Prayagraj: कोरोना महामारी के बीच मास्क पहन कर ये बकरे बिकने को हैं तैयार, पर दूर-दूर तक नहीं कोई खरीददार

Prayagraj News: कोरोना वायरस महामारी के कारण इस साल सारे तीज-त्यौहार फीके पड़ रहे हैं। महामारी के इस दौर में बकरे की बिक्री पर भी खासा बुरा असर पड़ा है।

sacrificial goats
बलि के बकरों की बिक्री हुई ठप्प  |  तस्वीर साभार: ANI

प्रयागराज : कोरोना वायरस महामारी के कारण ना सिर्फ लोगों का स्वास्थ्य खराब हुआ है बल्कि लोगों के आय पर भी इसका जबरदस्त बुरा प्रभाव पड़ा है। इसने लाखों लोगों की रोजी-रोटी का जरिया छीन लिया है। लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं जिसके चलते छोटे-मोटे कमाऊ किसान मजदूरों की आमदनी ठप्प हो गई है।

कोरोना वायरस महामारी के कारण इस साल सारे तीज-त्यौहार फीके पड़ रहे हैं। ना कोई सेलिब्रेशन और ना कोई उल्लास। आने वाला त्योहार बकरीद है जिसमें मुसलमान बकरे की बलि देते हैं। इस त्योहार को लेकर हर साल जहां बकरे का बाजार गर्म रहता था वहीं इस बार इन बकरों को कोई पूछने वाला नहीं है। मामला प्रयागराज का है।

महामारी के इस दौर में नॉनवेज खाना तो दूर लोग घरों से बाहर तक नहीं निकल रहे हैं संक्रमण से बचने का हर वो तरीका अपना रहे हैं ऐसे में बकरे का मार्केट काफी डाउन नजर आ रहा है। प्रयागराज से एक तस्वीर सामने आ रही है मार्केट में कई सारे बकरे मास्क लगाए बिकने को तैयार हैं लेकिन उन्हें पूछने वाला उन्हें खरीदने वाला कोई नजर नहीं आ रहा है।

कोरोना महामारी के बीच ईद-एल-अदहा (बकरीद) के बिकने वाले बकरों के दामों में भी गजब की कमी आ गई है। एक स्थानीय विक्रेता ने बताया कि मैं 10 से 12 बकरा बेचने के लिए मार्केट में लाया था लेकिन यहां बड़ी संख्या में ऐसे खरीददार हैं जिनके पास इन्हें खरीदने के लिए पैसे नहींं है।

अगली खबर