'अजान से हर रोज नींद में पड़ती है खलल, सो नहीं पाती हूं', इलाहाबाद विवि की VC का पत्र

Allahabad University VC objection on azaan: वीसी श्रीवास्तव ने स्थानीय प्रशासन से संबंधित मस्जिद के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने कहा है, 'प्रत्येक सुबह साढ़े पांच बजे मस्जिद में अजान होती है।'

Allahabad University VC writes to DM objecting to azaan on loudspeaker
मस्जिद में लाउडस्पीकर पर अजान के खिलाफ इलाहाबाद विवि की VC ने पत्र लिखा है। 

मुख्य बातें

  • इलाहाबाद विश्वविद्यालय की वीसी संगीता श्रीवास्तव ने जिलाधिकारी को लिखा है पत्र
  • वीसी ने कहा है कि हर रोज लाउडस्पीकर पर आने वाली अजान से उनकी नींद टूट जाती है
  • वीसी ने कहा है कि वह किसी धर्म के खिलाफ नहीं है लेकिन इससे लोगों को असुविधा होती है

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश) : केंद्रीय विश्वविद्यालय इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की वाइस चांसलर अपने एक पत्र से सुर्खियों में आ गई हैं। वीसी संगीता श्रीवास्तव ने जिलाधिकारी को लिखे पत्र में अपने आवास के समीप स्थित मस्जिद से सुबह के वक्त लाउडस्पीकर पर आने वाली अजान पर रोक लगाने की मांग की है। अपनी शिकायत में वीसी ने कहा है कि प्रत्येक सुबह मस्जिद से लाउडस्पीकर से आने वाली अजान से उनकी नींद खराब हो जाती है। वीसी ने अपने शिकायत पत्र में इलाहाबाद हाई कोर्ट के उस फैसले का हवाला दिया है जिसमें अजान के लिए मस्जिदों में इस्तेमाल होने वाले लाउडस्पीकरों पर रोक लगाने की बात कही गई है। वीसी के इस पत्र पर राजनीतिक विवाद खड़ा हो सकता है।

वीसी ने स्थानीय प्रशासन से कार्रवाई की मांग की
श्रीवास्तव ने स्थानीय प्रशासन से संबंधित मस्जिद के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। वीसी ने अपने पत्र में कहा है, 'प्रत्येक सुबह साढ़े पांच बजे नजदीकी मस्जिद के मौलवी माइक पर अजान देते हैं, इससे मेरी नींद में खलल में पड़ती है। अजान के चलते मेरी नींद टूट जाती है। इसके बाद कोशिश करने के बाद भी नींद नहीं आती। इससे दिन भर में मेरे सिर में दर्द रहता है और इसका मेरे काम पर असर पड़ता है।' संगीता ने आगे लिखा है कि 'आपकी स्वतंत्रता वही खत्म होती है जहां मेरे नाक की शुरुआत होती है।'

वीसी ने हाई कोर्ट के फैसले का हवाला दिया
उन्होंने आगे कहा, 'मैं किसी धर्म, जाति अथवा मजहब के खिलाफ नहीं हूं। दूसरों को परेशानी न हो इसे देखते हुए वह बिना माइक के अजान दे सकते हैं। ईद से पहले वे सुबह चार बजे शहरी के लिए अजान देते हैं। यह चीज भी सुबह के वक्त लोगों को परेशान करती है।' जनवरी 2020 में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि कोई भी धर्म पूजा के लिए लाउडस्पीकर के इस्तेमाल की बात नहीं करता। एक याचिकाकर्ता ने जौनपुर जिले में लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर रोक लगाने के प्रशासन के फैसले को कोर्ट में चुनौती दी थी। 

सिंगर सोनू निगम ने भी उठाए थे अजान पर सवाल
साल 2017 में गायक सोनू निगम ने भी लाउडस्पीकर पर अजान देने के मसले को उठाया था। ट्विटर पर अजान को लेकर किए गए उनके पोस्ट पर काफी विवाद हुआ। सोनू ने कहा था, 'ईश्वर सभी पर अपनी कृपा बनाएं। मैं मुस्लिम नहीं हूं लेकिन मुझे प्रत्येक सुबह अजान की आवाज सुनकर उठना पड़ता है। भारत में यह जबरन धार्मिकता कब खत्म होगी।' 

Prayagraj News in Hindi (प्रयागराज समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर