World Osteoporosis Day: ऑस्टियोपोरोसिस बीमारी क्या है? क्या है इसके लक्ष्ण, कैसे करे रोकथाम

World Osteoporosis Day: ऑस्टियोपोरोसिस को लेकर बढ़ती उम्र के साथ सतर्क होना जरूरी होता है। इसलिए जागरूक करने के लिहाज से यह दिवस मनाया जाता है।

World Osteoporosis Day 2020
हड्डियों को स्वस्थ बनाने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करें।   (तस्वीर के लिए साभार - iStock images ) 

मुख्य बातें

  • ऑस्टियोपोरोसिस उम्र बढ़ने के साथ-साथ आपके जीवन में धीरे से दस्तक दे सकता है
  • डेली डाइट में विटामिन डी और कैल्शियम से भरपूर भोजन शामिल करें
  • एक उम्र के बाद अपने शरीर की पूरी जांच कराएं

World Osteoporosis Day: विश्वस्तर पर इस बीमारी से जुड़ी जागरूकता बढाने के लिए हर साल 20 अक्टूबर को ऑस्टियोपोरोसिस दिवस मनाया जाता है।  

स्वास्थ्य है तो सबकुछ है, लेकिन जब स्वास्थ्य बिगड़ने लगता है तो सबकुछ तबाह हो जाता है। समय रहते अगर स्वास्थ्य का ध्यान नहीं रखा गया तो न सिर्फ आपकी बल्कि आपके परिवार का जीवन मुसीबत में पड़ जाता है। ऑस्टियोपोरोसिस दिवस के मौके पर आज हम आपको इससे जुड़ी हर एक बात बताएंगे ताकि आप भविष्य में इससे सावधान रहें।  

क्या है ऑस्टियोपोरोसिस ? 

ऑस्टियोपोरोसिस एक ऐसी बीमारी है, जो शांति से आपके जीवन में प्रवेश तो करती है, लेकिन आपके जीवन को मुश्किलों से भर देती है। इसमें आपकी हड्डियां बहुत ही कमज़ोर हो जाती हैं। इससे आपके पैर, हाथ की कलाई, रीढ़ की हड्डी में दर्द होने लगता है।  

ऑस्टियोपोरोसिस के लक्षण  

ऐसा नहीं है कि ऑस्टियोपोरोसिस होने से पहले आपको इसकी बिलकुल जानकारी नहीं होती। इसके कुछ लक्षण हैं, जो सामान्य रूप से पाए जाते हैं। अगर समय के साथ आपकी लंबाई कम होने लगे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। रीढ़ की हड्डी में अगर फ्रैक्चर हो  जाए, तो भी डॉक्टर से संपर्क करें और ऑस्टियोपोरोसिस की जांच करवाएं। शरीर में झुकाव दिखे तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।  

कैसे करें रोकथाम  

  1. ऐसा नहीं है कि इसकी रोकथाम नहीं हो सकती। आप इस बीमारी बच सकते हैं, बस आवाश्यक है तो सही खानपान का। 
  2. अपने प्रतिदिन के आहार में कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर चीजों को शामिल करें।  
  3. दूध, दही आपके लिए बहुत ही आवश्यक है।  
  4. हरी पत्तेदार सब्जियां भले ही खाने में स्वादिष्ट न लगें, लेकिन ये आपके शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ाती हैं।  
  5. हड्डियों को स्वस्थ बनाने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करें।  
  6. शराब के सेवन से बचें।  
  7. अपने वजन को बढ़ने न दें।  
     

जागरूक बनें  

ऑस्टियोपोरोसिस से बिल्कुल अनजान बनने की आवश्यकता नहीं है। आपको इसके प्रति जागरूक होना चाहिए। इससे सम्बंधित जानकारी आपको लेते रहना चाहिए। उम्र बढ़ने के साथ इसका खतरा बढ़ जाता है।  समय रहते अगर ध्यान दिया जाए, तो दुनिया की किसी भी बिमारी पर आप विजय पा सकते हैं। ऑस्टियोपोरोसिस होने पर भी घबराएं नहीं बल्कि मजबूती से इसका सामना करें।  

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर