Winter Fitness Tips : वायु प्रदूषण में क्‍या करनी चाह‍िए जॉग‍िंग और साइक‍िल‍िंग, देखें हेल्‍दी रहने के ट‍िप्‍स

क्या अपने आप को सर्दियों के मौसम में हेल्दी रखने के लिए आप आउटर एक्सरसाइजेज करते हैं? अगर हां, तो इस लेख को पढ़िए और अपने हेल्थ से रिलेटेड जरूरी बातों को जानिए।

Outdoor exercises in air pollution why you should avoid
Outdoor exercises in air pollution : should you go   |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • खराब एयर क्वालिटी के दौरान एक्सरसाइज करने से होती हैं लंग प्रॉब्लम्स
  • मास्क जैसे फिजिकल बैरियर भी पॉल्यूशन के कण को रोकने में असमर्थ
  • पॉल्यूशन के दौरान आउटडोर एक्सरसाइजेज आंखों में बढ़ा सकती हैं जलन

तन और मन दोनों को हेल्‍दी रखने के लिए एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी होता है। शुद्ध हवा और सूरज की किरणें पाने के लिए हम बाहर एक्सरसाइज करना ज्यादा पसंद करते हैं, इससे हमारा मूड भी ठीक हो जाता है साथ में हमारा स्ट्रेस लेवल भी कम हो जाता है। लेकिन जैसे-जैसे ठंड बढ़ती हैं वैसे-वैसे वायु का क्वालिटी गिरती है।

एयर पल्‍यूशन होने के चलते आंखों में इरिटेशन होता है साथ में यह लंग प्रॉब्लम्स को बुलावा देता है। एयर पल्‍यूशन से बचने के लिए हम मास्क जैसे फिजिकल बैरियर्स का इस्तेमाल करते हैं लेकिन यह प्रोटेक्टिव गियर भी हवा में मौजूद छोटे-छोटे डस्ट पार्टिकल्स को भी नहीं रोक पाता है। इन छोटे पार्टिकल्स का साइज 0.3nm होता है जो किसी फिजिकल बैरियर में आसानी से प्रवेश कर जाता है।

खराब एयर क्वालिटी के दौरान आपके लिए यह जरूरी है कि इस लेख में दिए गए आउटडोर एक्सरसाइज को आप ना करें। 

मेडिटेशन और ब्रीदिंग एक्सरसाइज न करें 
सुबह सुबह ताजी हवा में मेडिटेशन और ब्रीदिंग एक्सरसाइज करने से हमारे शरीर के अंदर ऑक्सीजन का लेवल बढ़ता है साथ में हमारे फेफड़े भी स्वस्थ रहते हैं। लेकिन खराब एयर क्वालिटी के दौरान मेडिटेशन और ब्रीदिंग एक्सरसाइज को करना हानिकारक साबित हो सकता है। अगर आप मेडिटेशन और ब्रीदिंग एक्सरसाइज करना चाहते हैं तो आप इन्हें अपने घर में कीजिए।

रनिंग और जॉगिंग से बचें 
खराब एयर क्वालिटी के दौरान आपके लिए रनिंग और जॉगिंग ना करना सही होगा। आपका सोचना गलत है कि फेस मास्क लगाकर रनिंग और जॉगिंग करने से आप सेफ रहेंगे। क्योंकि आपका फेस मास्क भी हवा में मौजूद छोटे-छोटे डस्ट पार्टिकल्स को नहीं रोक सकता है। एरोबिक एक्सरसाइज करने के लिए हमारे फेफड़ों को ज्यादा मात्रा में ऑक्सीजन की जरूरत होती है। 

जब हम रनिंग या जॉगिंग करते हैं तब फेफड़ों की जरूरत के अनुसार ज्यादा मात्रा में हवा को अपने अंदर खींचते हैं। इस दौरान हम नाक के साथ मुंह से भी हवा लेते हैं। नाक के मुकाबले मुंह से ज्यादा हवा अंदर जाती है जिसमें डस्ट पार्टिकल्स ज्यादा होते हैं। हमारे नाक में कई फिल्टर्स मौजूद होते हैं जो हवा में मौजूद डस्ट पार्टिकल्स को अंदर जाने से रोकते हैं लेकिन हमारे मुंह में यह फिल्टर नहीं होते हैं। बैड एयर क्वालिटी होने पर भी अगर आप रनिंग और जॉगिंग कर रहे हैं तो आप अपने फेफड़ों को खतरे में डाल रहे हैं। 

साइकिलिंग से लें कुछ द‍िन की छुट्टी
कोरोनावायरस के वजह से हम जिम जाने से ज्यादा साइकिलिंग करने पर ध्यान दे रहे हैं। साइकिलिंग करना हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है, लेकिन ठंड के दौरान जैसे-जैसे हवा की गुणवत्ता कम होती जा रही है वैसे-वैसे साइकिलिंग करना भी हानिकारक होता जा रहा है। समय की मांग को देखते हुए आप कुछ दिन साइकिलिंग को विश्राम दें और इनडोर एक्सरसाइज को करें। अगर आप एयर पॉल्यूशन में बाहर साइकिलिंग करेंगे तो इससे आपको ब्रेथलेस फील होगा साथ में धुंध के वजह से आपके आंखों में इरिटेशन हो सकता है। ‌

इनडोर फिजिकल वर्क करें
अगर आपको आउटडोर स्पोर्ट्स खेलना पसंद है और इसके जरिए आप अपने आप को फिट रखते हैं तो कुछ दिन के लिए आपको इसे बंद करना होगा। जब तक हवा में सुधार नहीं आता तब तक आप अपने घर के फिजिकल वर्क्स में अपना हाथ बटाएं। इसके साथ आप घर में बैडमिंटन, बास्केटबॉल और टेबल टेनिस भी खेल सकते हैं।
 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर