Water Connection in Pune: पुणे में अब नहीं मिलेगा नया पानी कनेक्‍शन, पीएमसी ने लगाई रोक, जानें कारण

Water Connection in Pune: पुणे शहर में इस समय पानी की किल्‍लत बढ़ती जा रही है। इस समस्‍या से निपटने के लिए पीएमसी ने फिलहाल नए पानी के कनेक्‍शन लेने पर रोक लगा दी है। इस आदेश की माह के अंत में दोबारा समीक्षा की जाएगी। जिसके बाद आखिरी फैसला लिया जाएगा।

water problem
पुणे में पानी के नए कनेक्‍शन पर रोक   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • पुणे में पानी के नए कनेक्‍शन पर लगी रोक
  • शहर के क्षेत्रफल में विस्‍तार है मुख्‍य कारण
  • माह के अंत में आदेश की दोबारा की जाएगी समीक्षा

Water Connection in Pune: शहर में पानी की कम उपलब्धता और बढ़ती मांग ने पुणे महानगरपालिका (पीएमसी) को मुश्किल में डाल दिया है। महानगरपालिका के अंदर हाल ही में किए गए 23 अतिरिक्‍त गांवों के विलय के बाद पूरे शहर में पेयजल संकट शुरू हो गया है। जिस वजह से अब पीएमसी ने नए पानी के कनेक्शन देने की अनुमति पर अस्थायी रूप से रोक लगा दी है।

बता दें कि, पुणे शहर की जरूरतों को पूरा करने वाले चार बांधों में पानी का स्तर इस समय घट कर नौ टीएमसी पर पहुंच गया है, जबकि इसी दौरान पिछले वर्ष इन बांधो से 11 टीएमसी पानी की सप्‍लाई की जाती थी। यह पानी केवल पुणे जिले के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों की पीने की जरूरतों के लिए आरक्षित है। जलापूर्ति विभाग के अधिकारियों के अनुसार, बढ़ते पारा के स्तर और शहर की सीमा के विस्तार व खपत में वृद्धि के कारण पीने के पानी की कमी हो रही है। जिस वजह से नए कनेक्‍शन पर रोक लगाई गई है।

इस वजह से शहर में पानी की किल्‍लत

जलापूर्ति विभाग के अधिकारियों ने बताया कि, पुणे महानगरपालिका की जलापूर्ति विभाग ने अपने सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को किसी भी संपत्तियों को नए पानी के कनेक्शन देने के लिए फिलहाल रोकने की सूचना दे दी है। यह आदेश इस माह के अंत तक जारी रहेगा, महीने के अंत में पूरी स्थिति की एक बार फिर से समीक्षा की जाएगी और अंतिम फैसला उसके बाद लिया जाएगा। अधिकारियों के अनुसार, शहर के अंदर प्रति वर्ष पानी की खपत बढ़ती जा रही है। इस मांग को पूरा करने के लिए पीएमसी प्रतिवर्ष 15-20 प्रतिशत अधिक पानी लेता है। हालांकि इस वर्ष यह वृद्धि भी लोगों को पूरी नहीं पड़ रही है। इस समय सप्‍लाई से अधिक डिमांड है। जिस वजह से नए पानी के कनेक्‍शन पर रोक लगा दी गई है। इसका सबसे प्रमुख कारण शहर की सीमा का विस्तार है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर