Pune Crime News: पुणे में वर्चस्व की लड़ाई में हुआ कुछ ऐसा, जानकर रह जाएंगे दंग, जानें क्या है पूरा मामला

Pune Crime News: पुणे के कोंढवा में वर्चस्व जमाने के चक्कर में कुछ युवा आपस में भिड़ गए, जिसमें एक शख्स की जान चली गई है। जैसे ही यह जघन्य हत्या हुई, आसपास के दुकानदारों ने शटर गिरा दिए और मौके से फरार हो गए। लोगों ने खून से लथपथ पीड़ित की मदद करने और उसे अस्पताल ले जाने या पुलिस को सूचित करने से इनकार कर दिया।

Pune crime news
कौन किसपर भारी के चक्कर में हुई शख्स की मौत  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • वर्चस्व जमाने के चक्कर में कुछ युवा आपस में भिड़ गए
  • हत्या के बाद आसपास के दुकानदारों ने शटर गिरा दिए
  • मारने की आपराधिक साजिश रची थी

Pune Crime News: पुणे के कोंढवा में वर्चस्व जमाने के चक्कर में कुछ युवा आपस में भिड़ गए, जिसमें एक शख्स की जान चली गई है। एक आरोपी ने 23 साल के एक युवक की चाकू घोंपकर हत्या कर दी। मृतक की पहचान कोंढवा के शिवनेरी नगर निवासी महेश गुजर के रूप में हुई है। जैसे ही यह जघन्य हत्या हुई, आसपास के दुकानदारों ने शटर गिरा दिए और मौके से फरार हो गए। लोगों ने खून से लथपथ पीड़ित की मदद करने और उसे अस्पताल ले जाने या पुलिस को सूचित करने से इनकार कर दिया।

हत्या के बाद सबसे पहले मौके पर पहुंची मृतक की बहन सोनी गुजर ने कोंढवा पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने इस सिलसिले में राजेश पवार, कृष्णा मराठे, सचिन राठौड़, अमर गावणे और गणेश हेक को गिरफ्तार किया है। जांच से पता चला कि पांचों आरोपी महेश गुजर से बदला लेने की योजना बना रहे थे और उन्होंने उसे मारने की आपराधिक साजिश रची थी। 

मृतक को पहले से मिल रही थी जान से मारने की धमकी

हत्या को अंजाम देने के फौरन बाद आरोपी शहर से फरार हो गए, लेकिन कोंढवा पुलिस ने दो घंटे के अंदर ही उन्हें ट्रेस कर पांचों को गिरफ्तार कर लिया। सोनी ने अपनी शिकायत में कहा कि 1 अगस्त को घर लौटने के बाद उसका भाई महेश गुजर डरा हुआ लग रहा था। इससे उनके बीच कहासुनी हो गई और उन्होंने महेश गुजर को जान से मारने की धमकी दी थी। 2 अगस्त को आरोपी ने फिर महेश गुजर और उसके दोस्त को धमकी दी। 3 अगस्त को, सोनी को महेश गुजर के दोस्त का फोन आया कि उसके भाई को पवार और उसके दोस्तों ने मार डाला है। वह अपने पिता को भी सूचना देने के बाद मौके पर पहुंची।

एक पार्टी के दौरान शुरू हुआ था विवाद

इस मामले में पुलिस सब-इंस्पेक्टर स्वप्निल पाटिल ने जानकारी देते हुए कहा है कि घटना के तुरंत बाद, हमने एक अभियान शुरू किया और संदिग्धों का पता लगाया, जो सभी एक साथ एक ही जगह पर थे। सोनी ने पिछली घटनाओं का पूरा क्रम बताया था। दोनों समूहों के बीच विवाद एक पार्टी के दौरान शुरू हुआ, लेकिन जल्द ही एक तरह की वर्चस्व की लड़ाई में बदल गया। हालांकि इन समूहों का कोई आपराधिक इतिहास नहीं था, लेकिन आरोपी पांचों भगवा चौक क्षेत्र में वर्चस्व स्थापित करना चाहते थे। इसलिए उन्होंने हत्या की योजना बनाई और गुजर पर धारदार हथियारों से हमला किया।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर