Pune Crime News: इनकम टैक्स ऑफिसर के घर चोरी, नौकरानी ही निकली चोर, ऐसे देती थी वारदात को अंजाम, जानें मामला

Pune Crime News: बेईमान व्यापारियों की बेहिसाब आय का पता लगाने वाले एक आयकर विभाग के अधिकारी की हमेशा चौकस निगाहें अपने ही घर में मौजूद नौकरानी को पहचाने में चूक गईं। एक नौकरानी ने आयकर विभाग की एक महिला अधिकारी के घर लाख रुपये के सोने और नकदी की चोरी की है।

Pune Crime News
इनकम टैक्स ऑफिसर के घर लाखों की चोरी  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • एक महिला अधिकारी के घर लाख रुपये के सोने और नकदी की चोरी
  • घर की नौकरानी ने अपने दोस्त की मदद से गहने चुराए
  • अधिकारी के घर से 12.73 लाख रुपये के गहनों की चोरी

Pune Crime News: बेईमान व्यापारियों की बेहिसाब आय का पता लगाने वाले एक आयकर विभाग के अधिकारी की हमेशा चौकस निगाहें अपने ही घर में मौजूद नौकरानी को पहचाने में चूक गईं। एक नौकरानी ने आयकर विभाग की एक महिला अधिकारी के घर लाख रुपये के सोने और नकदी की चोरी की है। घटना पुणे के सेवन लव्स चौक के पास मीरा सोसाइटी की है, यहां एक आयकर विभाग के अधिकारी के घर से 12.73 लाख रुपये के गहनों की चोरी हुई है। 

पुलिस ने कहा कि नौकरानी अपने दोस्त की मदद से गहने चुराने में कामयाब हो पाई है। पुलिस ने नौकरानी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 454 (छिपे हुए घर-अतिचार या घर-तोड़ने) और 380 (घर में चोरी) के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।

महिला की अलमारी से मंगलसूत्र, अंगूठियां और हार गायब थे

जानकारी के अनुसार, वनवाड़ी निवासी रेखा क्षीरसागर (30) पिछले चार वर्षों से आयकर अधिकारी प्रज्ञा घोलप के घर पर काम कर रही थी, जो अपने माता-पिता और ससुराल वालों के साथ रहती है। हालांकि यह घटना मार्च 2021 और जुलाई 2022 के बीच हुई थी, लेकिन परिवार को जुलाई में ही एहसास हुआ कि मंगलसूत्र, अंगूठियां और हार सहित कुछ गहने गायब थे। बाद में उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। क्राइम ब्रांच की यूनिट-2 ने मामले को सुलझाकर चोरी के जेवर बरामद किए। पुलिस के अनुसार, परिवार ने बैंक लॉकर से अपने सोने और चांदी के गहने निकाल लिए थे क्योंकि उन्हें इस दौरान कई कार्यक्रमों में शामिल होना था। कुछ आभूषणों के गायब होने का पता चलने पर, आईटी अधिकारी ने पुणे अपराध शाखा से संपर्क किया और शिकायत दर्ज कराई। 

दोस्त की मदद से चोरी के गहने बेचती थी नौकरानी

संयोग से क्षीरसागर ने हाल ही में आईटी अधिकारी के घर से अपनी नौकरी छोड़ दी थी, लेकिन परिवार को उस पर शक नहीं हुआ। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक क्रांतिकुमार पाटिल के नेतृत्व में पुलिस जांच के दौरान उसके कॉल डिटेल की जांच से पता चला कि महिला ने मोबाइल भुगतान सेवा के माध्यम से अपने बैंक खाते में बड़ी राशि प्राप्त की थी। रामटेकड़ी निवासी ऋषभ जाधव (40) ने उनके खाते में पैसे ट्रांसफर किए थे। इसके बाद, पुलिस कांस्टेबल गजानन सोनुने ने क्षीरसागर और जाधव को उनके मोबाइल लोकेशन की मदद से ट्रैक किया। पाटिल ने कहा, 'नौकरानी हर 15 दिन में कुछ गहने चुरा लेती थी। बाद में, उसने उन्हें जाधव को सौंप दिया, जो उसे ज्वेलरी की दुकान के मालिकों के पास गिरवी रखता था, कुछ पैसे अपने लिए रखता था और शेष राशि क्षीरसागर के खाते में जमा करता था। पुलिस ने चोरी के सभी गहने बरामद कर लिए हैं और उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर