Pune News: गणेशोत्सव के लिए पुणे में बनाए जाएंगे 150 मोबाइल टैंक्स, इन बातों का रखना होगा खास ध्यान

Pune News: पुणे नगर निगम ने गणेशोत्सव की तैयारियां शुरू कर दी है। इस बार गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए शहर में 150 मोबाइल टैंक तैनात होंगे। ये सभी वैन मुख्य विसर्जन के दिनों में शहर के चारों ओर फेरी लगाकर प्रतिमा विसर्जन कराएंगे।

Pune Ganeshotsav
गणेशोत्सव पर पुणे में तैनात होंगी 150 इमर्शन टैंक ऑन व्हील्स  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • गणेशोत्सव पर शहर में तैनात होंगी 150 मोबाइल टैंक
  • विसर्जन के मुख्‍य दिनों में शहर के अंदर लगाएंगी फेरी
  • पिछले साल हुआ था 1.62 लाख के करीब प्रतिमा विसर्जन

Pune News: पुणे नगर निगम (पीएमसी) ने आगामी गणेशोत्सव की तैयारियां शुरू कर दी है। इस साल गणेशोत्सव के दौरान सॉलिड वेस्‍ट मैनजमेंट डिपार्टमेंट 10-11 दिनों के लिए शहर में 150 'इमर्शन टैंक ऑन व्हील्स' बनाने का निर्णय लिया है। ये मोबाइल विसर्जन टैंक घर-घर जाकर गणेश प्रतिमा विसर्जन सुविधा प्रदान करेंगे। इन मोबाइल विसर्जन टैंकों के साथ ही शहर के अलग-अलग हिस्‍सों में विसर्जन के लिए 135 फिक्स्ड टैंक भी तैयार किए जा रहे हैं।

बता दें कि, गणेश प्रतिमा का विसर्जन गणेशोत्सव के डेढ़ दिन, पांच, सात और दस दिनों के बाद किया जाता है। जिसको लेकर नगर निगम ने विसर्जन टैंक के निर्माण की योजना बनाई है। निगम अधिकारियों के अनुसार, इस वर्ष नगर निगम के पंद्रह जोनल कार्यालयों में 150 मोबाइल टैंक स्थापित किए जाएंगे। इसके अलावा इस साल शहर के विभिन्न हिस्सों में 136 जगहों पर इमर्शन टैंक बनाए जाएंगे। अधिकारियों के अनुसार, उत्‍सव के दौरान टंकियों की सफाई, पेंटिंग, लाइटिंग समेत अन्य कामों पर होने वाले खर्च को भी मंजूरी दे दी गई है।

निर्माल्य से बनेगा जैविक खाद

नगर आयुक्त विक्रम कुमार ने बताया कि, इस पहल के लिए निगम ने उज्जीवन बैंक के साथ साझेदारी की है। ये सभी वैन मुख्य विसर्जन के दिनों में शहर के चारों ओर फेरी लगाएंगे। इन टैंक में एनसीएल अमोनियम कार्बोनेट रहता है जो प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनी गणेश मूर्तियों को पानी में डालने पर आसानी से घोल देता है। इसके अलावा गणेशोत्सव के दौरान भारी मात्रा में निर्माल्य इकट्ठा होते हैं। इसे फेंकने की बजाए इसका इस्तेमाल जैविक खाद बनाने में किया जाएगा। इसके लिए निगम के स्वच्छता कार्यकर्ता घर-घर जाकर ‘निर्माल्य’ एकत्रित करेंगे और उससे फिर जैविक खाद बनाया जाएगा। इन जैविक खाद का इस्‍तेमाल बाद में किसान कर सकेंगे। अधिकारियों के अनुसार, पिछले साल मोबाइल टैंक में 82,551 मूर्तियों का विसर्जन किया गया था। वहीं स्‍टोरेज सेंटर पर 79 हजार 777 मूर्तियों का विसर्जन हुआ था। ऐसे 1 लाख 62 हजार 328 गणेश मूर्ति का विसर्जन किया गया। इस बार निगम का अनुमान है कि शहर के अंदर करीब 2 लाख गणेश प्रतिमाएं स्‍थापित होंगी।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर