कहां,कैसे और कब पहनना चाहिए फेस मास्क? जानिए क्या कहती है WHO की ताजा गाइडलाइंस

Coronavirus prevention WHO latest guidelines: विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना से बचाव के मद्देनजर नई गाइडलाइंस जारी की है। इसमें फेस मास्क के उपयोग पर खास जोर दिया गया है।

  Coronavirus prevention WHO latest guidelines
कोरोना से बचाव के लिए फेस मास्क का उपयोग जरूर है- तस्वीर के लिए साभार - (iStock images) के लिए साभार -  

मुख्य बातें

  • कोरोना से बचाव के लिए WHO ने नई गाइडलाइंस जारी की है
  • फेस मास्क के उपयोग पर जोर दिया गया है
  • बाहर के अलावा घर के अंदर भी फेस मास्क पहनने की सलाह दी गई है

नई दिल्ली: दो गज की दूरी और मास्क है जरूरी। यह बात अब तमाम सर्वे में भी साफ हो चुकी है कि कोरोना से बचाव के लिए मास्क सबसे बड़ा हथियार है। मास्क आपकी इम्युनिटी नहीं बढ़ाता लेकिन COVID-19 से बचाने में अहम योगदान निभाता है। 

हालांकि, COVID-19 की रोकथाम के लिए फेस मास्क के इस्तेमाल को लेकर विवाद भी रहा है।  कुछ लोगों ने उनके उपयोग का यह कहते हुए विरोध किया कि यह सांस लेने की बुनियादी आजादी को बाधित करता है, अन्य लोगों ने कहा है कि विशेष रूप से वर्कआउट या व्यायाम करते समय फेस मास्क का व्यापक उपयोग नुकसानदेह साबित हो सकता है। लेकिन तमाम सर्वे और एकस्पर्ट की जो राय सामने आई उसमें यहीं पता चला कि कोरोना से बचाव के लिए फेस मास्क बेहद कारगर है जिसे घर से बाहर निकलने की स्थिति में जरूर पहनना चाहिए। 

WHO का नवीनतम दिशानिर्देश

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने एक बार फिर COVID-19 को रोकने के लिए फेस मास्क के उपयोग के लिए कुछ दिशानिर्देश जारी किए हैं। दिशानिर्देशों में सबसे महत्वपूर्ण ये है कि खराब हवादार स्थानों में मास्क को जरूर पहनना है। मास्क को बाहर निकनले की स्थिति में हर हाल में पहनने की सलाह दी गई है। सेंट्रल एयर कंडीशनिंग के माध्यम से कोरोनोवायरस फैलने की रिपोर्ट पहले सामने आई थी। वातानुकूलित स्थानों जैसे कारों या छोटे कमरों में, वायरस हवा के माध्यम से आप तक पहुंच सकता है, और स्वस्थ व्यक्तियों में संक्रमण का कारण बन सकता है।

घर के अंदर भी मास्क जरूरी

इसलिए, यहां तक कि जब घर के अंदर रहे तो यह सिफारिश की गई है कि आप मास्क जरूर पहने। यानी आपको बाहर के अलावा घर में भी फेस मास्क पहने तो कोरोना से बचाव के लिए यह बेहतर है। अन्य दिशानिर्देशों में वायरल संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए टाइट मास्क का उपयोग शामिल था। ढीले मास्क पहनने की स्थिति में वायरस शरीर में हमला बोल सकता है। इसलिए टाइट मास्क के जरिए यह सुनिश्चित होता है वायरस की शरीर के अंदर पहुंचने की संभावना कम हो जाती है। 

डब्ल्यूएचओ ने दी व्यायाम के दौरान फेस मास्क पहनने की सलाह

कई शोधकर्ताओं ने कहा है कि व्यायाम के दौरान मास्क पहनने से किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ता है लेकिन डब्ल्यूएचओ ने अपने नवीनतम दिशानिर्देशों में इसके उलट सलाह दी है और उसने इस बात को खारिज किया है। हालांकि, स्वास्थ्य संगठन ने दोहराया है कि भले ही आपको जिम में फेस मास्क पहनने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन उचित वेंटिलेशन और सामाजिक दूरी सुनिश्चित करना हर हाल में जरूरी है। यहां तक कि अमेरिकी सीडीसी ने भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर फेस मास्क के उपयोग की सिफारिश की थी। हालांकि, उन्होंने हर समय, जब भी संभव हो फेस मास्क के उपयोग की भी सिफारिश की।

बच्चों के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन की सलाह

बच्चों के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन की सलाह है कि सोर्स कंट्रोल के लिए पांच साल तक के बच्चों को मास्क नहीं पहनना चाहिए। लेकिन जिन बच्चों की उम्र 6 से 11 साल के अंदर है उन्हें जोखिम की गणना के आधार पर मास्क पहनाए जाने का निर्णय लेना चाहिए। इन सबके बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि कोविड 19 के खिलाफ मास्क ही एकमात्र सुरक्षित रास्ता नहीं है।लेकिन कोविड-19 के प्रसार और रोकथाम के लिए इसे संपूर्ण रूप में अपनाना चाहिए।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर