Pune News: पुणे रेलवे स्टेशन को उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी कुछ घंटो में गिरफ्तार, ऐसे पकड़ में आया सिरफिरा

Pune News: पुणे रेलवे स्‍टेशन को उड़ाने की धमकी देने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने शुक्रवार सुबह धमकी भरा फोन किया था, जिसके कुछ घंटे बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। जांच में पता चला कि आरोपी पहले भी इस तरह से लोगों को फोन कर धमका चुका है। आरोपी पर पहले से दो मामले चल रहे हैं।

 Pune Railway Station
पुणे रेलवे स्‍टेशन को उड़ाने की धमकी देने वाला गिरफ्तार  
मुख्य बातें
  • फोन कर पुणे रेलेव स्‍टेशन को उड़ाने की धमकी
  • आरोपी पहले भी लोगों को फोन कर धमका चुका
  • सुरक्षा एजेंसियां अब आरोपी से कर रही पूछताछ

Pune News: पुणे रेलवे स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। धमकी मिलने के बाद पुलिस ने तेज कार्रवाई करते हुए धमकी देने वाले शख्स को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी से पूछताछ में पुलिस को पता चला कि आरोपी पूरी तरह से अनपढ़ है। आरोपी ने गूगल वॉयस सर्च से पुणे पुलिस कंट्रोल रूम का नंबर ढूंढा और फिर फोन करके स्‍टेशन को उड़ाने की धमकी दी। पुणे रेलवे पुलिस ने बताया कि धमकी देने वाले शख्‍स का नाम प्रभु कृष्ण सूर्यवंशी (उम्र 22) है। यह नांदेड़ जिले के हडगांव इलाके के हदसानी का रहने वाला है। सुरक्षा एजेंसियों ने आरोपी को उसके मोबाइल की मदद से ट्रैक किया।

जांच में पता चला कि आरोपी प्रभु सूर्यवंशी इससे पहले भी गूगल वॉयस सर्च के द्वारा इंटरनेट से उच्च पदस्थ पदाधिकारियों और राजनीतिक नेताओं और बड़े उद्योगपतियों का नंबर निकालता और उन्‍हें फोन कर धमकाता था। आरोपी के खिलाफ गावदेवी पुलिस स्टेशन और वजीराबाद पुलिस स्टेशन में इन मामलों को लेकर एफआईआर दर्ज की गई हैं।

पुणे स्‍टेशन पर 13 मई को मिला था विस्फोटक

रेलवे अधिकारियों ने बताया कि यह धमकी भरा फोन सुबह के समय किया गया था। जिसके बाद स्‍टेशन परिसर की जांच के साथ स्‍टेशन पर सुरक्षा व्‍यवस्‍था को भी पुख्‍ता कर दिया गया। सुरक्षा एजेंसियों की एक टीम जहां फोन करने वाले की तलाश में जुट गई, वहीं स्‍टेशन के वेटिंग रूम, रेलवे ट्रैक और स्टेशन के पास सभी पार्किंग स्थलों पर भी सर्च अभियान चलाया गया। हालांकि इस दौरान वहां पर कोई संदिग्‍ध वस्‍तु नहीं मिली। बता दें कि इससे पहले 13 मई को पुणे रेलवे स्टेशन पर एक विस्फोटक उपकरण बरामद हुआ था।  जिसके बाद स्‍टेशन परिसर की सुरक्षा के लिए रेलवे के 1 पुलिस निरीक्षक समेत 50 पुलिस कर्मचारी हर समय तैनात रहते हैं। रेलवे पुलिस अधीक्षक सदानंद पाटिल ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ कर यह पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि उसने यह फोन खुद किया था या किसी के कहने पर और फोन करने के पीछे मकसद क्‍या था।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर