रक्षा विभाग के पेंशनधारकों के लिए बड़ी सहूलियत, Digi Locker से लिंक होगा पीपीओ

Defence Pensioner: रक्षा विभाग के पेंशनधारक Digi Locker के जरिए इलेक्ट्रॉनिक पेंशन भुगतान आदेश (ईपीपीओ) को लिंक कर सकेंगे।

Defence Pensioner
डिजी लॉकर के जरिए रक्षा विभाग के पेंशनरों को राहत- फोटो-आई स्टॉक 

मुख्य बातें

  • रक्षा विभाग के पेंशन भोगी सीधे Digi Locker ऐप से पीपीओ कॉपी प्राप्त कर सकेंगे।
  • सरकार का दावा है कि नए कदम से 3 लाख पेंशनरों को फायदा मिलेगा।
  • Digi Locker  वह सुविधा है, जिसके तहत कोई भी व्यक्ति अपने सारे डॉक्युमेंटस की सॉफ्ट कॉपी को ऑनलाइन सेव कर सकता है।

नई दिल्ली:  केंद्र सरकार ने रक्षा विभाग के पेंशनधारकों को बड़ी सुविधा दी है। उन्हें अब  पेंशन भुगतान आदेश की हार्ड कॉपी  ऑफिस में सौंपने  की जरुरत नहीं होगी। वह डिजी लॉकर के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक पेंशन भुगतान आदेश (ईपीपीओ) को लिंक कर सकेंगे। इसका फायदा यह होगा कि पेंशनभोगी तुरंत पेंशन भुगतान आदेश प्राप्त कर सकेंगे। सरकार का दावा है इस कदम से 23 लाख पेंशनरों को फायदा मिलेगा।

क्या है नया प्लान

इस संबंध में रक्षा मंत्रालय के भूतपूर्व सैनिक कल्याण विभाग ने कहा है पेंशनधारकों की  सुगमता के लिए डिजी लॉकर के साथ रक्षा लेखा के प्रधान नियंत्रक (पीसीडीए) पेंशन, इलाहाबाद द्वारा उत्पन्न इलेक्ट्रॉनिक पेंशन भुगतान आदेश (ईपीपीओ) को लिंक कर दिया गया है। डिजी लॉकर (Digi Locker) के साथ इलेक्ट्रॉनिक पेंशन भुगतान आदेश को लिंक करने के कदम से 23 लाख से अधिक रक्षा पेंशनभोगियों को फायदा  पहुंचने की उम्मीद है। नई सुविधा का इस्तेमाल कर, रक्षा विभाग के पेंशनभोगी सीधे डिजी लॉकर ऐप से नवीनतम पीपीओ कॉपी प्राप्त कर सकेंगे। पीपीओ के सभी रिकॉर्ड डिजी लिकर में स्थायी रूप से मौजूद रहेंगे। इसके अलावा, अब पेंशनभोगियों को हार्ड कॉपी प्राप्त करने के लिए कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं रहेगी। इस फैसले से नए पेंशनभोगियों को पीपीओ पहुंचने में होने वाली देरी भी खत्म हो जाएगी। विभाग  के अनुसार पीसीडीए (पेंशन), ​​इलाहाबाद को डिजी लॉकर प्लेटफॉर्म के माध्यम से 23 लाख से अधिक रक्षा पेंशनभोगियों को ईपीपीओ प्रदान करने के लिए एक सर्विस प्रोवाइडर के रूप में चुना गया है। पेंशनभोगी ईपीपीओ रिकॉर्ड कहीं से भी एक्सेस कर सकेंगे।

क्या होता है Digi Locker

डिजी लॉकर वह सुविधा है, जिसके तहत कोई भी व्यक्ति अपने सारे डॉक्युमेंटस की सॉफ्ट कॉपी को ऑनलाइन, वेबसाइट या मोबाइल एप्लीकेशन पर सेव कर सकता है। भारत सरकार द्वारा शुरू की  गई इस सुविधा के तहत डिजी लॉकर से वैरिफाइड कॉपी को हार्ड  कॉपी जैसी ही मान्यता है। डिजी लॉकर में एक User id और Password बनाना होता है। और उसे अपने आधार कार्ड से लिंक करना होता है। डिजी लॉकर के लिए वेबसाइट और ऐप दोनों से रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर