Gau Mata ke shubh sanket : गाय के दरवाजे पर रंभाने को लेकर है ये मान्‍यता, जानें गौ माता के शुभ-अशुभ संकेत

Gau mata ke shubh sanket: महाभारत काल के अनुसार जो व्यक्ति सुबह जागने के बाद सबसे पहले गौ माता के दर्शन करता है उसे कभी अकाल मृत्‍यु नहीं हो सकती। जानें गौ माता से संबंधित कुछ ऐसे ही शकुन।

10 Omen Of The Cow, Omen Of Cow, cows omen, cow mooing omen, three eyed cow omen, cow sneezing omen, cow with 3 eyes meaning, Meaning of cow coming to the door, cow coming inside house in dream, गाय के शकुन, गाय के शगुन और अपशगुन, गाय के बोलने का शगुन, दर
गाय के शगुन और अपशगुन  

मुख्य बातें

  • गाय में सभी देवी देवताओं का माना गया है वास।
  • ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार गौ माता के पैरों में समस्त तीर्थ स्थल का होता है वास, प्रतिदिन पूजा करने से समस्त कष्टों का होता है नाश।
  • भूलकर भी गाय को ना मारें लात, इससे जीवन में अकाल मृत्यु की संभावना बढ़ जाती है।

Gau mata ke shubh sanket : सनातन हिंदू धर्म में गाय को देवी मां का स्वरूप माना जाता है। मान्यता है कि गाय में 33 करोड़ देवी देवता वास करते हैं। शास्त्रों के अनुसार गौ माता में सुरभि नामक लक्ष्मी वास करती हैं, इसलिए कहा जाता है जहां गाय का वास होता है वहां मां लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है। शास्त्रों में गाय के कुछ शुभ संकेत वर्णित किए गए हैं, जिससे आप जान सकते हैं कि आपको लाभ मिलने वाला है और जल्द ही आपको अपने कार्यक्षेत्र में सफलता मिलने वाली है।

गाय के शुभ अशुभ लक्षण, गाय के शुभ अशुभ संकेत

  1. रास्ते में गौ माता का दर्शन होता है शुभ : यदि आप घर से किसी शुभ कार्य के लिए निकल रहे हैं और रास्ते में आपको गौ माता के दर्शन हो जाते हैं, तो आप अपने कार्य में अवश्य सफल होंगे। उस समय यदि गाय की आवाज भी सुनाई दे जाए तो इससे सफलता मिलने की संभावना बढ़ जाती है।
  2. गाय का दरवाजे पर आकर खड़ा होना होता है शुभ : गाय का दरवाजे पर आकर रंभाना यानि बोलना शुभ संकेत माना जाता है। शास्त्रों में वर्णित कथा के अनुसार यह दर्शाता है कि भगवान साक्षात आपकी सभी गलतियों को क्षमा करने के लिए द्वार पर खड़े हैं। इस दौरान गाय को रोटी खिलाने से पुण्य की प्राप्ति होती है।
  3. गाय का रंगोली में पैर रखना : शास्त्रों के अनुसार आंगन या घर के बाहर बनी रंगोली में गाय का पैर रखना या वहां खड़े हो जाना बहुत ही शुभ सूचक माना जाता है। यह सर्वकामना सिद्धिदायक होता है।
  4. गाय को भूलकर भी ना लांघें : पद्मपुराण और कर्मपुराण के अनुसार गाय को कभी लांघकर नहीं जाना चाहिए। इससे बनता काम भी बिगड़ जाता है। शास्त्रों के अनुसार गाय को लांघना या लात मारना मौत को दावत देना है, इससे जीवन में अकाल मृत्यु की संभावना बढ़ जाती है।
  5. पीठ पर हाथ फेरने के फायदे : गौ माता की पीठ पर कूबड़ होता है, शास्त्रों के अनुसार कूबड़ में सूर्य केतु नाड़ी होती है। प्रतिदिन पीठ पर हांथ फेरने से समस्त रोगों का नाश होता है और व्यक्ति स्वस्थ रहता है।
  6. नवग्रहों की शांति : गाय को नियमित तौर पर भोजन कराने से नवग्रहों की शांति होती है। ऐसे में नियमित तौर पर खुद भोजन करने से पहले गाय को भोजन कराएं। ऐसा करने से जीवन में सुख समृद्धि का वास होता है।
  7. वातावरण होता है शुद्ध : गाय के गोबर से बने उपलों से प्रतिदिन घर, मंदिर व दुकान, परिसर में घूप करने से वातावरण शुद्ध होता है और सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।
  8. सफलता की प्राप्ति : यदि लगातार मेहनत और संघर्ष के बाद भी आपको सफलता की प्राप्ति नहीं हो रही है यानि आपके हांथ की रेखा सोई हुई है तो हथेली पर गुड़ और चना रखकर गाय को खिलाएं। इससे सोए हुए भाग्य की रेखा खुल जाती है और सफलता की प्राप्ति होती है।
  9. गाय को रोटी खिलाने से : जो भी मनुष्य प्रतिदिन गाय की सेवा करता है और गाय को चारा देने के बाद रोटी खिलाता है, उसके कार्य में आने वाली सभी विघ्न बाधाएं अपने आप खत्म हो जाती हैं।

ये भी जानें 

ब्रह्मवैवर्त पुराण के अनुसार गौ माता के पैरों में समस्त तीर्थ स्थल का वास माना गया है, जो व्यक्ति गाय के पैरों में लगी मिट्टी का नित्य तिलक लगाता है उसकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं और विशेष फल की प्राप्ति होती है। वहीं महाभारत काल के अनुसार जो व्यक्ति सुबह जागने के बाद सबसे पहले गौ माता के दर्शन करता है उसे कभी अकाल मत्यु नहीं हो सकती। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर