Wildlife Sanctuaries In India: मॉनसून में वाइल्ड लाइफ सेंचुरी घूमने का अलग है मजा, ये है देश के TOP 10 सेंचुरी

Top 10 Wildlife Sanctuaries In India: भारत में करीब 200 राष्ट्रीय उद्यान हैं। मॉनसून के समय वन्य जीवों को पास से देखना समझना और उनकी फोटोग्राफी प्रकृति प्रेमियों को सबसे ज्यादा आकर्षित करता है।

Wildlife Sanctuaries In India, Wildlife Sanctuaries ,Top 10 Wildlife Sanctuaries In India,Top Wildlife Sanctuaries, wildlife sanctuaries and national parks, wildlife national park,national park,वाइल्ड लाइफ सेंचुरी, टॉप 10 वाइल्ड लाइफ सेंचुरी, वाइल्ड लाइफ
कान्हा नेशनल पार्क (तस्वीर के लिए साभार- mptourism) 
मुख्य बातें
  • देश में करीब 200 राष्ट्रीय उद्यान हैं
  • मॉनसून के मौसम में वाइल्ड लाइफ सेंचुरी घूमने का अलग ही मजा है
  • सुंदरवन नेशनल पार्क दुनिया के सबसे बड़े मैंग्रोव जंगल के रूप मशहूर है

नई दिल्ली: अगर आप वन्य जीवों से बेहद प्यार करते हैं और उन्हें नजदीक से जानना और समझना चाहते हैं तो आपको वाइल्ड लाइफ सेंचुरी की सैर मॉनसून के मौसम में जरूर करना चाहिए। राष्ट्रीय उद्यानों की सैर सपाटे के लिए मॉनसून का सीजन सबसे मुफीद माना जाता है।

गौर हो कि भारत में करीब 200 राष्ट्रीय उद्यान हैं। इस समय वन्य जीवों को पास से देखना समझना और उनकी फोटोग्राफी प्रकृति प्रेमियों को सबसे ज्यादा आकर्षित करता है।  यदि आप भी वन्य जीवों को देखने के लिए नेशनल पार्क घूमने  योजना बना रहे हैं तो देश के इन टॉप वन्य जीवन अभ्यारण्य का चुनाव कर सकते है।

कान्हा नेशनल पार्क, मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में स्थित यह पार्क 1955 में वजूद में आया और यह प्रोजेक्ट टाइगर के तहत 1974 में बनाए गए कान्हा टाइगर रिजर्व का मूलरूप है। कान्हा राष्ट्रीय उद्यान राज्य का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यान है। बिग कैट्स की भारी आबादी की वजह से यह पार्क प्रोजेक्ट टाइगर का एक हिस्सा है। पार्क में 1000 से अधिक प्रजाति के फूल वाले पौधे हैं। इस प्रकार यह प्रकृति प्रेमियों के घूमने के लिए सबसे शानदार जगह है। यहां पर में पर्यटक हर साल घूमने के लिए आते हैं।

काजीरंगा नेशनल पार्क, असम

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान असम के गोलाघाट और नागांव जिले में स्थित एक बहुत ही मशहूर पार्क है। काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान भारत में यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल है। काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान दुनिया का एक ऐसा नेशनल पार्क है, जो एक सींग वाले गैंडो की दो तिहाई आबादी के लिए जाना जाता है। इस राष्ट्रीय पार्क को 1985 में विश्व विरासत स्थल के रूप में घोषित किया गया है।

सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान, पश्चिम बंगाल

सुंदरवन नेशनल पार्क दुनिया के सबसे बड़े मैंग्रोव जंगल के रूप में जाना जाता है। अपनी सुंदरता के कारण इस पार्क को विश्व धरोहर स्थल में शामिल किया गया है। यह पार्क काफी संख्या में रॉयल बंगाल टाइगर और चित्तीदार हिरणों के घर होने के लिए प्रसिद्ध है। यहां के बाघ आदमखोर बाघ के रूप में जाने जाते हैं, लेकिन उनका आकर्षण दूर दूर के पशु प्रेमियों को अपनी ओर लुभाता है और वो यहां के सैर सपाटे के लिए आते हैं। 

गिर नेशनल पार्क, गुजरात

गुजरात का गिर नेशनल पार्क दुनिया का एक ऐसा स्थान है जहां आप शेरों को खुले में घूमते हुए देख सकते हैं। गुजरात के इस पार्क में हजारों की संख्या में देश दुनिया से सैलानी सैर सपाटे के लिए आते हैं। इस पार्क में तीन सौ एविफुना प्रजातियां, 38 स्तनधारियों की प्रजातियां, 37 प्रकार के सरीसृप और 2000 से अधिक कीट प्रजातियां हैं। 

पेंच नेशनल उद्यान, मध्य प्रदेश

पेंच नेशनल उद्यान भारत का एक प्रमुख राष्ट्रीय उद्यान हैं। यह उद्यान सतपुड़ा की पहाड़ियों के दक्षिणी भाग में स्थित है। मध्य प्रदेश सरकार ने इसे 1983 में नेशनल उद्यान घोषित किया गया था और 1992 में इसे आधिकारिक रूप से भारत का उन्नीसवां टाइगर रिजर्व घोषित किया गया था। यहां जानवरों के अलावा प्रवासी पक्षी भी आते हैं। 

रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान

रणथम्भौर राष्ट्रीय उद्यान राजस्थान के दक्षिणी जिले सवाई माधोपुर में स्थित है। इस उद्यान को 1981 में राष्ट्रीय उद्यान का दर्जा मिला। यह उद्यान अरावली और विंध्य की पहाड़ियों पर स्थित है। यहां पर बाघों की ज्यादा तादाद है। साथ ही बाघ के अलावा यहां चीते भी रहते हैं। यहां जानवरों के अलावा पक्षियों की भी कई प्रजातियां देखी जा सकती हैं। 

बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान, कर्नाटक

बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान को भारत के सबसे खूबसूरत और बेहतरीन प्रबंधन वाले राष्ट्रीय उद्यानों में से एक माना जाता है। बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान करीब 874.2 वर्ग किलोमीट के दायरे में फैला हुआ है। यहां पर बाघों की संख्या भी अच्छी खासी है। यह राष्ट्रीय उद्यान कभी महाराजाओं का शिकारगाह हुआ करता था। यह 10वीं शताब्दी के रणथंभौर किले और एक पुरातन मंदिर का भी घर है। राष्ट्रीय उद्यान की सैर करना चाहते हैं तो एक बार बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान की सैर अवश्य करें। यहां प्रवासी पक्षियों को देखना आपको खूब भाएगा। 

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान

केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान भरतपुर का सर्वाधिक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। इसको भरतपुर पक्षी विहार के नाम से भी जाना जाता है। यहां पर हजारों की संख्या में दुर्लभ और विलुप्त जाति के पक्षी पाए जाते हैं। यहां पर हजारों की संख्या में लोग हर साल इन विलुप्त प्रजातियों के पक्षियों को देखने आते हैं। आपको बता दें इसे 1971 में संरक्षित पक्षी अभयारण्य घोषित किया गया था और 1985 में इसे विश्व धरोहर भी घोषित किया गया है।

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क

जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क, भारत के सर्वश्रेष्ठ अभयारण्यो में से एक माना जाता है। यहां पर कुल 300 जंगली हांथी, 200 बाघ और कई प्रकार के जानवर और पक्षी घूमते हैं। वर्ष 1936 में स्थापित जिम कॉर्बेट राष्ट्रीय उद्यान भारत का सबसे पुराना राष्ट्रीय उद्यान है।

बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान, मध्य प्रदेश

बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश के सबसे मशहूर उद्यानों में से एक है। यहां पर जानवरों की करीब 45 प्रजातियां और पक्षियों की 250 प्रजातियां पाई जाती हैं।  बांधवगढ़ राष्ट्रीय उद्यान महाराजाओं का शिकारगाह हुआ करता था। यहां पर आप कई प्रकार के जनवरों और पक्षियों का दीदार कर सकते हैं।

(सभी तस्वीरों के लिए साभार - iStock Imgaes )
 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर