19 मई 2022 का पंचांग: गुरुवार को विष्णु उपासना व व्रत का पुण्य है, जानें क्या कहता है आपका अंकफल

Aaj ka Panchang 19 May 2022: भगवान विष्णु  जी को प्रसन्न करने का पावन व्रत है। आज भगवान शिव जी की उपासना के साथ माता दुर्गा जी की पूजा भी करें। यहां पढ़ें गुरुवार का पंचांग और जानें शुभ-अशुभ मुहूर्त।

 पंचांग, aaj ka panchang
पंचांग, aaj ka panchang 
मुख्य बातें
  • भगवान विष्णु  जी को प्रसन्न करने का पावन व्रत है।
  • आज भगवान शिव जी की उपासना के साथ माता दुर्गा जी की पूजा भी करें।
  • पढ़ें गुरुवार का पंचांग और जानें शुभ व अशुभ मुहूर्त।

19 May 2022 Ka Panchang: आज ज्येष्ठ माह कृष्ण पक्ष की चतुर्थी है। मूल नक्षत्र है। आज लोग संकष्टी चतुर्थी का व्रत रखकर गणेश जी की पूजा करते हैं। आज गुरुवार का भी पावन व्रत है। भगवान विष्णु  जी को प्रसन्न करने का पावन व्रत है। आज भगवान शिव जी की उपासना के साथ माता दुर्गा जी की पूजा भी करें। आज सत्यनारायण कथा करने का बहुत सुंदर अवसर है। मंदिर में विष्णु जी का दर्शन करें व श्री विष्णुसहस्रनाम का पाठ करें। हनुमानबाहुक व गणेश स्तोत्र के पाठ का आज बहुत महत्व है। आज शिव मंदिर में भगवान शिव को दुग्ध, गंगाजल व शहद से रुद्राभिषेक करें व उनको बेल पत्र अर्पित करें। दुर्गा जी की स्तुति करें। आज दान का बहुत महत्व व पुण्य है। आज पुण्य संचय करने का महान दिवस है। गुरुवार को विष्णु उपासना व व्रत का पुण्य भी है।

प्रातःकाल पंचांग का दर्शन, अध्ययन व मनन आवश्यक है। शुभ व अशुभ समय का ज्ञान भी इसी से होता है। अभिजीत मुहूर्त का समय सबसे बेहतर होता है। इस शुभ समय में कोई भी कार्य प्रारंभ कर सकते हैं। विजय व गोधुली मुहूर्त भी बहुत ही सुंदर होता है। राहुकाल में कोई भी कार्य या यात्रा आरम्भ नहीं करना चाहिए।

ये भी पढ़ें: जानें आपके लिए कैसा रहेगा मई का महीना, पढ़ें मासिक राशिफल

आज का पंचांग 19 मई 2022 (Today Panchang)

दिनांक 19 मई 2022  
दिवस गुरुवार
माह ज्येष्ठ,कृष्ण पक्ष
तिथि चतुर्थी 
सूर्योदय

05:29 am

सूर्यास्त 07:06 pm
नक्षत्र मूल
सूर्य राशि वृष
चन्द्र राशि

धनु

करण

बव

योग

साध्य

ये भी पढ़ें: पढ़ें अपना 19 मई का राशिफल, जानें कैसा रहेगा दिन

अभिजीत मुहूर्त  11:53 am से 12:42 pm तक।
विजय मुहूर्त 02:32 pm से 03:29 pm तक
गोधुली मुहूर्त 06:46 pm से 07:19 pm तक

राहुकाल का समय दोपहर 01:30 बजे से 03 बजे तक है। इस दौरान शुभ काम को करने से परहेज करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर