Mother's Day 2022 Date: इस वर्ष कब मनाया जाएगा मदर्स डे, जानें क्यों मनाते हैं यह दिन और क्या है इसका इतिहास 

Mother's Day 2022 Date in India: पूरी दुनिया में मदर्स डे बहुत धूमधाम से मनाया जाता है। हर वर्ष मई महीने के दूसरे संडे पर इस दिन को खास तरीके से मनाते हैं। क्या आप जानते हैं इसकी शुरुआत कब हुई थी और इसका इतिहास क्या है। 

Mother's Day 2022 Date, Mother's Day History And Importance
Mother's Day (Pic: iStock) 
मुख्य बातें
  • पूरी दुनिया में मनाया जाता है मदर्स डे।
  • मई महीने के दूसरे संडे पर मनाया जाता है यह दिन।
  • जार्विस नाम की महिला ने की थी इस दिन की शुरुआत।

Mother's Day 2022 Date in India: इस दुनिया में सबसे अनमोल और पवित्र रिश्ता मां और बच्चे का माना गया है। बच्चे भले ही कितने भी बड़े क्यों ना हो जाएं लेकिन मां की ममता हमेशा अपने बच्चों पर बनी रहती है। जब एक महिला मां बनती है तब वह अपने बच्चे को ही अपनी दुनिया बना लेती है। वह बिना किसी स्वार्थ के और अपनी इच्छाओं को त्याग कर अपने बच्चे की जरूरतें पूरी करने में लगी रहती है। मां सिर्फ एक किरदार नहीं जो एक औरत अपनी जिंदगी में निभाती है, मां एक ऐसा एहसास है जिसे शब्दों में कभी बयां नहीं किया जा सकता। यूं तो हर बच्चा अपनी मां से बेइंतहा मोहब्बत करता है लेकिन एक खास दिन है जब हर कोई अपनी मां को स्पेशल फील करवाता है। और यह दिन मदर्स डे के नाम से जाना जाता है। इस दिन हर बच्चा अपनी मां को स्पेशल फील करवा कर यह बताता है कि मां उसके जीवन के लिए कितनी महत्वपूर्ण है और वह उनसे कितना प्यार करते हैं। यहां जानें इस वर्ष मदर्स डे कब मनाया जाएगा और इसका इतिहास क्या है।

Also Read: Onion Oil for Hair: गिरते-टूटते बालों से हैं परेशान तो लगाएं प्याज का तेल, हफ्तेभर में मिलेगा फायदा

वर्ष 2022 में कब है मदर्स डे?

मदर्स डे हर वर्ष मई महीने के दूसरे संडे के दिन मनाया जाता है। पूरी दुनिया में इसे धूमधाम से मनाया जाता है। इस वर्ष मई महीने का दूसरा संडे 8 तारीख को है। ऐसे में 8 मई 2022 के दिन मदर्स डे मनाया जाएगा। कई इतिहासकारों के अनुसार, मदर्स डे की औपचारिक शुरुआत 1914 से हुई थी। 

सबसे पहले किसने मनाया था मदर्स डे?

एना जार्विस नाम की एक अमेरिकी महिला ने मदर्स डे मनाने की शुरुआत की थी। एना के लिए उनकी मां ही उनकी आदर्श थीं। वह अपनी मां को बहुत मानती थीं। इसीलिए जब उनकी मां का निधन हो गया था तब उन्होंने अपनी जिंदगी अपने मां को समर्पित कर दी थी। अपने मां के निधन के बाद उन्होंने मदर्स डे की शुरुआत की थी। उन दिनों यूरोप में इस दिन को मदर्स डे नहीं बल्कि मदरिंग संडे कहा जाता था। 

Also Read: Hair Oil For Summer : गर्मी में भी बालों को रखें सिल्की और शाइनी, ये 5 हेयर ऑयल करें इस्तेमाल

मई महीने के दूसरी रविवार पर ही क्यों मनाया जाता है मदर्स डे?

कहा जाता है कि, 9 मई 1914 के दिन से अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति वुड्रो विल्सन ने मदर्स डे की शुरुआत की थी। जिसके बाद अमेरिकी संसद में यह कानून पास कर दिया गया था। जहां यह फैसला लिया कि हर वर्ष मई महीने के दूसरे रविवार के दिन मदर्स डे मनाया जाएगा। जिसके बाद यूरोप, भारत और अन्य देशों में भी इसे स्वीकृति मिली थी। 

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर