मेडिकल या फैब्रिक, कोविड-19 से बचाव के लिए कैसा हो आपका मास्क? क्या कहती है WHO की नई गाइडलाइंस

कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव में मास्‍क को बेहद अहम समझा जा रहा है। इसे लेकर कई तरह की बातें की जाती रही हैं। डब्‍ल्‍यूएचओ ने इसे लेकर नए गाइडलाइंस जारी किए हैं।

मेडिकल या फैब्रिक, कोविड-19 से बचाव के लिए कैसा हो आपका मास्क? क्या कहती है WHO की नई गाइडलाइंस
मेडिकल या फैब्रिक, कोविड-19 से बचाव के लिए कैसा हो आपका मास्क? क्या कहती है WHO की नई गाइडलाइंस  |  तस्वीर साभार: AP, File Image

नई दिल्‍ली : दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बीच विशेषज्ञ लगातार मास्‍क पर जोर दे रहे हैं और इसे संक्रमण से बचाव में अहम समझा जा रहा है। इस बीच मास्‍क को लेकर कई तरह के सवाल लोगों के मन में उठते रहे हैं। बाजार में कई तरह के मास्‍क उलब्‍ध हैं और इसे लेकर अलग-अलग दावे भी सामने आ रहे हैं। ऐसे में आइये जानते हैं, इस बारे में विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन (WHO) का क्‍या कहना है?

डब्‍ल्‍यूएचओ ने कोविड-19 से बचाव के लिए जो नई गाइडलाइंस जारी की है, उसमें मेडिकल मास्‍क और फैब्रिक मास्‍क के बारे में बताया गया है कि आखिर किसे, कब और कैसे मास्‍क पहनना चाहिए। 

मेडिकल या सर्जिकल मास्‍क

डब्ल्यूएचओ ने मास्‍क को लेकर नई गाइडलाइंस ट्विटर पर एक वीडियो के जरिये शेयर की है, जिसमें कहा गया है मेडिकल मास्‍क या सर्जिकल मास्‍क उन लोगों को पहनने की जरूरत हैं, जो स्वास्थ्यकर्मी, मरीजों की देखभाल करते हैं, जिन लोगों में कोविड-19 के लक्षण हैं, जिन्‍हें किसी के संक्रमित होने का संदेह है या जो उसकी पुष्टि करते हैं।

इसके अतिरिक्त उन इलाकों में जहां वायरस का संक्रमण अधिक है और कम से कम एक मीटर की सोशल डिस्‍टेंसिंग बनाए रखना मुश्किल है, वहां 60 साल या इससे से अधिक उम्र के लोगों और किसी भी दूसरी बीमारी से पहले से ग्रस्‍त लोगों को मेडिकल मास्‍क पहनने की आवश्‍यकता है।

फैब्रिक मास्‍क

फैब्रिक मास्‍क यानी कपड़ों से तैयार मास्‍क ऐसे समय में पूरी दुनिया में एक महत्‍वपूर्ण विकल्प के रूप में उभरे हैं, जब बढ़ते संक्रमण के कारण इसकी कमी को देखते हुए लोगों ने घर में ही कपड़े से इसे तैयार करना शुरू कर दिया। खास तौर पर हेल्थकेयर वर्कर्स और संक्रमण से प्रभावित लोगों के लिए मेडिकल मास्‍क की जरूरत को देखते हुए इसकी अहमियत और बढ़ जाती है।

इन परिस्थितियों में डब्ल्यूएचओ ने सलाह दी है कि फैब्रिक मास्‍क यानी कपड़े से तैयार मास्क उन लोगों द्वारा पहना जा सकता है, जिनमें कोविड-19 के लक्षण नहीं हैं। इसमें ऐसे लोग भी शामिल हैं जो सोशल वर्कर, कैशियर के साथ करीबी संपर्क में हैं। फैब्रिक मास्क सार्वजनिक परिवहन, कार्य स्थल, किराना स्टोर और अन्य भीड़भाड़ वाले इलाकों में पहने जा सकते हैं।

कैसे पहनें मास्‍क

मास्‍क पहनने के संबंध में यह भी ध्‍यान रखने की जरूरत है कि आखिर इसे कैसे पहना जाए। कई बार लोग मास्‍क लगा तो लेते हैं, लेकिन उनका नाक खुला रहता है। ऐसे में मास्‍क लगाने का कोई अर्थ नहीं रह जाता। कुछ लोग मास्‍क को मुंह से भी नीचे लटका लेते हैं। यह और भी निरर्थक होता है। विशेषज्ञों का साफ कहना है कि मास्‍क इस तरह से पहना जाना चाहिए कि नाक, मुंह और ठोढ़ी पूरी तरह ढका हो।

अगर आप फैब्रिक मास्‍क पहनते हैं तो उसे रोजाना जरूर धुलें, जबकि सर्जिकल मास्‍क को पहनने के बाद उसे नष्‍ट कर देने की आवश्‍यकता होती है। इसे यहां वहां न फेंके, बल्कि अच्‍छी तरह से रैप कर डस्‍टबिन में डालें। जब भी मास्‍क पहनें या उतारें, अपने हाथ अच्‍छी तरह से जरूर धुलें।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर