Pune Water Meter: पानी के मीटर पर अब पुणे पुलिस का पहरा, शहर में पानी के मीटर चोरी से पेयजल संकट

Pune Water Meter: पिंपरी-चिंचवड में चोरों के निशाने पर इस समय पानी के मीटर हैं। मीटर में लगे पीतल के धातू की वजह से इसकी चोरी की घटनाएं लगातार बढ़ रही है। पिछले एक सप्‍ताह में ही महानगरपालिका में मीटर चोरी के 45 से ज्‍यादा मामले दर्ज हुए हैं। अब इनकी सुरक्षा के लिए थानों में अलग टीम गठित की है, जो रात के समय पहरा देकर मीटर चोरों को पकड़ने का काम करेगी।

Water Meter
पुणे में चोरों के निशाने पर पानी के मीटर   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • पिंपरी-चिंचवड में चोरों के निशाने पर पानी के मीटर
  • मीटर में लगे पीतल की वजह से किए जा रहे चोरी
  • मीटरों की सुरक्षा के लिए नाइट पेट्रोलिंग टीम गठित

Pune Water Meter:  पिंपरी-चिंचवड में चोरों के निशाने पर इस समय पानी के मीटर हैं। इस मीटर में लगे पीतल के धातू की वजह से इसकी चोरी की घटनाएं लगातार बढ़ रही है। इनकी चोरी होने की वजह से पेयजल संकट पैदा हो रहा है। इस समस्‍या से निजात दिलाने के लिए लोगों ने पिंपरी-चिंचवड महानगरपालिका से इन घटनाओं पर रोक लगाने को कहा था, लेकिन अधिकारियों का कहना है, मीटरों की सुरक्षा की जिम्मेदारी नागरिकों की है। हालांकि इन मीटरों की सुरक्षा के लिए अब पुणे पुलिस आगे आई है। लोगों की लगातार बढ़ती शिकायतों के बाद पुलिस ने इसकी सुरक्षा की जिम्‍मेदारी संभालते हुए सभी थानों में नाइट पेट्रोलिंग के लिए अलग टीम गठित की है, जो रात के समय पहरा देकर मीटर चोरों को पकड़ने का काम करेगी।

बता दें कि, मीटर चोरी होने की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। इससे लोगों को बेवजह आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ता था। वहीं मीटर चोरी होने के बाद पेयजल सप्‍लाई भी बाधित होता था। महानगरपालिका में पिछले एक सप्ताह के अंदर मीटर चोरी की 45  से ज्यादा शिकायतें आ चुकी हैं। यहां पर एक ही दिन में 10 मीटर चोरी होने की शिकायत भी आ चुकी है। कई मामलों में लोग शिकायत करने के लिए सामने नहीं आते। ऐसे में मीटर चोरी का आंकड़ा ज्यादा रहने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता। पानी के एक मीटर की कीमत ढाई हजार रुपए है।

पीतल के लिए मीटर होता है चोरी

महानगरपालिका की तरफ से कोई कार्रवाई न होने के बाद सामाजिक संस्‍थाओं ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को ज्ञापन देकर पानी के मीटर चोरी होने की बढ़ती वारदातों पर रोकथाम लगाने की मांग की। लोगों ने बताया कि, पिछले माहभर में शिंदेनगर, पवारनगर, जय मालानगर व आसपास के इलाकों में पानी के मीटरों की चोरी लगातार बढ़ती जा रही है। इस मीटर में पीतल लगा होता है, जिसे बेचकर अधिक पैसे मिल जाते हैं। इस वजह से चोर अब मीटर चोरी कर रहे हैं। इस चोरी की वजह से जहां आर्थिक नुकसान हो रहा है, वहीं लोगों की समस्‍या भी बढ़ रही है। इन शिकायतों के बाद पुलिस ने टीम गठन करने का निर्देश दिया।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर