How to wear new clothes: क्‍या बिना धोए नए कपड़े पहनना है सही, जानें क‍िस तरह पहनें नई ड्रेस को

bina dhoye naye kapde kyon nahi pahne : क्‍या आप भी ब‍िना धोए नए कपड़े पहन लेते हैं। जानें क्‍या है नए कपड़ों को पहनने के सेफ्टी रूल्‍स।

new clothes tips why one should not wear new clothes without washing
जानें क्‍या है नए कपड़ों को पहनने के सेफ्टी रूल्‍स  |  तस्वीर साभार: BCCL

मुख्य बातें

  • बिना धोए नए कपड़े नहीं पहनें
  • इससे इंफेक्‍शन हो सकता है
  • बच्‍चों को भी ब‍िना धुले नए कपड़े नहीं पहनाने चाह‍िए

क्या आप भी अपने कपड़े बिना धोए पहनते हैं। अगर हां,  तो आपको अपनी ये आदत तुंरत बदल लेनी चाह‍िए। बेशक नए कपड़ों को तुरंत पहनने का और सबसे तारीफ लेने का शौक अलग ही होता है। लेक‍िन आपकी ये कुछ देर की खुशी आपके ल‍िए बड़ी समस्‍या लेकर आ सकती है। दरअसल, जो नए कपड़े आप तुरंत लाकर पहन लेते हैं, उससे जर्म्‍स आप पर हमला कर सकते हैं। ये सेहत के साथ  आपकी त्वचा को भी खराब कर सकते हैं और उनको इन्फेक्टेड बना सकते हैं। 

ब‍िना धुले नए कपड़े क्‍यों न पहनें (why to wash new clothes first)

  1. नए कपड़े रोग और कीटाणु का घर हैं : नए कपड़े फैक्ट्री से बनकर एक जगह से दूसरी जगह जाते हैं और उसमें न जाने कितने लोगों के हाथ लगते हैं और कितने पैथोजन्स औरजर्म्‍स, यह कहना हमारे लिए मुश्किल है। ये जानना क‍ि कपड़े कहां से बनकर और कैसे बनकर आते हैं, इसलिए आप कपड़े जब भी नए लेकर आएं तो पहले इनको जरूर धो लें। इससे उन पर मौजूद कीटाणु खत्‍म हो जाएंगे। 
  2. दुकान में ट्राई किये गए कपड़े : बड़े स्टोर्स में कपड़े जो डिस्प्ले पर टंगे होते हैं, उन्हें हर कोई ट्राई करता है - ये देखने के लिए की सही हैं या नहीं, लेकिन हमें नहीं पता क‍ि उस कपड़े को कितने लोगो ने ट्राई किया होगा और उस समय उनकी सेहत कैसी होगी। तो आप जब भी नया कपड़ा खरीद कर लाएं तो उसे जरूर धो लें। इससे त्‍वचा पर इंफेक्‍शन खत्‍म हो जाएगी। 
  3. कपड़ों के कलर में केमिकल का इस्तेमाल : हर कपड़े में कई तरीके के केमि‍कल का इस्तमाल होता है और उसको अलग कलर में डाई किया जाता है, और ये सारे केमिकल हमारी बॉडी से टच होते हैं जो अलग-अलग तरीके की बीमारियां फैलाते हैं। और अगर उसी में पसीना आ जाए तो वो और इन्फेक्शन को फैला देता है। इसलिए हमें कपड़े पहनने से पहले धो लेने चाहिए।
  4. बच्चो के कपड़ों को अच्छे से धोना : कपड़ों को बिना धोए पहनने से कभी रैशेस भी हो जाते हैं जो बच्‍चों को बेहद परेशान कर सकते हैं। हालांकि कपड़े पहनने से पहले धोना एक गुड हाइजीन माना जाता है क्‍योंक‍ि नए कपड़े इतनी जल्दी हमारा पसीना नहीं सोख पाते। यही बच्चों के साथ है, उनका नया कपड़ा धोना जरूरी हो जाता है क्योंकि उनकी स्किन बड़ो से भी ज़्यादा सॉफ्ट होती है।  

तो अगली बार जब नया कपड़ा लेकर आएं, उसे पहनने से पहले एक द‍िन का ब्रेक लें ताक‍ि ये आपको क‍िसी तरह का नुकसान न पहुंचा सके। 

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर