Pune Water Supply: पुणे में वाटर सप्लाई को लेकर बदल रही है व्यवस्था, अगले सप्‍ताह से ऐसे होगी पेयजल आपूर्ति

Pune Water Supply: बारिश न होने के कारण पुणे के अंदर पानी सप्‍लाई करने वाले सभी बांध सूख रहे हैं। खडकवासला, पानशेत, वरसगांव और तेमघर बांधों में अब सिर्फ 2.5 टीएमसी पानी ही बचा है। इसलिए अगले सप्‍ताह से शहर के अंदर वैकल्पिक दिनों में पानी की आपूर्ति की जाएगी। यह व्‍यवस्‍था चार जुलाई से लागू होगी।

Pune Water Supply
पुणे में अब वैकल्पिक दिनों में होगी पेयजल सप्‍लाई   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • पुणे में पानी सप्‍लाई करने वाले सभी बांध सूखे
  • शहर में अब वैकल्पिक दिनों में होगा पेयजल सप्‍लाई
  • पीएमसी जल्‍द जारी करेगा पेयजल सप्‍लाई का नया शेड्यूल

Pune Water Supply: पुणे को पानी की सप्‍लाई करने वाले बांध में पानी की कमी के चलते पुणे नगर निगम (पीएमसी) ने अब पानी की आपूर्ति कम करने का फैसला किया है। आने वाले 4 जुलाई से शहर के अंदर वैकल्पिक दिनों में पानी की आपूर्ति की जाएगी। साथ ही इस दिन वॉटर सप्‍लाई शेड्यूल की भी घोषणा कर दी जाएगी।

नगर निगम आयुक्‍त विक्रम कुमार ने इस पेयजल संकट के बारे में बताते हुए कहा कि पुणे व उसके आसपास अभी तक बहुत कम बारिश हुई है। जिसकी वजह से शहर को पानी की आपूर्ति करने वाले बांधों में पानी का जलस्‍तर घट कर नीचे चला गया है। इस वजह से अब अगले सप्ताह से शहर में वैकल्पिक दिन में पेयजल सप्‍लाई करने का फैसला लिया गया है। नए शेड्यूल की घोषणा चार जुलाई को कर दी जाएगी।

बांधों में बचा है सिर्फ  2.5 टीएमसी पानी

बता दें कि पुणे शहर में खडकवासला, पानशेत, वरसगांव और तेमघर बांध से पानी की आपूर्ति की जाती है। इसके अलावा हाल ही में भामा आस्केड बांध से भी पानी की सप्‍लाई शुरू हुई है। इन सभी बांधों के जलग्रहण क्षेत्र में अभी तक बहुत कम वर्षा हुई है, जिससे जल संग्रहण स्तर में भारी गिरावट आई है। नगर निगम के एक अधिकारी ने बताया कि इन बाधों में इस समय मुश्किल से 2.5 टीएमसी पानी ही बचा है। इसलिए राज्य के जल संसाधन विभाग ने भी पीएमसी को बचे हुए पानी का सावधानी से उपयोग करने का निर्देश दिया है।

अधिकारियों ने बताया कि पीएमसी आमतौर पर शहर की जरूरतों को पूरा करने के लिए प्रतिदिन 1,650 एमएलडी पानी सप्‍लाई करता है। इस क्षमता के अनुसार अब शहर में ज्‍यादा दिनों तक पानी सप्‍लाई नहीं किया जा सकता है। बता दें कि पीएमसी शहर में 24/7 जलापूर्ति परियोजना भी लागू कर रही है और केंद्र सरकार ने अगले साल तक काम खत्म करने का लक्ष्य रखा है। इस योजना के लागू होने के बाद शहर में पेयजल की डिमांड भी बढ़ जाएगी।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर