Bhagat Singh Birth Anniversary:भारत के महान सपूत 'शहीद भगत सिंह' के 'अनमोल विचार'

Shaheed Bhagat Singh Birth Anniversary Today:आजादी के महान सेनानी शहीद भगत सिंह की आज जन्म-जयंती है, इस मौके पर देश उनको याद कर रहा है, जानें उनके अनमोल विचार

Bhagat Singh
शहीद भगत सिंह 

भगत सिंह (Bhagat Singh) भारत के एक महान स्वतंत्रता सेनानी क्रांतिकारी थे चन्द्रशेखर आजाद व पार्टी के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर इन्होंने भारत की स्वतंत्रता के लिए अभूतपूर्व साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुक़ाबला किया। पहले लाहौर में बर्नी सैंडर्स की हत्या और उसके बाद दिल्ली की केन्द्रीय संसद (सेण्ट्रल असेम्बली) में बम-विस्फोट करके ब्रिटिश साम्राज्य के विरुद्ध खुले विद्रोह को बुलन्दी प्रदान की। इन्होंने असेम्बली में बम फेंककर भी भागने से मना कर दिया जिसके फलस्वरूप अंग्रेज सरकार ने इन्हें 23 मार्च 1931 को इनके दो अन्य साथियों, राजगुरु तथा सुखदेव के साथ फाँसी पर लटका दिया गया।

भगत सिंह बहुत कम उम्र में भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन का हिस्सा बन गए थे। भारत में ब्रिटिश शासन के खिलाफ प्रतिरोध के विभिन्न कृत्यों में भाग लेने के अलावा, उन्होंने पंजाबी और उर्दू भाषा के समाचार पत्रों के लिए एक लेखक और संपादक के रूप में भी योगदान दिया। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान उनके क्रांतिकारी विचार बेहद लोकप्रिय हो रहे थे, जिसे साम्राज्य द्वारा एक खतरे के रूप में देखा जा रहा था, आखिरकार, अंग्रेजों ने उन्हें उनके साथी क्रांतिकारियों, राजगुरु और सुखदेव के साथ मौत की सजा सुनाई, उनके अनमोल विचार आज भी लोगों के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं।

शहीद भगत सिंह के अनमोल विचार (Shaheed Bhagat Singh Hindi Quotes)- 

  • 'जिन्दा रहने की हसरत मेरी भी है, पर मै कैद रहकर अपना जीवन नहीं बिताना चाहता'
  • 'मरकर भी मेरे दिल से वतन की उल्फत नहीं निकलेगी, मेरी मिट्टी से भी वतन की ही खुशबू आएगी'हूँ'
  • 'राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है। मैं एक ऐसा पागल हूं जो जेल में भी आजाद है।'
  • 'मैं एक मानव हूँ और जो कुछ भी मानवता को प्रभावित करता है उससे मुझे मतलब है।'
  • ' मेरे सीने पर जो जख्म हैं, वो सब फूलों के गुच्छे हैं, हमको पागल रहने दो, हम पागल ही अच्छे हैं।'
  • 'आज जो मै आगाज लिख रहा हूँ, उसका अंजाम कल आएगा. मेरे खून का एक एक कतरा कभी तो इन्कलाब लाएगा।'
  • 'जिंदगी तो सिर्फ अपने कंधों पर जी जाती है, दूसरों के कंधे पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते हैं।'
  • 'जरूरी नहीं था कि क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो। यह बम और पिस्तौल का पंथ नहीं था।'
  • 'व्यक्तियो को कुचल कर , वे विचारों को नहीं मार सकते।'
  • 'प्रेमी, पागल और कवि एक ही चीज से बने होते हैं।'
  • 'देशभक्तों को अक्सर लोग पागल कहते हैं।'
  • 'बड़े बड़े साम्राज्य तहस नहस हो जाते हैं, पर विचारों को कोई ध्वस्त नहीं कर सकता'
  • 'अगर आपको मेरे (भगत सिंह के अनमोल वचन) प्रेरित करते हैं तो बदलाव लाने की हिम्मत करते समय बिलकुल मत सोचिये'
  • 'अगर अपने दुश्मन से बहस करनी है और उससे जीतना है तो इसके लिए अभ्यास करना जरूरी है।'
  • 'मुसीबतें इंसान को पूर्ण बनाने का काम करती हैं, हर स्थिति में धैर्य बनाकर रखें।'
  • 'मेरे जीवन का केवल एक ही लक्ष्य है और वो है देश की आज़ादी. इसके अलावा कोई और लक्ष्य मुझे लुभा नहीं सकता'
  • 'जो व्यक्ति उन्नति के लिए राह में खड़ा होता है उसे परम्परागत चलन की आलोचना एवम विरोध करना होगा साथ ही उसे चुनौती देनी होगी।'
  • 'क्रांति मनुष्य का जन्म सिद्ध आधिकार है साथ ही आजादी भी जन्म सिद्ध अधिकार है और परिश्रम समाज का वास्तव में वहन करता है।'
  • 'किसी भी इंसान को मारना आसान है, परन्तु उसके विचारों को नहीं। महान साम्राज्य टूट जाते हैं, तबाह हो जाते हैं, जबकि उनके विचार बच जाते हैं।'


 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर