और ईस्टर डे?

वर्ष 2021 में पाम संडे 28 मार्च को था, वहीं गुड फ्राइडे और ईस्टर संडे 2 अप्रैल और 4 अप्रैल को मनाए जाएंगे। बाइबल, यूहन्ना 18 और 19 में इन तीन दिनों में जो घटना घटी थी उसका उल्लेख किया गया है। बाइबल के अनुसार, पाम संडे पर ईसाई धर्म के प्रभु ईसा मसीह यरूशलम पहुंचे थे जहां लोगों ने उनका स्वागत खजूर की डालियों को बिछाकर किया था, इस घटना के वजह से इस दिन को पाम संडे का नाम दिया गया है। जब वह यरूशलम यानी इजरायल की राजधानी जेरूसलम पहुंचे थे तब उन्हें सूली पर लटकाया गया था। जिस दिन उनकी मृत्यु हुई थी उस दिन को गुड फ्राइडे के नाम से जाना जाता है। आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे की, ठीक 2 दिन बाद यानी रविवार के दिन मेरी मेग्दलेन नाम की एक महिला ने ईसा मसीह को उनके कब्र के पास देखा था। यह चमत्कारी घटना जिस दिन हुई थी उसे ईस्टर संडे कहा गया।

गुड फ्राइडे से जुड़े अन्य रोचक बातें

आज भी इजराइल की राजधानी जेरूसलम में वह जगह मौजूद है जहां ईसा मसीह को सूली पर चढ़ाया गया था। यह जगह गोलगोथा के नाम से पूरे विश्व में मशहूर है। जिस जगह गोलगोथा मौजूद है वह हिल ऑफ द केलवेरी के नाम से जाना जाता है। इसी जगह पर चर्च ऑफ फ्लेजिलेशन स्थित है जहां सार्वजनिक रूप से ईसाई धर्म के प्रभु ईसा मसीह की निंदा की गई थी। मान्यताओं के अनुसार, चर्च ऑफ फ्लेजिलेशन के मार्ग को दर्द या पीड़ा का मार्ग कहा जाता है। इस स्थाश पर नौ और ऐतिहासिक स्थल स्थित है।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर